June 23, 2017

ताज़ा खबर
 

बाबरी विध्वंस मामले में नाम आना मेरे लिए कलंक नहीं माथे पर तिलक की तरह है: उमा भारती

उमा भारती ने कहा कि मंत्रीपद से इस्तीफा देने का तो सवाल ही नहीं उठता, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि उन्होंने कोई गलत काम किया है।

केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती।

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि उन्हें इस बात की खुशी है कि बाबरी केस में उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने दोषी माना है। उमा भारती ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले को अपने लिए सौभाग्य की बात मानी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बाबरी विध्वंस में उनको दोषी करार देना उनके लिए माथे पर चंदन की तरह है ना कि किसी कलंक की तरह। उमा भारती ने हिंदी न्यूज चैनल आज तक को दिए इंटरव्यू में ये बाते कहीं। बाबरी मस्जिद मामले में लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती सहित 13 नेताओं पर आपराधिक षडयंत्र का मामला चलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (19 अप्रैल) को यह फैसला दिया। इसमें रोजाना सुनवाई होगी। धारा 120 (बी) के तहत मामला चलाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने अभी कल्याण सिंह को इस मामले से बाहर रखा है। क्योंकि वह राजस्थान के गवर्नर हैं। जबतक वह गवर्नर रहेंगे तबतक उनपर कोई केस रजिस्टर नहीं होगा।

उमा भारती ने इंटरव्यू में कांग्रेस समेत विपक्षी दलों के उस मांग को भी साफ खारिझ कर दिया जिसमें वो उनसे मंत्री पद से इस्तीफा देने की बात कर रहे थे। उमा भारती ने कहा कि इस्तीफा देने का तो सवाल ही नहीं उठता, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि उन्होंने कोई गलत काम किया है।

जब उमा भारती से पूछा गया कि क्या एक बार फिर से आप राम मंदिर के लिए किसी तरह के आंदोलन का नेतृत्व करेंगी, तब केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अब तो इसकी जरूरत ही नहीं है। रामजी को वहां पर बिठाया जा चुका है जहां पर उन्हें होना चाहिए। अब सिर्फ वहां पर भव्य मंदिर का निर्माण होना है।

बाबरी मस्जिद पर उमा भारती ने कहा- "कोई भी सजा भुगतने के लिए तैयार हूं"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 20, 2017 6:23 pm

  1. No Comments.
सबरंग