ताज़ा खबर
 

केंद्र सरकार ने अनुकंपा पर नौकरी देने से जुड़ा एक नियम बदला, लोगों को होगा बड़ा फायदा

जो लोग 2013 से 2015 के बीच पुराने नियम की वजह से अनुकंपा पर नौकरी नहीं पा सके थे उनके आवेदन पर दोबारा विचार किया जा सकता है।
प्रतीकात्मक तस्वीर

केंद्र सरकार ने सरकारी नौकरियों में अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति देने के कानून में एक बड़ा बदलाव किया है। किसी सरकारी कर्मचारी के असमय निधन या किसी चिकित्सकीय वजह से 55 साल से कम उम्र में रिटायर हो जाने की स्थिति में उसके एक आश्रित को उसकी जगह नौकरी देना का प्रावधान है। अभी तक अनुकंपा के तौर पर केवल पत्नी या अविवाहित पुत्र-पुत्री को ही नौकरी मिल सकती थी। केंद्र सरकार द्वारा किए गए बदलाव के बाद अब विवाहित पुत्र को आश्रित के तौर पर नौकरी मिल सकती है। कार्मिक मंत्रालय ने मंगलवार को इस संदर्भ में आदेश जारी करके हुए सूचित किया कि अनुकंपा पर नौकरी पाने से जुड़े बाकी नियम पहले जैसे ही रहेंगे। अनुकंपा पर नौकरी पाने के लिए परिवार का मृतक पर या समय-पूर्व सेवानिवृत्त व्यक्ति पर पूरी तरह आश्रित होना जरूरी है।

