ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी सरकार का नया प्लान, फिटनेस के आधार पर होगा IPS अफसरों का प्रमोशन!

पुलिस अफसरों के प्रमोशन के लिए जल्द ही एक नया नियम लाया जा सकता है।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (फाइल)

पुलिस अफसरों के प्रमोशन के लिए जल्द ही एक नया नियम  लाया जा सकता है। इसके मुताबिक पुलिस अफसरों/कर्मचारियों के प्रमोशन के दौरान उनके फिटनेस लेवल को भी आधार बनाया जाएगा। पुलिस फोर्स को फिट रखने के लिए केंद्र सरकार यह फैसला लेने का विचार कर रही है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने कहा है कि फिटनेस लेवल को प्राथमिक्ता देने के लिए इस संबंध में सभी विभागों को सर्कुलर जारी कर दिया गया है। सभी राज्य और केंद्र साशित प्रदेशों को प्रशिक्षण विभागों द्वारा यह निर्देश जारी किए गए हैं।राज्यों से 3 जुलाई तक इसे लेकर राय भी मांगी गई थी।

बता दें प्रमोशन में फिटनेस लेवल का सिस्टम कई अर्धसैनिक बलों के लिए भी फॉलो किया जाता है। अफसरों की साइकोलॉजिकल हेल्थ, सुनने की क्षमता, आंखों की रोशनी, शारीरिक क्षमताओं समेत, फिटनेस के कई जरूरी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए प्रमोशन दिया जाता है। डिपार्मेंट ऑफ पर्सनल एंड ट्रेनिंग (DoPT) ने 21 जून को यह नोटिफिकेश जारी किया था। गृह मंत्रालय ने सिफारिश की है कि आईपीएस अधिकारियों के लिए विभिन्न पदों पर प्रमोशन देने से पहले अफसरों की फिटनेस को जरूर ध्यान में रखा जाए। आईपीएस पे रूल 3 में यह बदलाव करने का प्रस्ताव दिए गए हैं। नया प्रस्ताव पुलिस प्रशासन को चुस्त रखने के लिए लिया गया है।

खबर के मुताबिक एक आईपीएस अफसर ने कहा, “एक आईपीएस अफसर का फिट होना बहुत जरूरी है। फील्ड ऑपरेशन्स संभालने के लिए और कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए उसे हर तरह की परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए।” DoPT ने प्रस्ताव में यह भी कहा है कि डीआईजी, आईजी और एडीएम रैंक पर प्रमोशन के लिए आईपीएस अफसर को कम से कम एक हफ्ते का एक एक्सपर्ट ट्रेनिंग प्रोग्राम पूरा करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग