ताज़ा खबर
 

शिवसेना के हमले के बाद टली बीसीसीआई-पीसीबी वार्ता,10 गिरफ्तार

पाकिस्तानी हस्तियों के खिलाफ अपने अभियान को आक्रामक तरीके से जारी रखते हुए शिवसेना के कार्यकर्ता सोमवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के मुख्यालय में घुस गए...
Author मुंबई | October 19, 2015 21:37 pm
मुंबई स्थित बीसीसीआई मुख्यालय के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मी। (पीटीआई फोटो)

पाकिस्तानी हस्तियों के खिलाफ अपने अभियान को आक्रामक तरीके से जारी रखते हुए शिवसेना के कार्यकर्ता सोमवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के मुख्यालय में घुस गए, जिसकी वजह से पाकिस्तान क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड के प्रमुख शहरयार खान के साथ दोनो देशों के क्रिकेट संबंधों को बहाल करने के बारे में होने वाली बातचीत टाल दी गई। पाकिस्तान ने इस घटनाक्रम की आलोचना की है।

प्रस्तावित द्विपक्षीय श्रृंखला पर वार्ता का कार्यक्रम नये सिरे से निर्धारित किया गया है और यह मंगलवार को दिल्ली में होगी। इस घटना ने राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा और शिवसेना के बीच संबंधों में दरार बढ़ा दी है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राव साहेब दानवे ने कहा कि उनकी पार्टी शिवसेना की कार्रवाई से सहमत नहीं है और वह यहां मैच खेले जाने की स्थिति में पाकिस्तानी टीम को सुरक्षा प्रदान कराएगी।

बीसीसीआई मुख्यालय पर प्रदर्शन के बाद शिवसेना की चौतरफा निंदा

इस बीच इस्लामाबाद से मिली खबर के मुताबिक पाकिस्तान की पंजाब प्रांतीय एसेंबली ने एक प्रस्ताव पारित कर शिवसेना के कार्यकर्ताओं की कार्रवाई की आलोचना की और संयुक्त राष्ट्र से पार्टी को ‘‘आतंकवादी संगठन’’ घोषित करने की मांग की।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शिवसेना के 10 कार्यकर्ताओं को गैर कानूनी तरीके से जमा होने और इस तरह की सभा से बचने के पुलिस आयुक्त के आदेश का उल्लंघन करने के आरोपों में गिरफ्तार किया गया। बाद में उन्हें स्थानीय अदालत ने 2000 रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी।

सौ से अधिक शिवसैनिक हाथ में तख्ती लिए नारेबाजी करते हुए बोर्ड के कार्यालय पर पहुंचे। उन्होंने बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर का इस दौरान घेराव किया। बाध्य होकर मनोहर और पीसीबी अध्यक्ष खान के बीच निर्धारित वार्ता स्थगित करनी पड़ी।

आईपीएल अध्यक्ष और बोर्ड के वरिष्ठ पदाधिकारी राजीव शुक्ला ने बताया, ‘‘बातचीत रद्द नहीं की गई है। बातचीत होगी। श्री मनोहर और श्री खान अब शाम को यहां बात करेंगे और मंगलवार को एक अन्य दौर की वार्ता के लिए वह दिल्ली आ रहे हैं।’’

पाकिस्तान और पीसीबी अध्यक्ष के खिलाफ नारेबाजी कर रहे शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मनोहर को घेर लिया और उनसे पड़ोसी देश के साथ कोई संबंध नहीं रखने को कहा। शिवसेना का कहना है कि पाकिस्तान आतंकवाद का प्रायोजक है। काला और भगवा ध्वज लहराते हुए शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मनोहर से जानना चाहा कि क्या वह यहां पीसीबी अध्यक्ष के साथ बैठक करेंगे।

शिवसेना के विभाग प्रमुख पांडुरंग सकपाल ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी दृढ़ है कि दोनों पड़ोसी देशों के बीच कोई क्रिकेट मैच नहीं होना चाहिए। शिवसेना के प्रदर्शन की सहयोगी दल भाजपा ने निंदा करते हुए कहा कि ‘गुंडागर्दी’ के लिए कोई स्थान नहीं है जबकि कांग्रेस ने इसे ‘घृणित’ बताया।

इससे बेपरवाह शिवसेना ने अपनी कार्रवाई को उचित ठहराया। उसने कहा कि वे सिर्फ इस देश की जनता की भावना को परिलक्षित कर रहे हैं क्योंकि वे पाकिस्तान के साथ किसी भी संबंधों के खिलाफ हैं जब तक कि वह आतंकवादी गतिविधियां बंद नहीं कर देता।

इस बीच पाकिस्तान के पंजाब सूबे की प्रांतीय असेंबली में पारित एक प्रस्ताव में शिवसेना कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन की भर्त्सना करते हुए मांग की गई है कि संयुक्त राष्ट्र शिवसेना पर प्रतिबंध लगाए और इसे ‘‘आतंकी संगठन’’ घोषित करे।

एसेंबली ने इस संबंध में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सांसद फैजा मलिक द्वारा पेश किए गए प्रस्ताव को मंजूर किया। प्रस्ताव में कहा गया है कि शिवसेना की गतिविधियों ने भारत में मुसलमानों और अन्य धर्मों के अनुयाइयों की सुरक्षा को खतरे में डाल दिया है।

मनोहर ने खान को दिसंबर में होने वाली बहु प्रतीक्षित क्रिकेट श्रृंखला पर बातचीत के लिए न्योता दिया था।
खान और पीसीबी की कार्यकारी समिति के अध्यक्ष नजम सेठी बातचीत के लिए मुंबई में हैं। दुबई में आईसीसी की बैठक से इतर इससे पहले बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर के साथ प्रस्तावित श्रृंखला पर चर्चा के बाद वो मुंबई आए हैं।

ठाकुर ने उन्हें आश्वासन दिया था कि इस बारे में अंतिम फैसला इस महीने के उत्तरार्द्ध में किया जा सकता है और उन्हें भारत आने के मनोहर के न्योते की जानकारी दे दी थी।

हाल के दिनों में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने भाजपा के पूर्व रणनीतिकार और ऑब्जर्वर रिसर्च फाउन्डेशन के अध्यक्ष सुधींद्र कुलकर्णी के मुंह पर कालिख पोत दी थी। कुलकर्णी ने पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी के पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम को रद्द करने से मना कर दिया था। शिवसैनिकों के इस कदम की राजनैतिक दलों ने घोर निंदा की थी।

इसके अलावा शिवसेना ने मुंबई में पाकिस्तान के जाने-माने गजल गायक गुलाम अली का कंसर्ट रद्द करने के लिए भी आयोजकों को मजबूर कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग
Indian Super League 2017 Points Table

Indian Super League 2017 Schedule