December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी: बाबा रामदेव ने ली चुटकी- भाजपा के कई नेता कुंवारे, इसलिए शादी का सीजन भूल गई मोदी सरकार

बाबा रामदेव ने केंद्र सरकार के शादी वाले पारिवारों को राहत देने वाले फैसले पर चुटकी लेते हुए कहा है कि बीजेपी के कई नेता कुंवारे हैं और शायद इसी वजह से वे भूल गए कि देश में शादियों का सीजन है और नोटबंदी से उन्हें परेशानी हो सकती है।

बाबा रामदेव। (FilePhoto by Neeraj Priyadarshi/Indian Express)

केंद्र सरकार के नोटबंदी की घोषणा करते ही शादी वाले घरों को काफी दिक्कतें हुई हैं। इसीलिए लोगों को राहत पहुंचाने के लिए सरकार ने बीते गुरुवार को उन परिवारों के लिए बैंक से एक बार में ढाई लाख रुपये निकालने की सीमा तय की थी जिन घरों में शादियां होनी हैं।

वहीं इस फैसले पर चुटकी लेते हुए योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि बीजेपी में कई नेता कुंवारे हैं और शायद इसी वजह से वे भूल गए थे कि देश में इस समय शादियों का सीजन चल रहा है। एनडीटीवी न्यूज चैनल के एक टॉक शो में बाबा रामदेव ने यह बात कही है।

बाबा रामदेव ने आगे मजाक के लहजे में कहा कि सरकार के इस फैसले की एक अच्छी बात यह है कि लोग अब दहेज का लेनदेन नहीं कर पाएंगे। केंद्र सरकार के 1000 और 500 रुपये के पुराने नोटों को बैन कर 2000 और 500 रुपये के नए नोट लाने की घोषणा के बाद शादी वाले घरों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

कई बीजेपी नेताओं के कुंवारे होने की बात पर चुटकी लेते हुए बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि सरकार ने अगर यह फैसला 15 दिन या 1 महीने बाद लिया होता तो लोगों को ज्यादा परेशानी नहीं होती। नोटबंदी के फैसले से शादी वाले घरों को बड़ी परेशानियां उठानी पड़ी हैं।

वहीं दूसरी तरफ नोटबंदी का कर्नाटक के नेता और खनन कारोबारी, जो खनन मामले में जेल भी जा चुके हैं, जी जनार्दन रेड्डी की बेटी की शादी पर कोई असर नहीं दिखा। बीते बुधवार को जनार्दन रेड्डी की बेटी ब्राह्मिणी रेड्डी की शादी का भव्य कार्यक्रम
बेंगलुरु पैलस में आयोजित किया गया था।

खबरों के मुताबिक इस शादी में कुल खर्च का लगभग 500 करोड़ रुपये का रहा और नोटबंदी के फैसले का शादी के कार्यक्रम पर कोई असर नहीं दिखा। इसी बात पर विपक्षी दलों ने बीजेपी की बड़ी आलोचना की है।

वीडियो: शीतकालीन सत्र दूसरा दिन: नोटबंदी पर विवाद के कारण लोकसभा और राज्यसभा स्थगित

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 18, 2016 1:39 pm

सबरंग