ताज़ा खबर
 

लालू यादव के ठिकानों पर पड़ा सीबीआई छापा, भाजपा नेता ने नीतीश कुमार को ललकारा

इस बीच कई राजद नेताओं ने सीबीआई की कार्रवाई को राजनीति से जुड़ा हुआ बताया। बिहार में सीबीआई की छापेमारी के बाद कई नेता लालू यादव के आवास पहुंचे।
बिहार में सीबीआई की छापेमारी के बाद कई राजद नेता लालू यादव के आवास पहुंचे। (File Photo)

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। चारा घोटाले के बाद लालू यादव रेलवे टेंडर घोटाले में घिर गए हैं। इसको लेकर सीबीआई की टीम उनके 12 ठिकानों पर छापेमारी की। कई जगहों पर अभी भी तलाशी जारी है। इसमें पटना के अलावा दिल्ली, रांची, पुरी, गुड़गांव समेत कई अन्य ठिकानों पर छापेमारी जारी है। सीबीआई ने लालू यादव के खिलाफ केस दर्ज किया है कि उन्होंने रेल मंत्री रहते हुए होटल आवंटन में गड़बड़ी की थी। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बिहार के उप मुख्यमंत्री और उनके बेटे तेजस्वी यादव, आईआरसीटीसी के तत्कालीन एमडी पी के गोयल, यादव के विश्वासपात्र प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सुजाता और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

वहीं लालू यादव के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी को लेकर भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि कानून अपना काम कर रहा है। उन्होंने जैसा किया है ये उसी का परिणाम है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर नीतीश कुमार को भी मीडिया के सामने आना चाहिए। वे मूक दर्शक बने नहीं रह सकते। उन्हें सबके सामने अपना पक्ष स्पष्ट करना होगा।

इस बीच कई राजद नेताओं ने सीबीआई की कार्रवाई को राजनीति से जुड़ा हुआ बताया। बिहार में सीबीआई की छापेमारी के बाद कई नेता लालू यादव के आवास पहुंचे। राजद नेता मनोज झा ने आज के दिन को लोकतंत्र के लिए सबसे काला दिन बताया। उन्होंने कहा, ”केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी की सरकार विरोधी दलों को साधने के लिए सीबीआई का दुरुपयोग कर रही है।” झा ने कहा, ‘केंद्र कुछ भी कर ले। हम झुकनेवाले नहीं हैं। हम राजनीतिक और कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। पूरी मजबूती के साथ लड़ेंगे।’

बता दें कि 2006 में रेल मंत्री रहते लालू यादव ने रांची और पुरी के बीएनआर होटलों के रखरखाव के लिए प्राइवेट कंपनियों को टेंडर दिया था। यह टेंडर निजी सुजाता होटेल्स को दी गई थीं। बीएनआर होटल रेलवे के हैरिटेज होटल हैं जिन्हें उसी साल (2006 में) आईआरसीटीसी ने अपने नियंत्रण में ले लिया था। केस दर्ज किए जाने के बाद दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम सहित 12 स्थानों पर छापेमारी की गई है।

उल्लेखनीय है कि लालू यादव और उनका परिवार बेनामी संपत्ति के मामले में पहले से ही घिरा हुआ है। उनके परिवार पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए बेनामी संपत्ति अर्जित करने का आरोप है। इस मामले में उनकी बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार पर भी आरोप लग रहे हैं। हालांकि लालू यादव का आरोप है कि यह सब केंद्र सरकार की साजिश है।

देखिए वीडियो - लालू यादव पर रेल मंत्री रहते हुए गड़बड़ी का आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग