ताज़ा खबर
 

विपक्ष खोज रहा 2019 में नरेंद्र मोदी की काट, भारत आएंगे डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी रणनीतिकार, करेंगे प्रियंका गांधी, नीतीश कुमार, अखिलेश यादव से मुलाकात

डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिका का राष्ट्रपति चुनाव जिताने वाली कैंब्रिज एनालिटिका के सीईओ एलेक्जेंडर निक्स 19 जुलाई को भारत आ रहे हैं।
राहुल गांधी और प्रियंका गांधी एक रैली के दौरान। PTI Photo by Nand Kumar

देश का अगला आम चुनाव अभी दो साल दूर है लेकिन राजनीतिक दलों ने अभी से इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। एक तरफ जहां अमित शाह के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) 2019 के लोक सभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए “विस्तारक” अभियान चला रही है तो विपक्षी दल पीएम नरेंद्र मोदी के चेहरे के साथ उतरने वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के खिलाफ महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ने के लिए एक अमेरिकी चुनावी रणनीतिकार कंपनी की सेवाएं ले सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नकारात्मक छवि के बावजूद डोनाल्ड ट्रंप को अमेरिका का राष्ट्रपति चुनाव जिताने वाली कैंब्रिज एनालिटिका के सीईओ एलेक्जेंडर निक्स 19 जुलाई को भारत आ रहे हैं। एलेक्जेंडर निक्स प्रियंका गांधी, नीतीश कुमार, अखिलेश यादव, शरद पवार इत्यादि नेताओं से मिलेंगे।

कैंब्रिज एनालिटिका बड़े आंकड़ों के शोधन और विश्लेषण के सहारे चुनावी रणनीति बनाती है। कंपनी का नाम अंतरराष्ट्रीय मीडिया में तब सुर्खियों में आया जब डोनार्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति चुन लिए गए। चुनाव से पहले ज्यादातर बड़े मीडिया घरानों ने ट्रंप के हार की भविष्यवाणी की थी। ट्रंप सभी भविष्यवाणियों को झुठलाते हुए जीत गए तो लोगों ने इसे उनके चुनाव प्रचार की कमान संभाल रही कैंब्रिज एनालिटिका का कमाल माना। कैंब्रिज एनालिटिका तब भी चर्चा में आई थी जब ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के जनमत संग्रह (ब्रेग्जिट) में ब्रिटिश जनता से अलग होने के पक्ष में मतदान किया। एनालिटिका ने ब्रेग्जिट के पक्ष में अभियान चलाया था।

अब ये कंपनी दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में अपना हाथ आजमा सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कैंब्रिज एनालिटिका नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ 2019 के लोक सभा चुनाव में विपक्ष दलों के साझा महागठबंधन के चुनाव प्रचार की कमान संभाल सकती है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एलेक्जेंडर निक्स भारत आ रहे हैं। एलेक्जेंडर 19 जुलाई से 21 जुलाई तक हिन्दुस्तान में रहेंगे। रिपोर्ट के अनुसार एलेक्जेंडर इस दौरान विपक्षी दलों के कई नेताओं से मिलेंगे।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार एलेक्जेंडर बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव से मिलेंगे। नीतीश और अखिलेश के अलावा अलेक्जेंडर के प्रियंका गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के शरद पवार की भी उम्मीद है। एलेक्जेंडर की चुनाव मैनेजमेंट कमेटी में जेडीयू नेता केसी त्यागी के बेटे अम्बरीश त्यागी भी थे। माना जा रहा है कि इस पूरी कवायद के सूत्रधार अम्बरीश त्यागी ही हैं।

अम्बरीश ने नवभारत टाइम्स अखबार से कहा कि भारत चुनाव मैनेजमैंट का बहुत बड़ा बाजार है। अम्बरीश ने कहा कि अगर उनकी कंपनी एनडीए विरोधी महागठबंधन के चुनाव प्रचार की कमान संभालती है तो किसी विदेशी कंपनी द्वारा भारत में ऐसी भूमिका पहली बार निभाई जाएगी। एलेक्जेंडर की टीम दुनिया के 40 से ज्यादा चुनावों में हिस्सा ले चुकी है।

वीडियो- बड़े आंकड़ों का महत्व बताते एजेक्जेंडर निक्स-

वीडियो- नीतीश कुमार का नरेंद्र मोदी सरकार पर वार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.