ताज़ा खबर
 

सपा की इच्छा- गठबंधन का ऐलान करने लखनऊ आएं राहुल गांधी, नहीं आए तो अखिलेश भी नहीं करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस

सूत्रों के मुताबिक अगर एेसा होता है तो कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, राजबब्बर और समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ही गठबंधन का एेलान कर देंगे।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (बाएं) और राहुल गांधी।

कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के बीच अब तक सीट बंटवारे का ही मुद्दा नहीं सुलझा है कि दोनों पार्टियों के सामने एक नया मुद्दा खड़ा हो गया है। यह मुद्दा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ दिल्ली में मंच शेयर करेंगे या दिल्ली में। सूत्रों के मुताबिक समाजवादी पार्टी चाहती है कि अखिलेश के साथ राहुल गांधी गठबंधन का एेलान लखनऊ से करें, जबकि कांग्रेस आलाकमान इसकी घोषणा दिल्ली से चाहती है। सूत्रों ने यह भी बताया कि अखिलेश ने संकेत दिया है कि अगर राहुल इवेंट में नहीं आते तो वह भी गठबंधन का एेलान करने के लिए नहीं आएंगे।

सूत्रों के मुताबिक अगर एेसा होता है तो कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, राजबब्बर और समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ही गठबंधन का एेलान कर देंगे या फिर दोनों अपने-अपने उम्मीदवारों की अलग सूचियों का एेलान करेंगे।
यूं तो 73 सीटों वाले पश्चिमी उत्तरप्रदेश में पहले चरण के चुनाव के लिए उम्मीदवारी पत्र दाखिल करने के लिए सिर्फ 5 दिन शेष हैं, लेकिन अब तक दोनों पार्टियों की ओर से गठबंधन के एेलान के लिए किसी बड़े आयोजन का संकेत दिखाई नहीं पड़ रहा। पार्टी नेताओं ने कहा कि संयुक्त आयोजन के लिए फिलहाल तारीख, वक्त और जगह का फैसला नहीं हो पाया है। पार्टी के प्रवक्ता सत्यदेव त्रिपाठी ने कहा कि कांग्रेस की सेंट्रल इलेक्शन कमिटी की बैठक दिल्ली में उम्मीदवारों के आखिरी चयन के लिए हो रही है। उनके मुताबिक 21 जनवरी को दिल्ली से इसकी घोषणा की जा सकती है।

बता दें कि अखिलेश अब सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और उन्होंने सपा से निकाले गए अपने विश्वासपात्रों, जिनमें 5 एमएलसी भी शामिल थे का निष्काषन रद्द कर दिया है। उन्हें उत्तर प्रदेश के पूर्व सपा अध्यक्ष और अखिलेश के चाचा शिवपाल यादव ने निकाला था। इससे पहले अखिलेश और मुलायम सिंह यादव के बीच साइकिल के चुनावी निशान को लेकर भी घमासान हुआ था। दोनों गुटों ने अपना-अपना पक्ष चुनाव आयोग के सामने रखा था। लेकिन चुनाव आयोग ने अखिलेश यादव के गुट को साइकिल का निशान दिया था।

समाजवादी पार्टी विवाद पर मुलायम सिंह यादव बोले- “मैं पार्टी को टूटने नहीं दूंगा”, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग