ताज़ा खबर
 

आदित्‍य नाथ ने सूर्य नमस्‍कार और नमाज को एक जैसा कहा तो बाबा रामदेव ने करके बताया, साथ ही बोले- सीएम बनने के बाद नरम हुए हैं योगी

रामदेव ने कहा कि "योगी जी का 15 साल का जो रुतबा था अब उसमें बहुत बडा़ परिवर्तन आया है। तब वो ज्यादा आक्रामक थे।"
योग गुरु रामदेव। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के सूर्य प्रणाम और नमाज को एक जैसा बताने पर मीडिया में बहस छिड़ गयी है। वहीं बाबा रामदेव ने सीएम योगी आदित्य नाथ के बयान का बचाव करते हुए कहा है कि सूर्य नमस्कार और नमाज एक जैसे ही हैं। बाबा रामदेव ने एक निजी टीवी चैनल पर लाइव सूर्य नमस्कार करके दिखाया और कहा कि टीवी एंकर खुद फैसला कर लें कि नमाज और सूर्य नमस्कार एक हैं कि नहीं? बाबा रामदेव ने कहा कि हिंदू धर्म और इस्लाम दोनों ही एक ही ईश्वर में यकीन रखते हैं और दुनिया के सभी धर्मों का मूल एक है।

बाबा रामदेव ने आज तक के टीवी कार्यक्रम में कहा कि अगर सभी धर्मों के मूल तत्व हमारी पुस्तकों में पढ़ाए जाने लगे तो हमारे देश में मजहबों के नाम पर जो दूरियां हैं वो कम हो जाएंगी। हालांकि कार्यक्रम में आए मौलाना साजिद रशीदी ने सीएम आदित्य नाथ के बयान से असहमति जतायी। उन्होंने भी टीवी पर नमाज से जुड़े क्रियाएं करके दिखाया और कहा कि दोनों में बहुत अंतर है।

योगी आदित्य नाथ बुधवार (29 मार्च) को लखनऊ स्थित मुख्यमंत्री आवास में रहने के लिए आए। बाबा रामदेव उनके पहले मेहमान थे। रामदेव ने टीवी कार्यक्रम में सीएम आदित्य नाथ की कट्टर छवि पर भी टिप्पणी की और कहा कि वो पहले जैसे आक्रामक नहीं रहे। रामदेव ने कहा कि “योगी जी का 15 साल पहले जो रुतबा था अब उसमें बहुत बडा़ परिवर्तन आया है। तब वो ज्यादा आक्रामक थे।”

आदित्य नाथ के सीएम बनने के बाद यूपी में दिए गए तमाम आदेशों की तरफ इशारा करते हुए बाबा रामदेव ने कहा, “वो (आदित्य नाथ) किसी पर कोई चीज थोपेगे नहीं, बहुत समझदारी से काम करेंगे।”

सीएम योगी आदित्य नाथ ने बुधवार को योग महोत्सव के कार्यक्रम में कहा कि सूर्य नमस्कार और नमाज समान हैं। योगी ने कहा कि दोनों की मुद्राएं एक जैसी हैं। सीएम आदित्य नाथ ने कहा, ‘अगर आप सूर्य नमस्कार करते हुए देखेंगे तो आपको यह वैसे ही लगेगा, जैसे मुस्लिम नमाज पढ़ते हैं।” सीएम आदित्य नाथ ने योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय बनाने का श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी को दिया। सीएम आदित्य नाथ ने कहा कि योग किसी जाति, धर्म, उम्र और लिंग का मोहताज नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग