ताज़ा खबर
 

Bihar Polls: पहले चरण में 57% वोटिंग, नीतीश सहित 583 उम्मदवारों की क़िस्मत ईवीएम में क़ैद

Bihar Polls: पांच चरणों में हो रहे बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के तहत दस जिलों के कुल 49 विधानसभा क्षेत्रों में चाक-चौबंद सुरक्षा..
Author पटना | October 12, 2015 18:59 pm
BIHAR VOTING LIVE: 49 विधानसभा सीटों के लिए मतदान शुरू, कई नक्सली क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा

पांच चरणों में हो रहे बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के तहत दस जिलों के कुल 49 विधानसभा क्षेत्रों में चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच लगभग 57 प्रतिशत मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग किया। पहले चरण के तहत समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, नवादा और जमुई जिलों के 49 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ।

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी आर लक्ष्मणन ने बताया कि शांतिपूर्ण और निष्पक्ष ढंग से जारी इस मतदान में लगभग 57 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है।

समस्तीपुर जिले में 52.52 प्रतिशत, बेगूसराय में 52.60 प्रतिशत, खगड़िया में 61.32 प्रतिशत, भागलपुर में 48.57 प्रतिशत, बांका में 51.43 प्रतिशत, मुंगेर में 54.71 प्रतिशत, लखीसराय में 47.40 प्रतिशत, शेखपुरा में 53.06 प्रतिशत, नवादा में 46.91 प्रतिशत और जमुई जिले में 56.85 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है।

नक्सल प्रभावित इलाके में पड़ने वाले नौ विधानसभा क्षेत्र जहां अपराह्न 3 बजे मतदान समाप्त हो गया उनमें शामिल तारापुर विधानसभा क्षेत्र में 53 प्रतिशत, जमालपुर में 54.5 प्रतिशत, सूर्यगढ़ा में 50 प्रतिशत, रजौली में 49 प्रतिशत, गोविंदपुर में 52 प्रतिशत, सिकंदरा में 55 प्रतिशत, जमुई में 59.5 प्रतिशत, झाझा में 55.1 प्रतिशत और चकाई में मतदान का प्रतिशत 58 रहा।

नक्सल प्रभावित चार अन्य विधानसभा क्षेत्र जहां अपराह्न 4 बजे मतदान समाप्त हो गया उनमें शामिल अलौली में 61 प्रतिशत, बेलदौर में 61.5 प्रतिशत, कटोरिया में 58.18 प्रतिशत और बेलहर में मतदान का प्रतिशत 49.29 रहा। बाकी अन्य विधानसभा क्षेत्रों में मतदान शाम पांच बजे समाप्त हो गया।

इस बीच, मुंगेर जिले में अपने दस्ते के साथ चुनावी गश्त कर रहे सीआरपीएफ कमांडेंट पी के मिश्र और उनके अंगरक्षक जवान मंटू कुमार आज सुबह एक सड़क हादसे में घायल हो गए।

मुंगेर के सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराए गए मिश्र ने बताया धरहरा-कुंवरपुर मार्ग से गुजरते समय उनकी मोटरसाइकिल अचानक सामने आ गए एक पशु को बचाने की कोशिश में अनियंत्रित होकर पलट गयी जिससे वह और उनके अंगरक्षक जवान मंटू कुमार घायल हो गए।

बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इसके लिए अर्द्ध सैनिक बलों के साथ कुल 1,55,073 सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गयी है जिनमें केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल एवं 55,902 राज्य पुलिस कर्मी शामिल हैं।

जिन इलाकों में आज मतदान जारी है वहां हवाई निगरानी के लिए 5 हेलीकॉप्टरों और ड्रोन की मदद ली जा रही है और पहाड़ी इलाके में निगरानी के लिए पुलिस बल की तैनाती के साथ दियारा इलाके में 33 मोटरयुक्त नौकाओं के जरिए गश्त की जा रही है।

वीडियो में देखें: बिहार चुनाव 2015

पूरी चुनाव प्रक्रिया पर पैनी नजर बनाए रखने के लिए 49 सामान्य पर्यवेक्षक, 18 एक्पेंडिंग ऑब्जर्वर, दस-दस पुलिस एवं जागरुकता पर्यवेक्षक, 2,600 माइक्रो ऑब्जर्वर की तैनाती के साथ 935 वीडियो कैमरे, 339 एंड्रायड मोबाइल फोनों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 576 जगहों पर लाइव वेब कास्टिंग का भी इंतजाम है। मतदान के लिए बनाए गए कुल 13,212 मतदान केंद्रों पर 63,624 मतदानकर्मियों की तैनाती की गयी है।

बिहार विधानसभा के प्रथम चरण के चुनाव के लिए बनाए गए 13,212 मतदान केंद्रों में से 7,384 मतदान केंद्र संवेदनशील हैं जबकि 2,255 मतदान केंद्र नक्सल प्रभावित इलाके में पड़ते हैं। इन मतदान केंद्रों पर मतदान के लिए कुल 13,212 कंट्रोल यूनिट और 14,413 बैलेट यूनिट की व्यवस्था की गयी है।

मतदान के दौरान किसी अप्रिय घटना की स्थिति में गंभीर रूप से घायल होने पर बेहतर इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाने के वास्ते एक एयर एंबुलेंस का इंतजाम भी है।

बिहार के दस जिलों के कुल 49 विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे मतदान में कुल 1,35,72,339 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें से 1,35,55,260 सामान्य मतदाता और 17,079 सेवा मतदाता हैं। सामान्य मतदाताओं में 72,37,253 पुरुष, 63,17,602 महिला और 405 तीसरे लिंग के हैं।

मतदाताओं की संख्या के लिहाज से इन 49 विधानसभा क्षेत्रों में लखीसराय विधानसभा क्षेत्र सबसे बड़ा और बरबिघा सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र है। क्षेत्रफल के दृष्टिकोण से इन 49 विधानसभा क्षेत्रों में चकाई सबसे बड़ा और भागलपुर सबसे छोटा विधानसभा क्षेत्र है।

नक्सल प्रभावित इलाकों और सुरक्षा के मद्देनजर तारापुर, जमालपुर, सूर्यगढ़ा, रजौली, गोविंदपुर, सिकंदरा, जमुई, झाझा और चकाई में मतदान का समय सुबह 7 बजे से अपराह्न 3 बजे और अलौली, बेलदौर, कटोरिया और बेलहर विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह 7 बजे से अपराह्न 4 बजे तथा बाकी अन्य विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का समय सुबह 7 बजे से शाम पांच बजे तक निर्धारित किया गया है।

बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में भाग्य आजमा रहे 583 उम्मीदवारों में 54 महिलाएं हैं। समस्तीपुर, मोरवा, मोहिद्दीनगर, रोसडा, बछवाडा, बेगूसराय, खगड़िया, परबत्ता, बिहपुर, अमरपुर, धोरैया, कटोरिया, गोविंदपुर और चकाई में एक से अधिक महिला उम्मीदवार हैं।

समस्तीपुर जिले के मोरवा और मोहिद्दीनगर विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवारों की संख्या सबसे अधिक और नवादा जिला के वारसलिगंज में सबसे कम है।

बिहार में बसपा का कोई खास जनाधार नहीं है लेकिन इस पार्टी ने प्रदेश विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण की इन 49 सीटों पर सबसे अधिक 41 उम्मीदवार उतारे हैं।

इन 49 सीटों पर भाजपा ने 27 उम्मीदवार, भाकपा ने 25, जदयू ने 24, राजद ने 17, लोजपा ने 13, माकपा ने 12, कांग्रेस ने आठ, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और राकांपा ने छह-छह, अन्य पंजीकृत एवं गैर मान्यताप्राप्त दलों ने 210 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे हैं तथा इनके साथ-साथ 194 निर्दलीय प्रत्याशी भी अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

बिहार विधानसभा के प्रथम चरण के चुनाव में जिन प्रमुख उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला आज मतदान के बाद इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में सील हो जाएगा उनमें प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री विजय चौधरी (समस्तीपुर जिले के सरायरंजन विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी), बिहार विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह (भागलपुर जिले के कहलगांव विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी) और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस (खगड़िया जिला के अलौली विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी) शामिल हैं।

बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा नीत राजग लोजपा, रालोसपा और हम सेक्युलर के साथ, प्रदेश में सत्तासीन जदयू राजद और कांग्रेस के साथ, भाकपा पांच अन्य वामदलों …. माकपा, भाकपा-माले, फारवर्ड ब्लॉक, एसयूसीआई (सी) और आरएसपी के साथ, मुलायम सिंह यादव की समाजवादी पार्टी शरद पवार की पार्टी राकांपा सहित चार अन्य दलों के साथ तीसरा मोर्चा बनाकर इस बार चुनावी मैदान में उतरे हैं।

बिहार में 12 अक्तूबर से पांच नवंबर तक पांच चरणों में चुनाव होना है। मतगणना आठ नवंबर को होगी। 243 सदस्यीय मौजूदा बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Adarsh Gupta
    Oct 12, 2015 at 12:11 pm
    जैनरीक दवाइयों पर एम आर पी बहुत ज्यादा छापा जा रहा है ,होल सेल मार्केट में जो दवाई 12/= की मिलती है , उस पर 135/= एम आर पी प्रिंट है . रीटेल में उपभोक्ता को जैनरीक 135/= में मिलती है. लगभग सभी दवाइयों का यही हाल है . भगीरथ पैलेस जाकर ट्राई कर सकते हो . एम आर पी पर कोई कण्ट्रोल नही है . जनता को लूटने का आसान रास्ता एम आर पी मुहैया करा रही है .
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग