ताज़ा खबर
 

1947 की CID रिपोर्ट के हवाले से दावा-RSS चीफ गोलवलकर ने दी थी गांधी को ‘खामोश करने’ की धमकी

पुलिस रिपोर्ट में आरएसएस की उस मीटिंग की जानकारी दर्ज है, जहां यह धमकी दी गई। सीआईडी की यह रिपोर्ट सूत्रों के आधार पर है।
Author नई दिल्‍ली | July 27, 2016 17:40 pm
रिपोर्ट के मुताबिक, ‘गोलवलकर ने कहा कि हमें शिवाजी के तौर तरीकों की तरह ही गुरिल्‍ला युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए।’

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी के एक बयान के लिए उनको कड़ी नसीहत दी थी। राहुल ने कथित तौर पर राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ को गांधी की हत्‍या के लिए जिम्‍मेदार ठहराया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि गोडसे ने गांधी को मारा और आरएसएस के लोगों ने गांधी को मारा, इसमें फर्क है। कोर्ट ने राहुल से कहा था कि जब वे किसी व्यक्ति विशेष के बारे में बोलें तो सतर्क रहें। उधर, एक मीडिया रिपोर्ट में पुलिस के पुराने दस्‍तावेज के हवाले से दावा किया गया है कि आरएसएस ने गांधी को जान की धमकी दी थी।

कैच न्‍यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, ये खुफिया रिपोर्ट दिल्‍ली पुलिस की क्रिमिनल इन्‍वेस्‍ट‍िगेशन डिपार्टमेंट (सीआईडी) की है, जो गांधी की हत्‍या से कई महीने पहले की है। पुलिस रिपोर्ट में आरएसएस की उस मीटिंग की जानकारी दर्ज है, जहां यह धमकी दी गई। सीआईडी की यह रिपोर्ट सूत्रों के आधार पर है। सीआईडी ने इस दस्‍तावेज में सूत्र को ‘सेवक’ कहा है। इसे डिपार्टमेंट के इंस्‍पेक्‍टर करतार सिंह ने दाखिल किया है। सीआईडी रिपोर्ट में लिखा है, ‘8-12-1947 को संघ के 2500 वॉलंटियर्स रोहतक रोड पर आयोजित अपने कैंप में इकट्ठे हुए। कुछ देर के प्रशिक्षण के बाद एमएस गोलवलकर ने स्‍वयंसेवकों को संबोधित किया। उन्‍होंने संघ के सिद्धांतों के बारे में बताया और कहा कि यह हर शख्‍स का कर्तव्‍य है कि वो आने वाली दिक्‍कतों का पूरी ताकत से सामना करे। जल्‍द ही उनके सामने पूरी योजना रखी जाएगी। खेलने-कूदने के दिन गए।…’

READ ALSO: महात्मा गांधी की हत्या का मुद्दा उठाकर बोले स्वामी- अंग्रेजों ने मारा था