मंत्रालय के आदेश के अनुसार जो लोग 2013 से 2015 के बीच पुराने नियम की वजह से अनुकंपा पर नौकरी नहीं पा सके थे उनके आवदेन पर सरकार फिर से विचार कर सकती है। जनवरी 2013 में सरकार ने अनुकंपा पर नौकरी पाने से जुड़े कानून में बदलाव किया था। उसके बाद मंत्रालय की वेबसाइट पर अनुकंपा से जुड़े एक प्रश्न के उत्तर में कहा गया था कि विवाहित पुत्र को अनुकंपा पर नौकरी नहीं दी जा सकती। हालांकि मंत्रालय के जवाब में ये भी स्पष्ट किया गया था कि विवाहित पुत्री को पूरी तरह आश्रित होने की स्थिति में अनुकंपा पर नौकरी दी जा सकती है, बशर्ते वो परिवार के अन्य सदस्यों का भी भरण-पोषण करे। सरकार ने फरवरी 2015 में अपना निर्णय बदला और कहा कि विवाहित पुत्र भी विवाहित पुत्री के लिए लागू शर्तों को पूरा करने की सूरत में अनुकंपा पर नौकरी पा सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. P
    parmod
    Sep 14, 2017 at 1:35 pm
    sir, mere papa coal ministry delhi job karte the .mere papa ki death 9/3/2015 hue thi.deparment ne upto six month mein job dene k liye bola fir bad mein no vacancy k bol diya but ab koi baat kar nhi khush or jab ki wnha p ek or boy ka papa ki death hue thi june 2014 mein but usko to 2015 mein dec mein mile gye becoz us k chacha ji wnhi deparment mein the .sir ager deparment mein apply karna koi office adders bta di jiye. plz help me sir thank you mobile no.८०५३७६११६० email:- goravdhaniya1234
    (0)(0)
    Reply
    1. M
      mukesh ahirwar
      Sep 8, 2017 at 8:39 am
      mere pita ji shre raghuveer baiju track machin dipo kalyan c.relway mumbai me technician 1 ke post par the 15/05/2016 ko unka dehant ho gaya hai mere parivar mai sirf mai hi clss 8 vi tak padha hun main bilkul berojgaar hun mere gown me koi rojgar nahi hai kya mujhe relway me anukampa ke adhar par noukari milsakti hai
      (2)(0)
      Reply
      1. A
        Ashok kumar
        Aug 22, 2017 at 12:46 am
        अनुकम्पा नियुक्ति के बाबत मै अशोक कुमार लखारा स्व श्री नेनाराम लखारा सियाणा जालोर मै सियाणा पोस्ट आफिस मे GDS MC पद पर काये करते थे मेरे पिताजी जी की मौत 16/4/2014 को हुई ती अभी तक मुझे अनुकम्पा नियुक्ति पर नही लगाया मै सिरोही जाता हु तो वो कहते है की 10 पास होने के बाद अभी तक मेरे साथ ममी है हमारा ख चार्ज पुरा नही हो पात मुझे जल्दी अनुकम्पा नियुक्ति पर लगाने (7742692067)
        (2)(0)
        Reply
        1. A
          Ashok kumar
          Aug 22, 2017 at 12:33 am
          अनुकम्पा नियुक्ति दिलाने के बाबत
          (1)(0)
          Reply
          1. A
            anil singh rawat
            Jul 12, 2017 at 12:56 pm
            हेलो सर मेरा नाम anil singh रावत है सर मेरे पिताजी hariyana बिजली विभाग में नौकरी करते थे | सर नौकरी के दौरान ही kaam करते हुए उन्हें करेंट लगा जिस कारन से उनकी डेथ हो गयी सर उनकी डेथ २००९ में हुई थी हमने नौकरी के लिए पता किया तो डिपार्टमेंट ने ये कहे के मना किया की अब ये नियम नहीं हे तो सर क्या हम अभी भी anukampa के adhar पर अप्लाई कर सकते हे | प्लीज सर उचित shakha दे. धन्यवाद सर अनिल सिंह uttrakhand मोब. 09012698924
            (0)(0)
            Reply
            1. D
              Devendra goyal
              Apr 4, 2017 at 10:06 pm
              कि मेरे पिता स्व. श्री कंवरलाल गोयल पुत्र स्व. श्री मोतीराम जी कृषि मंत्रालय भारत सरकार टिड्डी मण्डल कार्यालय फलोदी जिला जोधपुर राजस्थान में एम.टी.एस के पद पर कार्यरत थे। इनका स्वर्गवास दिनांक 31.12.2012 को कैंसर की वजह से सेवारत रहते हुए हो गया था। मे एक मात्र पुत्र देवेन्द्र गोयल जो कि 10 वीं उतीर्ण हु। अनुकम्पा नियुक्ति हेतु निर्धारित प्रपत्र टिड्डी मण्डल कार्यालय फलोदी जिला जोधपुर में आवेदन किया गया था। इस संदर्भ में विभाग के पत्राक. F.NO.1-10 (29) 2012 Adm-131dt 06.01.2014 .द्वारा वनस्पति रक्षा सलाहकार भारत सरकार एवं रक्षा संगरोध एवं संग्रह निदेशालय फरीदाबाद हरियाणा को प्रेषित किये गये थे। स्व. श्री कंवरलाल गोयल के छः पुत्रिया व एक मात्र पुत्र है। मेरे परिवार का सम्पूर्ण खर्चा मेरी पेंशन से बड़ी मुशिकल से चल रहा है। व आपको पता होगा कि परिवार बड़ा होने के कारण गुजारा कैसे चलता होगा मे 5 सालो से विभाग व नेताओ को अनुकम्पा नियुक्ति दिलाने 150 पत्र लिखे पर आज दिनांक तक कार्यालय स्तर पर मेरे को अनुकम्पा नियुक्ति नही मिली है देवेन्द्र गोयल गांव शेरगढ जिला जोधपुर राजस्थान m.09828967407
              (0)(0)
              Reply
              1. संतभान सिंह
                Jan 31, 2017 at 3:09 am
                सर मेरे पिता बीएसएनएल मे कार्यरत थे उनका निधन १९ /१२/१६ को होगया है और मै आभि १७ बर्ष का हू आवेदन कर सकता हू या नही
                (0)(1)
                Reply
                1. Shııvanıı Arya
                  Apr 4, 2017 at 10:30 pm
                  आप अभी नाबिलग हैं। अनुकम्पा के आधार पर नियुक्ति हेतु न्यूनतम आयु 18 होनी चाहिऐ।
                  (0)(0)
                  Reply
                2. Sidheswar Misra
                  Sep 7, 2016 at 5:31 am
                  इस नियम में बेटियो को क्यों बाहर किया गया है . जिस कर्मचारी के केवल बेटी हो वह विवाहित हो ,कर्मचारी की पत्नी नोकरी नहीं करना चाहती इस परिस्थित में शादी शुदा बेटी को नोकरी मिलने का प्रवधान होना चाहिए . क्या है बेटी बचाव इसे ही कहते है केवल नारा हक़ में बेटा बेटी में भेद ?
                  (1)(0)
                  Reply
                  1. P
                    Pranao H
                    Sep 7, 2016 at 7:23 am
                    ये अनुकम्पा है. कोई खैरात नहीं. विवाहित कन्या का परिवार दूसरा होता है और उस परिवार का मुखिया कोई और होता है. अनुकंपा में केवल व्यथित/पीड़ित परिवार को ही मदत की जाती है.
                    (1)(0)
                    Reply
                    1. b
                      bhupendraindian@rediffmail.com
                      Mar 27, 2017 at 10:49 pm
                      TO US BUDDI MAA KO LADKA PAIDA KARKE RAKHNA CHAHIYE KYA JISKA PATI AUR BEA BHI MAR JAYE AUR PENSION BHI 1500 RS AAYE ?
                      (1)(0)
                  2. Load More Comments