December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं का खर्च होगा सार्वजनिक! सीआईसी ने पीएमओ से मांगी फाइलें

प्रधानमंत्री की वेबसाइट पर 13 सितंबर 2016 तक दिखाया गया था कि प्रधानमंत्री द्वारा 15 जून 2014 से 8 सितंबर 2016 तक की अवधि में जो यात्राएं की गयी।

Author नई दिल्ली | October 28, 2016 21:24 pm
हांगझोउ (चीन) में जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। PTI Photo by Vijay Verma/4 सितंबर 2016/File)

केन्द्रीय सूचना आयोग ने प्रधानमंत्री कार्यालय से प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं से सम्बन्धित एक प्रतिनिधि फाइल मांगी है। इससे पहले इस शीर्ष कार्यालय ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए इन दस्तावेजों का एक आरटीआई आवेदन के जवाब में खुलासा करने से इंकार कर दिया था। कोमोडोर (सेवानिवृत्त) लोकेश बत्रा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके पूर्ववर्तियों की विदेश यात्राओं पर हुए खर्च की जानकारी मांगी थी। इस पर विदेश मंत्रालय ने आरटीआई कानून के सुरक्षा एवं वैयक्तिक सुरक्षा के प्रावधानों का हवाला देते हुए सूचनाएं देने से इंकार कर दिया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने व्यक्तिगत सुरक्षा का हवाला देते हुए सूचना देने से इंकार कर दिया था। मुख्य सूचना आयुक्त राधाकृष्ण माथुर ने पीएमओ को निर्देश दिया है कि फाइलों पर गौर कर यह आकलन किया जाए कि रिकॉर्ड में क्या कोई सुरक्षा चिंताएं हैं जिसके आधार सूचना देने से मना किया जा सकता है।

माथुर ने कहा, ‘आयोग ने पाया कि फाइलों पर गौर किए बिना वह यह तय नहीं कर सकता कि मांगी गयी सूचना में सुरक्षा संबंधित सूचना है या नहीं।’ आयोग ने मंत्रालय को यह निर्देश दिया कि वह एक ऐसी प्रतिनिधि फाइल उसके समक्ष पेश करे। बत्रा ने आयोग के समक्ष कहा कि इस मामले में पर्याप्त जनहित शामिल है क्योंकि एयर इंडिया को दी जा रही पुनरुद्धार राशि, जो करोड़ों रुपए बतायी जाती है, करदाताओं की राशि है। उन्होंने वर्तमान एवं पूर्व प्रधानमंत्री की एयर इंडिया के उड़ानों पर की गयी वायु यात्रा पर हुए व्यय का ब्यौरा मांगा था। उन्होंने आयोग को बताया कि प्रधानमंत्री की वेबसाइट पर 13 सितंबर 2016 तक दिखाया गया था कि प्रधानमंत्री द्वारा 15 जून 2014 से 8 सितंबर 2016 तक की अवधि में जो यात्राएं की गयी उनमें बिल भुगतान की प्रक्रिया में हैं या भुगतान प्राप्त नहीं किए गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 28, 2016 9:14 pm

सबरंग