ताज़ा खबर
 

कांग्रेस ने कुलकर्णी पर कालिख पोतने की निंदा की, शिवसेना को बताया ‘देसी तालिबान’

शिवसेना को ‘‘देसी तालिबान’’ करार देते हुए कांग्रेस ने सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर कालिख पोते जाने की निंदा की और पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक के विमोचन...
Author नई दिल्ली | October 12, 2015 18:37 pm

शिवसेना को ‘‘देसी तालिबान’’ करार देते हुए कांग्रेस ने सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर कालिख पोते जाने की निंदा की और पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक के विमोचन समारोह के आयोजन की हिमायत।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर कहा, ‘‘कसूरी की पुस्तक का विमोचन कार्यक्रम आयोजित होना चाहिए और सभी उदारवादियों को, जो इस तरह की गुंडागर्दी के खिलाफ हैं, पुस्तक विमोचन कार्यक्रम के समर्थन में आगे आना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत में इस तरह की असहिष्णुता बर्दाश्त नहीं की जा सकती। पहले गुलाम अली का समारोह और अब कसूरी की पुस्तक का विमोचन (का विरोध), हम भारत में देसी तालिबान नहीं चाहते।’’

सिंह ने शिव सैनिकों द्वारा सुधींद्र कुलकर्णी पर हमले की कड़ी निंदा की और कहा कि उद्भव ठाकरे को अपने ‘‘गुंडों’’ को नियंत्रित करना चाहिए।

कांग्रेस ब्रीफिंग में पार्टी प्रवक्ता टाम वडक्कन ने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने जहां कसूरी की भारत यात्रा को स्वीकृति दी, वहीं उसका सहयोगी दल उनका रास्ता रोक रहा है।

शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने आज कुलकर्णी के चेहरे पर काले रंग का पेंट लगा दिया था। कुलकर्णी थिंकटैंक ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के अध्यक्ष हैं और उन्हें पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक का विमोचन समारोह मुंबई में आयोजित करने के लिए निशाना बनाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग