ताज़ा खबर
 

”मैंने जेटली से पहले ही कहा था कि आप कश्‍मीर को आग लगाने जा रहे हैं, भारत की कमजोरी बना रहे हैं”

करीब 6-7 महीने पहले अरुण जेटली मुझसे मिलने आए। उनसे तब भी कहा कि आपकी सरकार कश्मीर के साथ दुर्व्यवहार कर रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व वित्‍त मंत्री अरुण जेटली। (Source: PTI)

कश्मीर में लगातार जारी हिंसा को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। रविवार (4 मई, 2017) को न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘एक महीने पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मेरी चेतावनी को नजरअंदाज किया। मैंने उनसे कहा कि केंद्र सरकार कश्मीर को आग लगाने की तरफ बढ़ रही है। करीब 6-7 महीने पहले अरुण जेटली मुझसे मिलने आए। उनसे उनसे तब भी कहा कि आपकी सरकार कश्मीर के साथ दुर्व्यवहार कर रही है। कश्मीर आग में जल रहा है।’ कांग्रेस उपाध्यक्ष ने आगे कहा कि अरुण जेटली ने मेरी बात नजरअंदाज करते हुए कहा कि कश्मीर में शांति हैं। लेकिन सच्चाई ये है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कश्मीर जल रहा है। केंद्र सरकार ने सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए कश्मीर का इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत की ताकत है लेकिन केंद्र सरकार इसे हमारी कमजोरी बना रही है।

जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष का बयान गृहमंत्री राजनाथ सिंह के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि अशांत कश्मीर का समधान किसी भी कीमत पर निकाला जाएगा और कश्मीर के बेहतर भविष्य के लिए आने वाली सभी बाधाओं को हटा दिया जाएगा। इस दौरान गृहमंत्री ने कहा कि हम कश्मीर समस्या का स्थाई समाधान निकालेंगे। दिल्ली में मीडिया को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि पहले की तुलना में कश्मीर की स्थिति में सुधार आया है। हम आश्वस्त कर सकते है कि कश्मीर की स्थिति सरकार के नियंत्रण में आ जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस भारतीय मुस्लिमों के बीच अपनी पकड़ बनाने में नाकामयाब रहा है।

सर्जिकल स्ट्राइक पर बात करते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बीते साल सितंबर में भारतीय सेना द्वारा सीमापार सर्जिकल स्ट्राइक किए जाने बाद से कश्मीर में घुसपैठ की कोशिशों में 45 फीसदी तक कमी आई है। मैं आपको आश्वस्त करना चाहता हूं हम पाकिस्तान द्वारा कश्मीर में पाले जा रहे आतंक को जड़ से खत्म कर देंगे और जम्मू-कश्मीर को एक शांत राज्य बनाएंगे।

देखें वीडियो, मोदी के नोटबंदी का असर, 7.1% रही सालाना विकास दर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Arvind
    Jun 4, 2017 at 11:35 pm
    He is destroying Congress and if get chance then this country too.
    (0)(0)
    Reply
    1. S
      suresh k
      Jun 4, 2017 at 10:29 pm
      कांग्रेस देशद्रोह पर उतारू है , विनाश काले विपरीत बुद्धि ,
      (0)(0)
      Reply
      1. शोम रतूड़ी
        Jun 4, 2017 at 5:52 pm
        इसे राजनैतिक बेशर्मी ही कहा जायेगा कि राहुल गाँधी कश्मीर के बारे में कह रहे कि यह सरकार कश्मीर की स्थिति बिगाड़ रही है,सच्चाई यह है कि अगर तत्कालीन सरकारों ने कश्मीर को तब आतंकवाद का गढ़ बनने दिया जब वहां हिन्दुओं को को मारा काटा जा रहा था,अगर तभी आतंकवादियों से सख्ती से नि ा होता तो आज यह हालत नही होती लेकिन वोट बैंक पॉलिटिक्स के चलते वहां के अल्पसंख्यकों का नरसंहार होने दिया गया. आज जब हालत कुछ सम्हलने को आ रहे हैं तब राहुल और कांग्रेस राजनीती करने के लिए कूद रहे हैं,जब हुर्रियत वालों पर शिकंजा कास रहा है तब इनके नेता उनसे मिलने और उन्हें मोरल सपोर्ट देने उनकी शरण में जा रहे हैं.जब पत्थरबाजों पर सुरक्षाबलों ने पेलेट गन का प्रयोग किया तो कोंग्रेस राजनीती पर उतर आई और सुरक्षाबलों का मनोबल तोड़ने लगे.इन्हें मानवाधिकार का ख्याल आ गया लेकिन वह तब नही आया जब कश्मीरी पंडितों का नरसंहार किया जा रहा था.इनके पूर्व मंत्री पाकिस्तान जा कर ायता मांगते हैं की इस सर्कार को हटाओ इतनी बेशर्मी !आज जब कांग्रेस डूबने की कगार में है तब उसका इस तरह का प्रलाप स्वाभाविक है.
        (0)(0)
        Reply
        1. विजय कुमार
          Jun 4, 2017 at 4:20 pm
          राहुल के परिवार के कारण अशांति है! एक परिवार की गलती देश भुक्त रहा है! मोदी ने तो अब शुदिकर्ण की शरुआत की है! वंदे मातरम्
          (0)(0)
          Reply
          1. S
            suresh k
            Jun 4, 2017 at 3:28 pm
            कभी आदमी नहीं हो सकता . लेकिन जनसत्ता को बाप बना रही है , उल्लुओ से पूछो आप सत्ता में थे तो शांति थी न ?
            (0)(0)
            Reply
            1. Load More Comments