ताज़ा खबर
 

1 फरवरी शुरू होगा नाटकों का कुंभ

राष्टीय नाट्य विद्यालय आगामी एक फरवरी से विश्व के तीसरे सबसे बड़े अंतरराष्टीय नाट्य महोत्सव भारत रंग महोत्सव का आगाज करने जा रहा है। दिल्ली के अलावा यह महोत्सव इन्हीं दिनों में जम्मू, अमदाबाद, तिरुवनंतपुरम व भुवनेश्वर में भी आयोजित किए जाएंगे
Author नई दिल्ली | January 29, 2016 01:04 am
राष्टीय नाट्य विद्यालय आगामी एक फरवरी से विश्व के तीसरे सबसे बड़े अंतरराष्टीय नाट्य महोत्सव भारत रंग महोत्सव का आगाज करने जा रहा है।

राष्टीय नाट्य विद्यालय आगामी एक फरवरी से विश्व के तीसरे सबसे बड़े अंतरराष्टीय नाट्य महोत्सव भारत रंग महोत्सव का आगाज करने जा रहा है। दिल्ली के अलावा यह महोत्सव इन्हीं दिनों में जम्मू, अमदाबाद, तिरुवनंतपुरम व भुवनेश्वर में भी आयोजित किए जाएंगे। 1 से 21 फरवरी तक नई दिल्ली में जबकि 3 से 14 फरवरी के बीच जम्मू, अमदाबाद, भुवनेश्वर और तिरुवनंतपुरम में समानांतर महोत्सव आयोजित किए जाएंगे।
विश्व भर के बेहतरीन नाटक इस अंतरराष्टीय महोत्सव का हिस्सा बनेंगे। इस बार का भारत रंग महोत्सव पहले की तुलना में ज्यादा भव्य होगा। महोत्सव में विश्व के 10 से ज्यादा देशों के कलाकारों समेत भारत के सभी राज्यों के रंगकर्मी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने एक साथ जुटेंगे। भारत रंग महोत्सव (भारंगम) का एक हिस्सा विश्व थिएटर फोरम होगा, जिसमें कई देशों के मशहूर रंगकर्मी एक साथ आएंगे। रंगमंच के मशहूर कलाकार नाना पाटेकर, मोहन अगाशे, पंकज कपूर, अनुपम खेर, परेश रावल और सौरभ शुक्ला समेत अन्य कलाकार महोत्सव में शरीक होंगे।
इस साल महोत्सव में अमेरिका, आस्ट्रेलिया, इटली, श्रीलंका, पोलैंड, बांग्लादेश, स्पेन, चीन, पाकिस्तान और आॅस्ट्रिया देश शामिल है। इसमें स्विटजरलैंड की मिस कोरीन मेयर, थाइलैंड की मिस पोर्नाट डेमरहंग, सिंगापुर की मिस अमांडा गे मौरिस और स्टेफानॉस रेसिआॅस, ब्राजील के जेका लिगिरियो, अफगानिस्तान के कुर्बान अली, नॉर्वे के हॉकुर जे. गुनार्ससन, न्यूयार्क के क्रिस्टोफर लोआर, श्रीलंका के पुझिता, इटली के निकोला पियानजोला, श्रीलंका के संपत परेरा और इटली की मिस अन्ना डोरा 18वें भारत रंग महोत्सव का हिस्सा बनेंगे। केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और नागिरक उड्डयन राज्य मंत्री डा. महेश शर्मा कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे जबकि नाना पाटेकर समारोह में सम्मानित अतिथि होंगे।

इस साल महोत्सव में सार्थक मुद्दों को उभारने की कोशिश में विभिन्न विषयों पर सेमिनार आयोजित किए जाएंगे, जिसमें रंजीत कपूर, मोहन अगाशे, रामगोपाल बजाज, सुनील शानबाग, सदानंद मेनन व नंद किशोर आचार्य विचार-विमर्श करेंगे। इस साल के भारत रंग महोत्सव में मास्टर क्लास सेशन शुरू किया जाएगा, जिसमें थिएटर जगत की विशिष्ट हस्तियां रंगमंच के विभिन्न पहलुओं से लोगों को रूबरू कराएंगे। इस कार्यक्रम में मशहूर कलाकारों से आमने-सामने मिलने का मौका मिलेगा।

महोत्सव में विश्व थिएटर फोरम के नाम से ग्लोबल पहल के रूप में गोष्ठी आयोजित की जाएगी, जहां थिएटर के जादू को फिर से खोजने पर शैक्षिक चर्चाएं होंगी। इस बार महोत्सव स्थल पर 300 से ज्यादा कार्यक्रम पेश किए जाएंगे। नुक्कड़ नाटकों, संगीत और नृत्य के कार्यक्रमों से इस महोत्सव की शोभा और बढ़ जाएगी।

राष्टÑीय नाट्य विद्यालय के निदेशक प्रोफेसर वामन केंद्रे ने कहा कि यह एक प्लैटफॉर्म है जहां ग्लोबल थिएटर के अंदाज को देखने, जानने और समझने का कलाकारों और दर्शकों के लिए मौका है। नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा सोसाइटी के अध्यक्ष रतन थियम ने कहा कि महोत्सव रंगमंच प्रेमियों के लिए ही नहीं, बल्कि दर्शकों के लिए भी विश्व के बेहतरीन नाटक एक ही जगह देखने का बड़ा मौका है। इन नाटकों का मंचन एनएसडी कैंपस में अभिमंच और ओपन एयर थिएटर में किया जाएगा। इसके अलावा नई दिल्ली के एलटीजी आॅडिटोरियम, कमानी आॅडिटोरियम और श्रीराम सेंटर में भी ये नाटक पेश किए जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.