December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटों पर बैन के बाद शादियों की तारीख बदलने को मजबूर हुए लोग

1000 और 500 रुपये के नोटों पर बैन लगने के बाद से आम लोगों को अपने शादी-ब्याह के कार्यक्रमों में बदलाव करने पड़ रहे हैं।

प्रतिकात्मक फोटो

केंद्र सरकार के 1000 और 500 रुपये के पुराने नोटों पर बैन लगाए जाने बाद से आम लोगों के जिन कामों में परेशानी आ रही है उन में से एक शादी-बारात के कार्यक्रम भी हैं। फैसले के बाद देशभर में कई लोगों ने अपनी शादियों के कार्यक्रम आगे बढ़ा दिए हैं। शादी-बारात की तैयारी में इंतजाम करने से लेकर रिश्तेदारों को नेक देने तक, सभी कामों में नकद राशि का इस्तेमाल होता है लेकिन सरकार के नोटों को बैन करने के बाद से यह सारे काम अटक गए हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के मुताबिक रीता, जो अपनी एक सहेली की शादी की तैयारियों में जुटी है बताती है कि एक मारवाड़ी परिवार में शादी-ब्याह बड़े धूम-धाम से होता है। मेहमानों को तोहफे भी नकद राशि के  रुप में दिए जाते हैं लेकिन सरकार के पुराने नोटों पर बैन के फैसले ने लोगों के इरादों पर पानी फेर दिया है। कई जगहों पर लोगों को केटर्रस, पनडाल वालों और तमाम तरह के खर्चे पूरे करने में मुश्किल हो रही है।

वीडियो: 500 और 1000 रुपए के नोट बंद- मोदी सरकार के फैसले पर क्‍या सोचती है जनता

इसके अलावा लोगों को मैरिज हॉल्स की बुकिंग में भी परेशानी हो रही है। एड्वान्स बुकिंग के लिए लोगों को पैसे चुकाने में मुश्किल हो रही। राजस्थान में भी कई लोगों ने अपनी शादी की तारीख आगे बढ़ा ही हैं। इसके अलावा कई वेडिग प्लैनिंग, इवेन्ट कंपनियों को भी घाटा झेलना पड़ रहा है। एलीट वेडिंग प्लैनिंग के मालिक अलोह मेहता ने जानकारी दी कि उन्होंने गुजरात में एक शादी की तैयारी का इंतजाम किया था लेकिन बेन के फैसले ने उनकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं और कार्यक्रम रद्द भी हो रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 10, 2016 11:48 am

सबरंग