December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

बिहार: बीजेपी को जमीन बेचनेवाला बयान से पलटा, कहा- 70 नहीं 17 लाख कहा था, मीडिया ने गलत ढंग से दिखाया

लगभग पांच दिन पहले बिहार के किशनगंज में रहने वाले पशुराम चौहान ने कहा था कि उसने अपनी एक बीघा जमीन 70 लाख रुपए में भारतीय जनता पार्टी की स्टेट युनिट को बेची है।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह। (फाइल फोटो)

लगभग पांच दिन पहले बिहार के किशनगंज में रहने वाले पशुराम चौहान ने कहा था कि उसने अपनी एक बीघा जमीन 70 लाख रुपए में भारतीय जनता पार्टी की स्टेट युनिट को बेची है। लेकिन अब वह अपनी बात से पलट गया है। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, पशुराम ने कहा है कि मीडिया ने उसकी बात को तोड़-मरोड़कर पेश किया। अब उसका कहना है कि उसने जमीन को 70 नहीं बल्कि 17 लाख रुपए में बेचा था। बात करते हुए उसने कहा, ‘जो लोग मुझसे बात करने आए थे वह मछली बाजार की तरह व्यवहार कर रहे थे। मैंने 17 लाख कहा उन्हें 70 लाख सुनाई दिया।’ लेकिन जब उससे आगे सवाल किए गए तो उसने कहा कि बीमारी की वजह से उसे कुछ ठीक से ध्यान नहीं रहता।

पशुराम की जमीन उन जमीनों में शामिल है जो बीजेपी द्वारा अगस्त से अक्टूबर के बीच बिहार में खरीदी गई थी। यह जमीन नोटबंदी के फैसले से कुछ वक्त पहले ही खरीदी गई थी इसलिए उसपर सवाल उठ रहे हैं। राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरोप लगाया था कि अपने कालेधन का इस्तेमाल करने के लिए बीजेपी पार्टी ने वे जमीनें खरीदी थीं। हालांकि, बीजेपी द्वारा अपनी सफाई में कहा जाता रहा है कि उसने जमीन चेक और बैंक द्वारा भुगतान करके खरीदी थी। लेकिन ऐसे कई प्रूफ देखे गए हैं जिसमें लिखा है कि पैसा नकद में दिया गया था।

उसपर पार्टी का कहना है कि बैंक द्वारा पैसा ट्रांसफर होने में वक्त लग रहा था इसलिए कागजों पर लिखवा दिया गया था कि पैसा नकद में दिया गया है। वहीं कागजों से पता लगता है कि पार्टी ने जिस कीमत पर जमीन खरीदी उसके मुकाबले वहां की जमीन की कीमत काफी ज्यादा है। इसपर बीजेपी के नेता ने कहा कि वहां पास ही तलाब और शमशान घाट होने की वजह से कीमत घट गई थी।

देखिए पशुराम का वीडियो-  (क्रेडिट-एनडीटीवी)

इस वक्त की ताजा खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

वीडियो: मनोज तिवारी को दिल्ली बीजेपी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया; नित्यानंद बने बिहार बीजेपी के अध्यक्ष

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 4:25 pm

सबरंग