December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर दुश्मनों का दांत खट्टा करने के लिए बीएसएफ की महिला जवान तैयार

सीमा पर तैनात बीएसएफ की इन अधिकांश महिला कॉन्स्टेबल की उम्र 25 से 30 साल के बीच है।

अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तैनात बीएसएफ की महिला जवान

जम्मू-कश्मीर में 192 किलो मीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की 90 महिला जवानों की तैनाती की गई है। मोर्चे पर ये महिलाएं दुश्मनों का हर तरह से मुकाबला करने को तैयार हैं। हाथों में 5.6एमएम इन्सास राइफल लेकर सीमा पर ये महिला जवान गश्ती कर रही हैं। सीमा पर डटी ये महिलाएं पाकिस्तानी रेंजर्स की हर गतिविधियों की भी निगरानी कर रही हैं। ये मीडियम मशीन गन और 51 एमएम मोर्टार दागने में भी दक्ष हैं। अगर दुश्मन की तरफ से कोई हमला हो तो ये महिलाएं उन्हें मुंहतोड़ जबाव देने में हर तरह से तैयार हैं। सूर्योदय के साथ ही ये महिलाएं सीमा पर चौकसी के लिए तैनात हो जाती हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक जम्मू के आरएसपुरा में बीएसएफ की महिला जवान रविन्दर तैनात हैं जो जम्मू की ही रहनेवाली हैं और उनके पति ऑस्ट्रेलिया में नौकरी करते हैं। रविन्दर ने पाकिस्तानी सेना को जबाव देने के मुद्दे पर कहा, “हमलोग भी जबाव देंगे और ऐसा जबाव देंगे कि 100 साल तक याद करेंगे कि महिला कॉन्स्टेबल की ताकत क्या होती है।”

वीडियो देखिए: पीएम मोदी पर बरसे लालू यादव

सीमा पर तैनात बीएसएफ की इन अधिकांश महिला कॉन्स्टेबल की उम्र 25 से 30 साल के बीच है। इनमें से कुछ तो अपने परिवार के साथ बटालियन हेडक्वार्टर में रहती हैं जबकि कुछ के बच्चे उनके पति के साथ अपने-अपने घरों में रहते हैं, ताकि ये महिला जवान सीमा पर पूरी मुस्तैदी के साथ दुश्मनों से मुकाबला कर सकें। बीएसएफ की महिला जवान आरएस पुरा सेक्टर के अलावा अखनूर, अरनिया जैसे कई संवेदनशील जगहों पर तैनात हैं। हिंदुस्तान की बेटियां अपने देश की रक्षा करने और दुश्मन के नापाक इरादों को मिटाने के लिए हाथों में हथियार लिए ड्यूटी पर रोजाना 6 से 8 घंटे खड़ी रहती हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 5, 2016 2:02 pm

सबरंग