ताज़ा खबर
 

नोटबंदी में जिनकी जान चली गई उनकी याद में श्राद्ध का आयोजन करेगी कांग्रेस

8 नवंबर को जहां बीजेपी 'काला धन विरोध दिवस' मनाने जा रही है तो वहीं कांग्रेस विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी में है।
नोटबंदी में जिनकी जान चली गई उनकी याद में श्राद्ध का आयोजन करेगी कांग्रेस (प्रतीकात्मक फोटो)

नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर 8 नवंबर को जहां बीजेपी ‘काला धन विरोध दिवस’ मनाने जा रही है तो वहीं कांग्रेस विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी में है। कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि मुंबई के आजाद मैदान में नोटबंदी की बरसी के मौके पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इतना ही नहीं इस मौके पर नोटबंदी में जिन लोगों की जान चली गई थी, उनकी याद में श्राद्ध का आयोजन भी किया जाएगा।

निरुपम ने ट्वीट कर कहा, ‘कल नोटबंदी की बरसी पर मोर्चा-प्रदर्शन आजाद मैदान, सुबह 11 बजे श्रद्धांजलि सभा जुहू बीच पर शाम 8 बजे। दोनों जगह आएं, नोटबंदी के खिलाफ गरजें।’ दूसरा ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा, ‘और एक हाईलाइट नोटबंदी में जिनकी जान चली गई, उनकी याद में श्राद्ध का भी आयोजन है। आजाद मैदान पर।’ बता दें कि नोटबंदी के दौरान पुराने नोट बदलाने के लिए बैंकों के आगे लोगों की लंबी कतारें लगती थीं, उस वक्त कई लोगों की जान चली गई थी।

सोमवार को इस विरोध प्रदर्शन के बारे में जानकारी देते हुए संजय निरुपम ने संवातदाताओं से कहा, ‘नोटबंदी के दौरान पुराने 500 और हजार के नोटों को बदलाने के लिए लोग बैंकों के सामने लंबी कतार लगाकर खड़े रहते थे, इस दौरान करीब 115 लोगों की जान चली गई थी। नोटबंदी के फैसले के कारण देश के गरीब लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। हम उन लोगों को श्रद्धांजलि देंगे जिनकी इस दौरान जान चली गई।’ उन्होंने बताया कि कांग्रेस इस मौके पर जुहू बीच में एक रैली का आयोजन करेंगे, जहां एक श्रद्धांजलि सभा का भी आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘प्रदर्शन के दौरान यहां कुछ पार्टी कार्यकर्ता सिर का मुंडन भी कराएंगे।’

वहीं गुजरात में मंगलवार को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी नोटबंदी, जीएसटी और बुलैट ट्रेन को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा। सिंह ने कहा कि जीएसटी और नोटबंदी दोनों ही हमारी अर्थव्यवस्था के लिए बहुत खतरनाक कदम हैं। उन्होंने कहा कि इनकी वजह से हमारे छोटे निवेशकों की कमर टूट गई है। पूर्व पीएम ने भारतीय अर्थव्यवस्था और लोकतंत्र के लिए 8 नवंबर को ‘काला दिवस’ करार दिया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने जो संसद में कहा था, उसे मैं दोहराना चाहता हूं। यह एक सुनियोजित लूट और कानून डकैती थी।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S.s. Rawat
    Nov 8, 2017 at 1:47 am
    ये कांग्रेस दूसरों का श्राद क्या करेगी इसका खुद का श्राद का वक़्त नजदीक आता जा रहा है, इसीलिए तो कहते है, राख में ढेर में आग लगाने से क्या होगा ? टूटे दिल में दीया जलाने से क्या होगा ? ही श्राद बेहद नजदीक है अब तो दूसरे के श्राद में भोग लगाने से क्या होगा |
    (0)(1)
    Reply