March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

चीफ इमाम ने कहा- आतंकियों के जनाजे की ना नमाज पढ़ें और ना दफनाने को दें जमीन

ऑल इंडिया इमाम ऑर्गेनाइजेशन के चीफ इमाम उमर अहमद इलियासी का कहना है कि किसी भी इमाम को भारतीय सेना द्वारा मारे गए आतंकी के लिए आखिरी नमाज नहीं पढ़नी चाहिए।

Author नई दिल्‍ली | October 2, 2016 14:14 pm
ऑल इंडिया इमाम ऑर्गेनाइजेशन के चीफ इमाम उमर अहमद इलियासी का कहना है कि किसी भी इमाम को भारतीय सेना द्वारा मारे गए आतंकी के लिए आखिरी नमाज नहीं पढ़नी चाहिए

ऑल इंडिया इमाम ऑर्गेनाइजेशन के चीफ इमाम उमर अहमद इलियासी का कहना है कि किसी भी इमाम को भारतीय सेना द्वारा मारे गए आतंकी के लिए आखिरी नमाज नहीं पढ़नी चाहिए। उन्‍होंने साथ ही कहा कि आतंकियों को दफनाने के लिए जमीन भी नहीं देनी चाहिए। इलियासी ने भारतीय सेना के पाक अधिकृत कश्‍मीर में सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद यह बयान दिया। उन्‍होंने लुधियाना में कहा कि सेना के जवानों ने पीओके में घुसकर और आतंकी ठिकानों को तबाह कर साहसी कार्य किया है। इलियासी ने कहा, ”खबरों के अनुसार इस स्‍ट्राइक के दौरान कई आतंकी मारे गए। हमारी सेना की ओर से उठाए गए इस कदम का हम स्‍वागत करते हैं।” मौलाना इलियासी ने सरकार से मांग की है कि पाकिस्तान के साथ कारोबार, बस सेवा, रेल सेवा और अन्य सभी काम बंद कर देने चाहिए। पाकिस्तान दोस्ती के काबिल ही नहीं है।

PoK में सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद सीमा के करीब बसे गांवों को खाली कराया गया, देखें वीडियो:

इलियासी ने कहा, ”आतंकवादी हमारे देश के दुश्‍मन हैं और उनसे ऐसा ही व्‍यवहार किया जाना चाहिए। इस्‍लामिक परंपरा के अनुसार उनके लिए नमाज पढ़कर उनके साथ मुसलमानों सा व्‍यवहार नहीं किया जाना चा‍हिए। इस मौके पर हम भारतीय एकजुट हैं और पाकिस्‍तान की घटिया नीतियों का जवाब देने को तैयार हैं। मैं भारत की सभी मस्जिदों के इमामों से अपील करता हूं कि वे आतंकियों के लिए नमाज ए जनाजा ना पढ़ें।” उन्‍होंने लुधियाना जामा मस्जिद के शाही इमाम हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी से भी मुलाकात की। लुधियानवी ने कहा, ”हमें भारतीय सेना पर गर्व होना चाहिए। पाकिस्‍तान को समझ लेना चाहिए कि कश्‍मीर भारत का अखंड हिस्‍सा है और उन्‍हें इसका ख्‍वाब नहीं देखना चाहिए।” शाही इमाम ने कहा कि केंद्र सरकार को चाहिए कि जिंदा पड़के गए आतंकवादी उस पर मुकदमा चलाने की बजाय उसे चौराहे पर फांसी दे

पाकिस्तान के कब्जे से जवान चंदू बाबूलाल को वापस लाने के लिए सेना का तंत्र सक्रिय

गौरतलब है कि भारतीय सेना की ओर से पाक अधिकृत कश्‍मीर में आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्‍ट्राइक की गई। इसमें बड़ी संख्‍या में आतंकी मारे गए साथ ही उन्‍हें बड़ा नुकसान भी हुआ। डीजीएमओ ने बताया कि इस कार्रवाई में भारतीय सेना को कोई नुकसान नहीं हुआ।

PoK में आईएसआई और सेना के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग, “ISI से ज्यादा वफादार कुत्ते” के लगे नारे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 2, 2016 2:14 pm

  1. B
    bitterhoney
    Oct 2, 2016 at 1:54 pm
    Ilyasi ji ki jai ho. Ilyasi ji pakke bhartiya hein inki rag rag mein inke hindu poorvajon ka rakt pravah kar raha hai. thoda prayas kiya jaye to yah ghar wapsi kar sakte hein.
    Reply
    1. J
      Jagdish saxena
      Oct 4, 2016 at 10:53 am
      इनके चेहरे पर अफ़सोस दुःख कतई नजर नही आ रहा है बल्कि बदले की भावना साफ इनके चेहरे पर झलक रही है, ये विश्वाश के पात्र नही है इन सभी से सावधान रहना बहुत जरुरी है
      Reply
      1. J
        Jagdish saxena
        Oct 4, 2016 at 4:09 am
        Crocodile tears adhering to the adage that "these people when they say Hajmola more.Think Viswash Krlo all these foolish to believe the idol Allah fearing they had also been ordered to kill, these logos beware of the better
        Reply
        1. J
          Jagdish saxena
          Oct 4, 2016 at 4:08 am
          घड़ियाली आंसू वाली कहावत को चरितार्थ करते है ये" ये लोग है जब फटती है तो कहते है हाजमोला सभी पर विस्वाश करलो पर इन पर यकीन करना सबसे बड़ी ी होगी मूर्ति पूजने वाले को भी इनके अल्ला ने मारने का हुक्म कर दिया है, इन लोगो से सावधान रहना ही बेहतर होगा
          Reply

          सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

          सबरंग