March 25, 2017

ताज़ा खबर

 

उत्तर प्रदेश में भाजपा को मिलेगी भारी जीत

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों का अभियान युद्घ स्तर पर शुरू हो चुका है।

Author उरई(जालौन) | October 1, 2016 03:27 am
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सुपुत्र और प्रदेश भाजपा के महासचिव पंकज

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों का अभियान युद्घ स्तर पर शुरू हो चुका है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सुपुत्र और प्रदेश भाजपा के महासचिव पंकज सिंह ने भी पूरे राज्य में पैठ बढ़ाने के लिए ताबड़तोड़ कार्यक्रम शुरू कर दिए हैं। गुरुवार को बुंदेलखंड व कानपुर इलाके के कई जिलों के क्षेत्रीय युवा सम्मेलन को संबोधित करने आए सिंह ने उत्तर प्रदेश में भाजपा के चेहरे के बारे में पूछे सवाल पर अपने को छोटा कार्यकर्ता बताया। उन्होंने कहा कि पार्टी किसे मुख्यमंत्री पद के लिए प्रोजेक्ट करेगी, यह फैसला पार्टी के बड़े नेता उचित समय पर लेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा को तीन सौ प्लस सीटें मिलेंगी। उन्होंने राहुल गांधी की खाट सभाओं को लेकर कहा कि जिस पार्टी की खाट शुरुआत के पहले ही खड़ी हो गई हो, उससे भाजपा की तुलना नहीं की जानी चाहिए।

सिंह ने राज्य की कानून व व्यवस्था को बद से बदतर बताया। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की जब-जब प्रदेश में सरकार बनी है, तब-तब कानून व्यवस्था को कराहना पड़ा है। इस समय समाजवादी पार्टी के अंदर पारिवारिक संघर्ष छिड़ा हुआ है और चिंता की बात यह है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद कह रहे हैं कि यह परिवार का नहीं सरकार का संघर्ष है। इसका मतलब है कि वे भी मानते हैं कि उनकी पार्टी में छिड़े सत्ता संघर्ष की वजह से प्रदेश में गवर्नेंस लड़खड़ा गई है।
पत्रकार वार्ता के बाद उन्होंने राधिका गार्डन में पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्हें चुनाव में बूथ स्तर तक मजबूत मैनेजमेंट करने के टिप्स दिए। इसमें पत्रकारों को बैठने की अनुमति नहीं दी गई। उनके साथ भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवभूषण व भाजपा के एक और प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने भी सम्मेलन को संबोधित किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 1, 2016 3:26 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग