ताज़ा खबर
 

बुलंदशहर गैंगरेप: पहले ही कर ली थी वारदात की तैयारी, जमकर शराब पीने के बाद दिया अंजाम

मास्‍टरमाइंड सलीम और उसके साथ‍ियों को पुलिस ने आरोपियों के फोन कॉल्‍स को इंटरसेप्‍ट कर और स्‍थानीय मुखबिरों की मदद से ढूंढ निकाला था।
Author नई दिल्‍ली | August 10, 2016 14:53 pm
घटनास्‍थल का दौरा करते उत्‍तर प्रदेश के डीजीपी जावेद अहमद। (Express Photo: Gajendra Yadav)

बुलंदशहर गैंगरेप मामले में पुलिस के हत्‍थे चढ़े आरोपियों ने पहले से ही वारदात का खाका खींच रखा था। एक महिला और उसकी 14 वर्षीय बेटी से गैंगरेप के आरोपियों से पूछताछ में यह तथ्‍य सामने आया है। आरोपियों ने घटनास्‍थल की रेकी पहले ही कर ली थी। मेरठ जोन के आईजी सुजीत पांडेय के मुताबिक, आरोपियों ने मेरठ जिले को अपना ‘बेस’ बनाया। पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने एक स्‍थानीय नागरिक, रईसुद्दीन से भी मदद मांगी थी। रईसुद्दीन को दो अन्‍य आरोपियों- सबीर और जब्‍बार सिंह के साथ वाइर स्‍टेशन से 31 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। 7 आरोपियों में से तीन- बावरिया गैंग का सरगना और गैंगरेप का मास्‍टरमाइंड सलीम और जुबैर तथा साजिद को सोमवार (9 अगस्‍त) शाम को गिरफ्तार कर लिया गया था।

उत्‍तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक, छह पीड़‍ितों में दो ने सलीम, जुबैर और साजिद को पहचान लिया है। फिलहाल पुलिस साथी नाम के सातवें आरोपी की तलाश कर रही है। सलीम और उसके साथ‍ियों को पुलिस ने आरोपियों के फोन कॉल्‍स को इंटरसेप्‍ट कर और स्‍थानीय मुखबिरों की मदद से ढूंढ निकाला था। आईजी के अनुसार आरोपियों के बीच हुई एक बातचीत में, एक आरोपी दूसरे को भाग जाने के लिए कह रहा था। आईजी ने मीडियाकर्मियों को बताया, ”वारदात के दिन, उन्‍होंने शराब खरीदी। वे भूर (बुलंदशहर) में शराब की दुकान पर थे। उनका दावा है कि उन्‍होंने एक सुनसान जगह पर शराब पी। उन्‍होंने कहा कि वे उस जगह से रात करीब 11.30 बजे निकले और… वारदात की जगह पहुंचे… वारदात सुबह 1.15 बजे हुई।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग