ताज़ा खबर
 

जाकिर नाइक के राजीव गांधी फाउंडेशन को दिए डोनेशन पर जंग जारी, कांग्रेस ने NDA सरकार पर दागा सवाल

जाकिर नाइक के संगठन द्वारा राजीव गांधी फाउंडेशन को दिए गए 50 लाख रुपए की डोनेशन देने के मुद्दे पर बीजेपी के हमले का कांग्रेस ने जवाब दिया।
Author नई दिल्ली | September 10, 2016 20:51 pm
इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक। (Source: Twitter)

जाकिर नाइक के संगठन द्वारा राजीव गांधी फाउंडेशन को दिए गए 50 लाख रुपए की डोनेशन के मुद्दे पर बीजेपी के हमले का कांग्रेस ने जवाब दिया। कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेत मनु सिंघवी ने शनिवार को कहा कि सरकार को जनता को यह बताना चाहिए कि उस वक्त क्या एनजीओ किसी संदेह के घेरे में था? सिंघवी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए अब जाकिर नाइक के संगठन पर आरोप हैं, लेकिन उस हिसाब से 2014-2016 के बीच बांग्लादेश में धमाके हुए तो एनडीए सरकार ने खुद ही संगठन पर बैन क्यों नहीं लगा दिया। पैसे लौटाने के सवाल पर कांग्रेस नेता ने कहा कि 2 महीने पहले जैसे ही हमको पता चला कि राजीव गांधी फाउंडेशन ने अनुदान लिया था, हमने पैसे वापस कर दिए।

कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि यह बहुत दुख की बात है कि जो लोग सत्ता में हैं, वे संवेदनशील मुद्दों पर अपनी भूमिका नहीं निभा रहे हैं। बता दें कि शनिवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने डोनेशन के मामले में कांग्रेस को घेरते हुए कहा था कि जब 2012 में तत्कालीन सूचना मंत्री मनीष तिवारी ने जाकिर नाइक के चैनल पीस टीवी को राष्ट्र सुरक्षा के लिए खतरा बताया था तो कांग्रेस ने मिले पैसे को तब ही वापस क्यों नहीं किया। प्रसाद ने वहां पर कुछ कागजात भी दिखाए जिसमें मनीष तिवारी द्वारा 2012 में दिया गया एक जवाब था। उस जवाब में पीस टीवी सहित कुछ टीवी चैनलों को देश के लिए खतरा बताया गया था। उन्होंने कांग्रेस पर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से पैसा लेकर देश की सुरक्षा खतरे में डालने का आरोप लगाया था।

READ ALSO: जाकिर नाईक ने लिखा खुला खत, कहा- मेरे ऊपर हमला भारतीय मुसलमानों के खिलाफ

यह विवाद इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (IRF) के एक बयान के बाद खड़ा हुआ है। शुक्रवार (9 सितंबर) को IRF ने बताया था कि उसने राजीव गांधी फाउंडेशन (RGF) को 50 लाख रुपए की डोनेशन दी थी। यह डोनेशन 2011 में दी गई थी। वहीं अपने बचाव में RGF का कहना है कि पैसा उन्हें नहीं बल्कि उनके साथी संगठन राजीव गांधी चैरीटेबल ट्रस्ट (RGCT) को दिया गया था। इसके साथ ही RGF ने यह भी कहा है कि वह पैसा कुछ महीने पहले ही लौटा भी दिया गया था। वहीं IRF अपनी बात पर अब भी कायम है कि उसने पैसे RGF को ही दिए थे और वह किसी चैरेटेबल ट्रस्ट के लिए नहीं थे। IRF का यह भी कहना है कि उन्हें पैसे अबतक वापस भी नहीं मिले हैं।

READ ALSO: जाकिर नाइक पर घिरी कांग्रेस, BJP ने पूछा- मनीष तिवारी ने पीस टीवी को देश के लिए खतरा बताया था तो 50 लाख वापस क्यों नहीं किए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग