ताज़ा खबर
 

जल स्वावलंबन अभियान को कामयाब बनाने में जुटी BJP

राजस्थान में बडे पैमाने पर शुरू हुए मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान को कामयाब बनाने के लिए भाजपा भी मुस्तैद हो गई है। प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में पानी की बचत के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पहल से अभियान शुरू किया गया है।
Author जयपुर | January 29, 2016 01:10 am
प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में पानी की बचत के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पहल से अभियान शुरू किया गया है।

राजस्थान में बडे पैमाने पर शुरू हुए मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान को कामयाब बनाने के लिए भाजपा भी मुस्तैद हो गई है। प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में पानी की बचत के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पहल से अभियान शुरू किया गया है। इसमें धार्मिक, सामाजिक और अन्य संगठनों के साथ अब सत्ताधारी भाजपा ने भी इसमें सक्रिय होने का एलान किया है। जयपुर शहर भाजपा तो इस अभियान में धन जुटाने की मुहिम भी शुरू करेगी।

राज्य में शुरू हुए जल संरक्षण के अभियान का पहला दौर डेढ़ हजार से ज्यादा गांवों में शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री राजे ने अपने गृह जिले झालावाड़ में तो मंत्रियों ने अपने प्रभार वाले जिलों में अभियान का श्रीगणेश किया। प्रदेश में पानी की कमी को देखते हुए अब परंपरागत जल साधनों को सुधारा जाएगा। अभियान में गांव का पानी गांव में और खेत का पानी खेत में की तर्ज पर जल भंडारण की दिशा में जनसहयोग से इस काम को अमल में लाया जाएगा। प्रदेश में जर्जर हो चुके कुएं और बावड़ियों को फिर से काम में लाने लायक बनाया जाएगा। इसके लिए सरकार ने तो बजट प्रावधान रखा ही है, साथ में जनसहयोग से धन की व्यवस्था भी की जाएगी।

सरकार का कहना है कि इस काम में प्रदेश के औद्योगिक घरानों के साथ ही आम आदमी की भागीदारी पर जोर रहेगा। इसके लिए अलग से कोष भी बनाया गया है। सरकार के निर्देश पर पूरी प्रशासनिक मशीनरी के साथ ही अन्य वर्गों को भी इससे जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री की दिलचस्पी को देखते हुए प्रदेश भाजपा संगठन ने भी अपने को अभियान में शामिल कर लिया है। जयपुर शहर भाजपा की गुरुवार को यहां हुई बैठक में तो अभियान के लिए आर्थिक सहयोग जुटाने का फैसला किया गया।

इसके लिए एक से 15 फरवरी तक संगठन अभियान चलाएगा। भाजपा युवा मोर्चा ने तो एक लाख रुपए जुटा कर इसका श्रीगणेश कर दिया है। जयपुर शहर जिला अध्यक्ष संजय जैन ने बताया कि जुटाई गई राशि को मुख्यमंत्री को सौंपा जाएगा। इस दौरान युवा मोर्चा प्राचीन जलाशयों की साफ सफाई करेगा। मोर्चा का कहना है कि बरसात के पानी को जमा कर उसे जरूरत के समय काम में लाने का प्रचार प्रसार भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी मंडलों को इस अभियान के लिए धन संग्रह के लिए जुटने का निर्देश दिया गया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी ने भी सभी जिला अध्यक्षों को इस अभियान के लिए कार्यकर्ताओं को जुटने को कहा है।

कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी का कहना है कि प्रदेश के युवाओं को पानी का मोल समझाने की जरूरत है। प्रदेश का ज्यादातर इलाका ‘डार्क जोन’ में आ गया है। इसके चलते खतरनाक स्थिति बनती जा रही है। भूजल के मामले में तो स्थिति विकट होती जा रही है। इसलिए सरकार ने सतही जल को सहेजने के लिए अभियान चलाया है। सैनी का कहना है कि प्रदेश में सिर्फ एक ही बडी नदी बहती है। राजस्थान में ज्यादातर नदियां बरसाती है। इसके चलते ही ग्रामीण इलाकों के प्राचीन जलाशयों को फिर से जीवित करने की जरूरत महसूस हुई है।

इन जलाशयों के जरिये ही ग्रामीण इलाकों में फिर से पानी का भंडारण हो सकेगा। प्रदेश में पीने के पानी के साथ ही खेती के लिए भी पानी की बड़ी जरूरत है। प्रदेश में हर दूसरे साल कम वर्षा के चलते अकाल के हालात रहते है। सैनी ने बारां जिले में अभियान को सफल बनाने की कमान संभाल रखी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.