ताज़ा खबर
 

आप और दिल्ली महिला आयोग का एक दूसरे पर आरोप

दिल्ली महिला आयोग आज उस समय आप के निशाने पर आ गया जब उसने यहां उच्च न्यायालय में कहा कि कुमार विश्वास के खिलाफ कार्यवाही को बंद कर दिया गया
Author July 1, 2015 17:59 pm
दिल्ली महिला आयोग आज उस समय आप के निशाने पर आ गया जब उसने यहां उच्च न्यायालय में कहा कि कुमार विश्वास के खिलाफ कार्यवाही को बंद कर दिया गया है हालांकि निकाय ने जोर देते हुए कहा कि उसने मामले को ‘‘खत्म’’ नहीं किया है और विश्वास द्वारा समन का जवाब नहीं देने के बाद यह मामला पुलिस को सौंप दिया गया।
दिल्ली महिला आयोग आज उस समय आप के निशाने पर आ गया जब उसने यहां उच्च न्यायालय में कहा कि कुमार विश्वास के खिलाफ कार्यवाही को बंद कर दिया गया है हालांकि निकाय ने जोर देते हुए कहा कि उसने मामले को ‘‘खत्म’’ नहीं किया है और विश्वास द्वारा समन का जवाब नहीं देने के बाद यह मामला पुलिस को सौंप दिया गया।
मालवीय नगर से विधायक और मामले में विश्वास के वकील सोमनाथ भारती ने ट्वीट किया, ‘‘ संभवत: उच्च न्यायालय में शर्मनाक स्थिति की आशंका से महिला आयोग ने अदालत को सूचित किया कि उन्होेंने डा विश्वास के खिलाफ कार्यवाही को बंद कर दिया है।’’
 दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष बरखा शुक्ला सिंह ने इसका खंडन किया कि आयोग ने एक आप कार्यकर्ता के साथ अवैध संबंधों को लेकर ‘‘अफवाहों’’ का विश्वास द्वारा खंडन नहीं किए जाने को लेकर लगाए गए आरोपों पर उनके खिलाफ मामले को बंद कर दिया है। सिंह का कार्यकाल 18 जुलाई को समाप्त हो रहा है।
महिला आयोग में एक अधिकारी ने पीटीआई भाषा को बताया कि दो बार समन जारी किए जाने के बाद विश्वास के आयोग के समक्ष पेश नहीं होने पर हमने यह मामला पुलिस को सौंप दिया और हम इस मामले में आगे की कार्रवाई के लिए सक्षम प्राधिकार नहीं हैं।
उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार, दिल्ली महिला आयोग उसके वहील द्वारा अदालत में दी गयी मौखिक दलीलों के संबंध में दो हफ्तों के अंदर एक विस्तृत रिपोर्ट सौंपेगा।
 महिला आयोग द्वारा अदालत में दलील पेश किए जाने के कुछ देर बाद ही आप नेताओं ने सिंह पर निशाना साधा और विश्वास की छवि खराब करने का आरोप लगाया।
 लेकिन सिंह ने कहा कि आप लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग