June 26, 2017

ताज़ा खबर
 

भारत में ISIS की एंट्री का संकेत और बगदादी का ‘गिफ्ट’ था भोपाल ट्रेन ब्लास्ट: रिपोर्ट

जांच में पता लगा कि IS के भारत में प्रवेश की 'घोषणा' एक लेटर के रूप में थी जो बम पर लिपटा हुआ था

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में 7 मार्च को हुए विस्फोट को बाद की तस्वीर। (Source: ANI)

7 मार्च को भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में हुए ब्लास्ट को भारत में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) के आगमन का “आगाज” कहा जा रहा है। इस ब्लास्ट में 10 यात्री घायल हो गए थे। धमाके की जांच में पता लगा कि आईएस के भारत में प्रवेश की ‘घोषणा’ एक लेटर के रूप में थी और यह लेटर ट्रेन में फटने वाले बम पर लिपटा हुआ था। अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस घोषणा पत्र में ब्लास्ट के एक आरोपी आतिफ मुजफ्फर को ‘सरगना’ लिखा था और साथ ही इस ब्लास्ट को आईएस मुखिया अबु बक्र अल-बगदादी की तरफ से एक ‘तोहफा’ बताया गया था। ब्लास्ट के मुख्य आरोपी मुजफ्फर ने पूछताछ में इस लेटर पर लिखी बातों के बारे में बताया।

भोपाल-उज्जैन ब्लास्ट मामले में पुलिस ने अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि जांचकर्ताओं ने इस ट्रेन हादसे को एक शौकिया हरकत बताया था, लेकिन साथ ही कहा था कि ब्लास्ट करने का पूरा तरीका आईएस के ऑनलाइन उपलब्ध तरीके से मिलता-जुलता था। ब्लास्ट में इस्तेमाल किया गया पाइप बॉम्ब आईएस की ऑनलाइन उपलब्ध इंग्लिश मैगजीन “हाउ टू मेक बॉम्ब इन किचन ऑफ यॉर मॉम” में बताए गए तरीके से बनाया गया था। ब्लास्ट के बाद अलीगढ़ और कानपुर से संबंध रखने वाले चार लोगों को मध्य प्रदेश के पिपरिया से गिरफ्तार किया गया था। दो लोगों को कानपुर के जजमउ से हिरासत में लिया गया था।

शुरुआती जांच में पता लगा कि आरोपी दानिश, फैजल और इमरान आपस में भाई थे और सैफुल्लाह उनका चचेरा भाई था। सैफुल्लाह को लखनऊ में 12 घंटे चले एनकाउंटर के बाद मार गिराया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि आईएस ने कुछ ग्राफिक इमेज जारी की हैं, जिसमें संकेत मिले है कि भारत में अगला निशाना ताजमहल हो सकता है। यह ग्राफिक इमेज लखनऊ एनकाउंटर के एक हफ्ते बाद जारी की गई हैं।

दिग्विजय सिंह ने लखनऊ एनकाउंटर के बाद मोदी सरकार पर साधा निशाना

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 17, 2017 9:42 am

  1. No Comments.
सबरंग