ताज़ा खबर
 

VIDEOS: महिलाओं को सेक्‍स स्‍लेव रखना और उनसे बिना शादी रिश्‍ते बनाना जायज, देखें जाकिर नाइक के विवादास्‍पद बयान

कई देशों में तो उनकी एंट्री भी बैन है। अब भारत के कुछ इस्‍लामिक संगठनों ने भी डॉ नाइक के संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।
Author नई दिल्‍ली | July 10, 2016 17:04 pm
जाकिर नाइक मुंबई आधारित इस्‍लामिक रिसर्च फाउंडेशन के संस्‍थापक हैं। (फाइल फोटो)

इस्‍लामिक प्रचारक डॉ जाकिर नाइक विवादों में हैं। बांग्‍लादेश में एक रेस्‍तरां पर हुए हालिया आतंकी हमले को अंजाम देने वाला एक आतंकी डा नाइक से प्रभावित था। पहले भी कुछ दूसरे आतंकियों ने यह कबूला है कि वो नाइक के भाषणों से प्रभावित थे। नाइक ने कहा है कि उनके फैंस पूरी दुनिया में हैं, लेकिन वे आतंकवाद को बढ़ावा नहीं देते। ऐसा पहली बार नहीं है कि डॉ नाइक सुर्खियों में हैं। उनके कई बयानों की वजह से अच्‍छा खासा विवाद हो चुका है। नाइक के ऐसे कई विवा‍दास्‍पद बयान यूट्यूब पर उपलब्‍ध हैं। कई देशों में तो उनकी एंट्री भी बैन है। अब भारत के कुछ इस्‍लामिक संगठनों ने भी डॉ नाइक के संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।
सेक्‍स स्‍लेव रखना जायज, उनसे संबंध बनाना भी

जाकिर नाइक का कहना है कि महिलाओं को सेक्‍स स्‍लेव बनाना और उनसे बिना शादी के रिश्‍ते रखना जायज है। वीडियो में देखें

READ ALSO: जाकिर नाइक विवाद पर कांग्रेस का जेटली पर निशाना- अब तक क्यों नहीं की चैनल पर कार्रवाई

सानिया मिर्जा के लिबास पर पूछा था-क्‍या हिंदू नेता अपनी बेटियों को स्‍पोर्ट्स में बिकनी पहनने देंगे
सानिया मिर्जा के लिबास पर कुछ मुस्‍ल‍िम धर्म संगठनों की ओर से जारी फतवे पर नाइक ने कहा था कि टेनिस स्‍टार के मुस्‍लिम होने की वजह से उनके कपड़ों की बात होती है। इस्‍लाम के मुताबिक, सानिया के स्‍कर्ट्स और शॉर्ट्स न पहनने की दलील देते हुए जाकिर नाइक ने हिंदू नेताओं पर निशाना साधा था। उन्‍होंने पूछा था कि क्‍या हिंदू नेता बीच बॉलीबॉल जैसे स्‍पोर्ट्स में अपनी बेटियों को बिकनी पहनने देंगे? (हिंदू नेताओं पर जाकिर नाइक के इस बयान को सुनने के लिए 7:15 तक जाएं)

नाइक का मानना है कि इस्‍लाम छोड़कर दूसरा धर्म कबूलने की सजा मौत है। नीचे देखें वीडियो

इस वीडियो में नाईक कहते हैं कि मुस्लिम देशों में किसी अन्य धर्म में विश्‍वास राने वाले को पूजा स्‍थल बनाने की इजाजत नहीं है। इसी वीडियो में वे कहते हैं कि सच्‍चा धर्म सिर्फ इस्‍लाम है, जबकि बाकी धर्म सच्‍चे नहीं हैं।

नाइक मानते हैं कॉन्‍डोम या परिवार नियोजन का इस्‍तेमाल जायज नहीं है।

नाइक ने ओसामा बिन लादेन का समर्थन किया था। उन्‍होंने उसे आतंकी मानने से भी इनकार कर दिया था। इस वीडियो में वे कहते हैं कि अगर ओसामा इस्‍लाम के दुश्‍मनों को डराता है तो वे उसके साथ हैं।

READ ALSO: विवादित इस्‍लामी मौलाना पर सरकार ले सकती है एक्‍शन, जाकिर नाइक बोले- वीडियो से हुई छेड़छाड़

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    ashok rajak
    Jul 8, 2016 at 6:12 am
    ऐसा सिर्फ इस्लाम के साथ नहीं है हिन्दू धर्म के साथ भी यही बात है ,हिन्दू धर्म भी वर्ण व्यवस्था ,जाती वाद से बहार नहीं आ पा रहा है ,क्यों कि हिन्दू धर्म का फंडामेंटल रूल भी वर्ण व्यवस्था से निकलता है। .
    (0)(1)
    Reply
    1. A
      ashok rajak
      Jul 8, 2016 at 6:11 am
      जाकिर नायक की गलती नहीं है इस में इस्लाम के फंडामेंटल रूल में ये सब बातें है। समय के साथ इस्लाम के ठेकेदारों ने परिवर्तन को अपनया होता तो ये नौबत नहीं आती ...आज इस्लाम जैसा सूफी धर्म भी कही खो गया इस कट्टर इस्लाम की काली छाया में !!!और इस छाया में जाकिर नायक जैसी खरपतवार पैदा होने लगी। इस्लाम तो वो था जिसमें अपने मेहबूब में खुदा और खुदा में मेहबूब दिखता था।
      (1)(1)
      Reply
      1. I
        Imran
        Aug 4, 2016 at 8:08 pm
        हो गया हे तू म काफीर लोग क्या जानो इस्लाम के बारे में तुम्हे तो पत्थर पूजने से फुरसत मिले तब तो बन्दर को पूजो और पेड़ को पूजो तुम लोग एहि सब करो
        (0)(0)
        Reply
      2. J
        JaggaramJat
        Jul 7, 2016 at 1:31 pm
        इस आदमी पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय को संज्ञान लेकर तुरंत गिरफदार करना चाहिए ऐसे लोग ही युवा पीढ़ी का दिमाक खराब कर के उन्हें हथियारबंद जेहाद की और ले जा रहे है| ये आदमी खुल्ले आम दूसरे सभी मजहबो व सम्प्रदायों की तुलना करके उन्हें वहाबी इस्लाम से कमतर आंकता है| इसे तुरंत शलाखो के पिच्छे पहुंचाना जरूरी है ये तो आशाराम से भी खरतनाक है इसने बांग्लादेश में कई गैर मुसलमानो को ही नहीं मुसलमानो को भी ईद की नवाज के मोके पर मरवा दिया|
        (2)(0)
        Reply
        1. I
          Imran
          Aug 4, 2016 at 8:16 pm
          जांच तो किया था क्या मिला बाबा जी का ठुल्लू तुम सब हिन्दू लोग डरते हो कायर हो सोचते हो की कही फिर से मुस्लिम हिन्दुओ पर भारी ना पड जाये इस लिए तुम सब ढोंग करते ho
          (0)(0)
          Reply
        2. J
          jawed
          Jul 7, 2016 at 12:11 pm
          जाँच होनी चाइये.
          (1)(0)
          Reply
          1. K
            ks
            Jul 23, 2016 at 4:12 pm
            ये उपद्रवी अल्पसंख्य्क अिस्णु बहुमत में रहते है
            (1)(0)
            Reply
            1. S
              Sajid
              Jul 27, 2016 at 11:11 am
              देश के पाखंडियों के लिए ज़ाकिर नायक एक अभिशाप है क्योंकि उन्होंने उन सभी पाखण्डियों की पोल खोल दी है जो लोग हिदुओं को सिर्फ पुजारियों की पे ठीके रहें के लिए मजबूर किया हुआ था ज़ाकिर नायक ने बुक के रेफरेंस से उन हिंदुओं को उनका सच बताया अब जागरूक हिन्दू अपने पंडों से रेफरेंस मांगते हैं तो उन पाखंडियों का बौखलाना तय है बस ये ही कसूर है ज़ाकिर नायक का दो करोर से ज़्यादा लोग उनको सुनते हैं कोई आतंकवादी क्यों नहीं बन गया वैसे भी जनसंघियों का फार्मूला है के बस किसी तरह मुस्लिमों को बदनाम karo
              (0)(1)
              Reply
              1. A
                Aman
                Jul 28, 2016 at 7:43 am
                तू पहले अपने घर में झांक, जा के ईसिस ज्वाइन कर ले और अपनी १६-१७ साल की उम्र में ो के पास चला जा. हिन्दुओ का रिफरेन्स मांगने से पहले अपनी घटिया मानसिकता को ठीक करो.
                (1)(0)
                Reply
              2. P
                pokhra
                Aug 9, 2016 at 9:03 am
                मीडिया वालों जिंटा भी तुम अपना मुंह नोच लो अपने मुंह पे थप्पर मार लो ..इस्लाम का कुछ बिगर नहीं सकते सच की हमेशा जीत होती है...और मीडिया की जाट झूट से शरू होती है
                (0)(0)
                Reply
                1. S
                  sanjay
                  Jul 23, 2016 at 4:21 pm
                  जाकिर का दिमाग फिर गया है
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. Load More Comments