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘गोलवलकर ने कहा कि हमें शिवाजी के तौर तरीकों की तरह ही गुरिल्‍ला युद्ध के लिए तैयार रहना चाहिए। संघ त‍ब तक आराम नहीं करेगा, जब तक पाकिस्‍तान का नामोनिशान न मिट जाए। अगर कोई हमारे रास्‍ते में आएगा तो हमें उसे खत्‍म करना होगा। चाहे वो नेहरू सरकार हो या कोई और सरकार।’ मुस्‍ल‍िमों का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा, ‘धरती की कोई ताकत मुसलमानों को हिंदुस्‍तान में नहीं रख सकती। उन्‍हें देश छोड़ना ही होगा। महात्‍मा गांधी मुस्‍ल‍िमों को देश में रखना चाहते हैं ताकि चुनाव के वक्‍त कांग्रेस को उनके वोटों का फायदा मिल सके। लेकिन तब तक एक भी मुस्‍ल‍िम शख्‍स देश में नहीं बचेगा। अगर उन्‍हें यहां रहने दिया गया तो जिम्‍मेदारी सरकारों की होगी। हिंदू समुदाय इसके लिए जिम्‍मेदार नहीं होगा।’ आगे लिखा है, ‘महात्‍मा गांधी उन्‍हें काफी देर तक दिग्‍भ्रमित नहीं कर सकते। हमारे पास वो तरीके हैं, जिससे इस तरह के लोगों को तुरंत खामोश किया जा सकता है, लेकिन यह हमारी परंपरा रही है कि हम हिंदुओं को नुकसान नहीं पहुंचाते। अगर मजबूर किया गया तो हमें वैसा कदम उठाना पड़ेगा।’ कैच न्‍यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, सीआईडी रिपोर्ट से इस बात के भी संकेत मिलते हैं कि पुलिस को शक था कि आरएसएस हथियार जुटाने की कोशिश कर रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    mahesh sharma
    Jul 28, 2016 at 5:45 am
    देश के विकास को आरएसएस और आरएसएस संचालित संगठनो के कारण देश बहुत पीछे इसका मुख्य कारण आरएसएस संचालित संगठनो का अराजकता
    (1)(1)
    Reply
    1. B
      BookMySawari
      Aug 19, 2016 at 11:42 am
      शुरू से ही आरएसएस देश को तोड़ने की कोशिश कर रहा हैं
      (0)(1)
      Reply
      1. R
        Rajiv Gupta
        Jul 28, 2016 at 6:53 am
        BJP-RSS is creating communal divide through religious beliefs based nationalism.Arnav Goswamy is part of that.We are with Barkha
        (2)(0)
        Reply
        1. Drrkd Goel
          Jul 27, 2016 at 2:53 pm
          After ination Mahatma hi on 3.01.1948, several devoted RSS worker left the RSS and joined the Congress party. Mr.A.B. Vajpayeeji also said that if there was no issnation of M.K.hi in 1948 than there would have been one party only. The ination of M.K.hi was very unfortunate for the Country, India.====== said Vajpayee always believed that the post-Godhra riots in 2002 was a "mistake" and the grief was "clearly visible" on his face.The handling of the Gujarat riots when
          (0)(0)
          Reply
          1. M
            Mukund Hambarde
            Aug 19, 2016 at 5:07 pm
            यह समाचार पूर्णतया मनगढन्त, कुत्सित और जानबूझ कर संघ पर लांछन लगाने के लिए "बनाया" गया है ।
            (1)(0)
            Reply
            1. N
              nikhilesh
              Aug 20, 2016 at 1:49 am
              सुंदर विचार थे पहले ही भाँप गये थे कि इस देश में क्या गंध फ़ैलाने वाली है खांग्रेस , आज वही गन्ध हम भुगत रहे है । गुरु जी दिव्य पुरुष थे , खांग्रेस्सी नेताओ का व्यक्तित्व और सोच उनके सामने बौनी थी ।शत नमन माधव चरण में
              (0)(0)
              Reply
              1. R
                R.K.Sharma
                Jul 29, 2016 at 8:31 am
                आज आवस्यकता है मानवता के विचार से सोचने की न कि हिन्दू मुस्लिम या जाती भेद से ,अब आर.s .s को भी समझना होगा अन्यथा यूँही लड़ते लड़ाते देश कमजोर हो जायेगा .....
                (0)(0)
                Reply
                1. Sagar Chhetri
                  Aug 19, 2016 at 6:06 am
                  # आज का देश आज का जनता सचेत और जिम्मेदार के साथ काम करना और सोचना चाहती हैं ।।कोही बात यह समस्या हो वह लड़ना जानना हैं ।अगर बापू की हत्या धम्की वाली रिपोर्ट ी हैं तो आरएसएस भाजपा को जनता माफ़ नही करेगा ।।
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. N
                    nikhilesh
                    Aug 20, 2016 at 1:46 am
                    गलत क्या कह दिया था
                    (0)(0)
                    Reply
                  2. subodh senger
                    Aug 19, 2016 at 9:46 am
                    :hindi.webdunia/my-blog/kashmiri-pandit-terrorism-116070100091_1
                    (0)(0)
                    Reply
                    1. subodh senger
                      Aug 19, 2016 at 9:45 am
                      वोट बैंक के चक्कर में पुरे देश का बंटा धार् कर दिया और अब केवल भाजपा और आर-एस-एस को दोषी ठहराते रहो।
                      (0)(0)
                      Reply
                      1. Load More Comments