ताज़ा खबर
 

उत्तराखंड: कांग्रेस के बागी विधायकों को नोटिस, स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाए MLA

भाजपा ने दावा किया कि कांग्रेस के नौ बागी विधायकों समेत भाजपा के समर्थन वाले 35 विधायकों ने अध्यक्ष कुंजवाल द्वारा विधानसभा में निष्पक्ष आचरण न किये जाने पर उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे दिया है ।
Author देहरादून | March 20, 2016 14:31 pm
पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के कट्टर समर्थक उनियाल ने कहा कि जब विधानसभा के अधिकतर सदस्यों को अध्यक्ष पर विश्वास ही नहीं है तो ऐसे में उनके द्वारा नोटिस जारी किए जाने का कोई औचित्य नहीं है। (file photo)

उत्तराखंड की हरीश रावत सरकार के खिलाफ खुली बगावत के बाद उठे सियासी तूफान के बीच विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कांग्रेस के सभी नौ बागी विधायकों को उनकी सदस्यता समाप्त करने को लेकर नोटिस जारी कर दिये हैं।  दूसरी तरफ, मुख्य विपक्षी भाजपा ने दावा किया कि कांग्रेस के नौ बागी विधायकों समेत भाजपा के समर्थन वाले 35 विधायकों ने अध्यक्ष कुंजवाल द्वारा विधानसभा में निष्पक्ष आचरण न किये जाने पर उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे दिया है ।

कुंजवाल ने बताया कि विधानसभा में कांग्रेस की मुख्य सचेतक डा इंदिरा ह्रदयेश की ओर से पार्टी के नौ बागी विधायकों पर व्हिप के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई करने को लेकर उन्हें पत्र लिखा गया है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस की मुख्य सचेतक के पत्र पर कार्रवााई करते हुए उन्होंने कांग्रेस के उन सभी नौ विधायकों को नोटिस जारी कर दिये हैं और उनसे 26 मार्च की शाम पांच बजे तक अपना जवाब दाखिल करने को कहा गया है। अध्यक्ष कुंजवाल के नोटिस को यहां विधायकों के सरकारी आवासों के बाहर चस्पां भी कर दिया गया है।

उत्तराखंड प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता अजय भट्ट ने बताया कि भाजपा तथा उसका समर्थन कर रहे कांग्रेस के नौ विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल और उपाध्यक्ष अनुसूया प्रसाद मैखुरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे दिया है। भट्ट ने कहा कि कुल 35 विधायकों के दस्तखत से दिये गये इस अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस का विधानसभा सचिव से लिखित रूप में ‘रिसीविंग’ भी ले लिया गया है।

उन्होंने कहा कि इन परिस्थितियों में अध्यक्ष कुंजवाल को पद से हट जाना चाहिये क्योंकि वह निष्पक्ष आचरण करने में विफल रहकर विधानसभा के ज्यादातर सदस्यों का विश्वास खो चुके हैं।  इस बीच, कांग्रेस के बागी विधायक सुबोध उनियाल ने अध्यक्ष कुंजवाल द्वारा उन्हें नोटिस जारी किये जाने पर ही सवाल खडा कर दिया और कहा कि उनके द्वारा नोटिस भेजे जाने से पहले ही विधानसभा के 35 विधायक उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दे चुके हैं ।

पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के कट्टर समर्थक उनियाल ने कहा कि जब विधानसभा के अधिकतर सदस्यों को अध्यक्ष पर विश्वास ही नहीं है तो ऐसे में उनके द्वारा नोटिस जारी किए जाने का कोई औचित्य नहीं है। मुख्यमंत्री हरीश रावत जल्द ही दिल्ली जा कर पार्टी आलाकमान को वस्तुस्थिति से अवगत करायेंगे ।.

Read Also: उत्तराखंड: बागी कांग्रेस MLAs पहुंचे दिल्ली, BJP ने पेश किया सरकार बनाने का दावा 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग