ताज़ा खबर
 

अमित शाह ने टाला चेन्नई दौरा, मोदी कैबिनेट में फेरबदल के लिए ले रहे मंत्रियों का इंटरव्यू

अमित शाह ने राजीव प्रताप रूढी और उपेन्द्र कुशवाहा से अलग-अलग मुलाकात की है। माना जा रहा है कि भाजपा अध्यक्ष ने दोनों राज्यमंत्रियों के विभागों के कामकाज की समीक्षा की है।
अमित शाह ने राजीव प्रताप रूढी और उपेन्द्र कुशवाहा से अलग-अलग मुलाकात की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही अपने मंत्री परिषद का विस्तार करने वाले हैं। इसके लिए नए नामों पर चर्चा करने और पुराने मंत्रियों के काम काज की समीक्षा के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपना चेन्नई दौरा टाल दिया है। भाजपा सूत्रों के मुताबिक शाह मोदी टीम के राज्यमंत्रियों से एक-एक कर मुलाकात कर रहे हैं। एनडीटीवी के मुताबिक अमित शाह ने राजीव प्रताप रूढी और उपेन्द्र कुशवाहा से अलग-अलग मुलाकात की है। माना जा रहा है कि भाजपा अध्यक्ष ने दोनों राज्यमंत्रियों के विभागों के कामकाज की समीक्षा की है।

सूत्रों के मुताबिक बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार को भी दिल्ली बुलाया गया है ताकि मंत्रिमंडल विस्तार पर उनसे चर्चा की जा सके। बता दें कि जदयू दो दिन पहले ही 19 अगस्त को एनडीए का हिस्सा बना है। इसलिए चर्चा है कि जदयू कोटे से दो लोगों को मोदी मंत्रि परिषद में जगह दी जाएगी। माना जा रहा है कि नीतीश के करीबी राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह और पूर्णिया से लोकसभा सांसद संतोष कुशवाहा मंत्री बनाए जा सकते हैं। जदयू के लोकसभा में दो सांसद हैं। चर्चा इस बात की भी है कि नीतीश चाहें तो किसी एक नेता को कैबिनेट मंत्री बना सकते हैं या फिर दो लोगों को राज्यमंत्री लेकिन इस पर आखिरी फैसला नीतीश के दिल्ली आने के बाद ही होगा।

भाजपा की सहयोगी और एनडीए की घटक शिवसेना भी भाजपा पर दबाव बना रही है। शिवसेना महाराष्ट्र की साझी सरकार में गृह मंत्रालय चाह रही है। इसके अलावा केंद्र के मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में एक कैबिनेट और दो राज्यमंत्री का पद चाहती है। साल 2014 में शिवसेना के वरिष्ठ नेता अनिल देसाई केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करने पर शिव सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के निर्देश पर दिल्ली हवाई अड्डे से ही मुंबई बैरंग लौट गए थे।

गौरतलब है कि लंबे समय से मोदी मंत्रिमंडल के विस्तार की बात चल रही है। मंत्रिमंडल में कई जगह खाली हैं। फिलहाल वित्त मंत्री अरुण जेटली रक्षा मंत्रालय का भी प्रभार देख रहे हैं। मनोहर पर्रिकर के गोवा का सीएम बनने के बाद पीएम ने उन्हें यह प्रभार सौंपा था। स्मृति ईरानी भी फिलहाल दो-दो मंत्रालयों का जिम्मा संभाल रही हैं। टेक्सटाइल मिनिस्ट्री के अलावा उन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का भी जिम्मा सौंपा गया था, जब वेंकैया नायडू ने उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद इस्तीफा दे दिया था। इसी तरह हर्षवर्धन भी दो मंत्रालयों का प्रभार देख रहे हैं। हालांकि, राष्ट्रपति भवन ने अभी तक इस बारे में किसी तरह की सूचना से इनकार किया है लेकिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लेह दौरा पूरा कर आज शाम दिल्ली लौट रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग