December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी… इन 10 बातों का सच से नहीं है कोई वास्‍ता, तो क्‍या नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ है प्रोपैगंडा?

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर कई तरह की अफवाहें भी फैल रही है ऐसे में जरूरी है कि आप इनके पीछे का सच जानें।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई लड़की की तस्वीर।

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर लोगों की कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं लेकिन इसी बीच अफवाहों का बाजार खूब गरम है। 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा होने के बाद से ही नए नोटों को जारी करने को लेकर कई तरह की अफवाहें फैल रही हैं और परेशानी की बात यह है कि लोग इन अफवाहों पर यकीन भी कर रहे हैं।

आपके लिए जरूरी है कि आप इन अफवाहों पर यकीन न करें। आइए जानते हैं कि ऐसी कौन-कौन सी अफवाहें हैं जिन पर आपको बिल्कुल भी यकीन नहीं करना चाहिए। पहली अफवाह जो नोटों को लेकर सबसे ज्यादा फैलाई गई वह थी नए नोटों में नैनो जीपीएस चिप होने की अफवाह।

यह बात फैलाई गई कि नए नोटों में जीपीएस चिप है जिससे सैटेलाइट के जरिए नोटों की लोकेशन का पता लगाया जा सकेगा। यह बात झूठ थी और इस अफवाह को खुद देश के वित्त मंत्री अरूण जेटली ने खारिज किया था। नए नोटों में कोई जीपीएस चिप नहीं होगी। इस अफवाह को कुछ टीवी न्यूज चैनलों और अखबारों तक में खबर के तौर पर पेश किया गया था।

दूसरी अफवाह नए नोट के रंग के बारे में फैलाई गई। लोगों को बरगलाने की कोशिश की गई कि नए नोटों का रंग निकल रहा है और ऐसे नोट नकली हैं। यह अफवाह इतनी फैली कि आर्थिक मामलों के वित्त सचिव शक्तिकांत दास ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस पर सफाई दी और बताया कि नोट अगर गीले कपड़े से साफ किए जाने पर रंग छोड़ता है तो इसका मतलब है कि वह असली है।

एक और अफवाह है कि मोदी सरकार जल्द ही बैंक के लॉकरों को सील करेगी और सोना और जेवर जब्त करेगी। यह आफवाह इतनी फैली कि प्रेस इंफॉर्मेश ब्यूरो को ट्वीट कर साफाई देनी पड़ी कि ऐसी किसी अफवाह पर यकीन न करें। इसके बाद यह आफवाह भी खूब फैलाई जा रही है कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी अब एक और घोषणा में 100 और 50 रुपये के नोटों को भी बंद कर बदलेगी।

 

केंद्र सरकार ने ऐसी अफवाहों को भी खारिज किया है। इसके अलावा कुछ अफवाहें क्राइम को लेकर भी फैली हुई हैं। इनमें प्रोपैगंडा किया जा रहा है कि नोटों की कमी के चलते लोग दुकानों को लूट रहे हैं। ऐसी ही एक अफवाह सीलमपुर में एक मॉल के लूटे जाने की भी फैलाई गई जिसे दिल्ली पुलिस ने अपने ट्वीट के जरिए गलत बताया। दिल्ली पुलिस ने और भी कई ट्वीट्स कर कई अफवाहों को खारिज किया।

दिल्ली पुलिस का

नमक वाली अफवाह को भी याद रखना जरूरी है। देश के कई राज्यों में नोटबंदी की घोषणा होते ही नमक 200 रुपये से लेकर 400 रुपये प्रति किलो तक बिक गया था। इस अफवाह को भी देश की वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने खारिज किया और बताया कि देश में नमक की कोई कमी नहीं है। यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने भी नमक की कमी की अफवाह को झूठ बताया था।

निर्मला सीतारमण का ट्वीट

अखिरेश यादव

इसके अलावा एक अफवाह यह भी फैलाई गई कि देश में सिर्फ 2500 एटीएम ही मौजूद है। आखिर में एक और जरूरी अफवाह का जिक्र करना जरूरी है। एक लड़की की फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई जिसमें उस लड़की को उत्तर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य की बेटी बताया गया था।

फर्जी ट्वीट

keshav-maurya-daughter-tweet

फर्जीवाड़े पर सही जानकारी देता एक ट्विटर यूसर

लड़की की फोटो में उसे 2000 रुपये की नई नोटों की गड्डी के साथ दिखा कर यह प्रोपैगंडा किया गया कि बीजेपी के नेता की बेटी के पास नए नोट, बैंकों में पहुंचने से पहले ही पहुंच गए हैं। इस फोटो की भी जब जांच हुई तो यह नकली निकली और केशव प्रसाद मौर्य ने खुद बताया कि उनकी कोई बेटी नहीं है बल्कि दो बेटे हैं, जिनके नाम उन्होंने अपने चुनाव लड़ने के हलफनामें में भी दिए थे।

इसके अलावा ऐसी ही एक और अफवाह सूरत के एक कारोबारी लालजी भाई के बारे में फैलाई गई। यह प्रोपैगंडा किया गया कि लालजी भाई ने 6 हजार करोड़ रुपये सरेंडर किए हैं लेकिन यह खबर भी झूठी निकली। लालजी भाई वही कारोबारी हैं जिन्होंने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का सूट 4 करोड़ रुपये से ज्यादा में खरीदा था।

आज की बाकी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 18, 2016 5:15 pm

सबरंग