ताज़ा खबर
 

रामदेव का आह्वान- चीनी सामान का इस्तेमाल न करें राष्ट्रवादी, दीवाली पर 30% तक डाउन हो सकती है सेल

कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) की ओर से बताया गया है कि इस बार चाइनीज सामानों के बिक्री में पिछले साल के मुकाबले 30 पर्सेंट तक गिरावट आने की उम्मीद है।
Author नई दिल्ली | October 17, 2016 12:54 pm
योग गुरु बाबा रामदेव।

चीनी कंपनियों को इस दीवाली भारत की ओर से तगड़ा झटका लग सकता है। कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) की ओर से बताया गया है कि इस बार चाइनीज सामानों के बिक्री में पिछले साल के मुकाबले 30 पर्सेंट तक गिरावट आने की उम्मीद है। CAIT की ओर से यह आंकड़ा विभिन्न राज्यों से प्राप्त रिपोर्टों के आधार पर दिया गया है। ट्रेडर्स बॉडी CAIT ने बताया कि विभिन्न राज्यों के बाजारों से प्राप्त हो रहे संकेतों के आधार पर उम्मीद की जा रही है इस दीवाली पर चाइनीज उत्पादों की खपत में पिछले साल की तुलना में 30 पर्सेंट की गिरावट आएगी। संगठन ने कहा कि यह चीन और अन्य देशों के लिए प्रबल संकेत है कि चाइनीज के उत्पादों को लेकर भारत गंभीर है। वहीं, योगगुरु रामदेव ने भी चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करने की अपील की है।

संगठन की ओर से जारी स्टेटमेंट में कहा गया कि सोशल मीडिया ने एक बार फिर अपनी ताकत का एहसास कराया है। सोशल मीडियो पर लगातार लोगों से चाइनीज आइटमों का बायकॉट करने की अपील की जा रही थी। साथ ही स्पष्ट किया गया है कि इस स्टेज पर चाइनीज प्रोडेक्ट को नकारने से चीन पर तब तक कोई फर्क नहीं पड़ेगा जब तक कि यह प्रक्रिया हर सीजन में नहीं अपनाई जाएगी। इस तरह के सामान 2-3 महीने पहले ही देश में आ जाते हैं। फिलहाल चाइनीज स्टॉक्स पूरे देश में बिकने के लिए और हमारे देशवासियों और ट्रेडर्स का नुकसान करने के लिए तैयार हैं। हालांकि CAIT ने स्पष्ट किया है कि अगर लोगों की भावनाएं मजबूत हैं तो उन्हें सामने आना चाहिए और अपना स्पष्ट रूप से रखना चाहिए। यह कंज्यूमर आधारित मार्केट है। इसका नतीजा यह होगा कि क्रिसमस और नए साल पर चीन से आने वाले सामानों के आयात में गिरावट आएगी।

वीडियो: चीनी कंपनियों द्वारा निर्माण करने के लिए भारत का रुख करने के पर चीन में बेरोज़गारी का खतरा

बाबा रामदेव ने किया बहिष्कार का आह्वान

चाइनीज सामानों को लेकर योगगुरु बाबा रामदेव ने भी कड़ी प्रतिक्रिया जताई है। बाबा रामदेव ने ट्विटर पर लिखा- चीन ने हमेशा हमें धोखा दिया है। ऐसे में चीनी सामान खरीदना दुश्मन की मदद करना है। हर राष्ट्रवादी भारतीय को चाइनीज प्रोडेक्ट्स का बहिष्कार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे देश को चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करना चाहिए तभी चीन कंट्रोल में आएगा वरना चीन जितना ज्यादा तकातवर होता जाएगा, भारत के लिए खतरा उतना बढ़ता जाएगा।

READ ALSO: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और नेपाल के प्रधानमंत्री प्रचंड की मीटिंग में अचानक पहुंच गए पीएम मोदी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 17, 2016 12:39 pm

  1. No Comments.