ताज़ा खबर
 

आजम खान बोले- बाबरी मस्जिद के बाद अब ताजमहल की बारी, उसी तरह डायनामाइट से उड़ा देंगे

आजम खान ने कहा है कि ताजमहल का टूटना तय है।
सपा नेता आजम खान। (File Photo)

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने ताजमहल पर चल रहे विवाद के बीच एक नया बयान दिया है। आजम खान ने कहा है कि बाबरी मस्जिद की तरह ताजमहल को भी डायनामाइट से उड़ा दिया जाएगा। साथ ही कहा कि यह लीपापोती इसलिए हो रही, क्योंकि पूरी दुनिया का दबाव है। टीवी चैनल टाइम्स नाउ से बात करते हुए आजम खान ने कहा, ‘पूरे देश में जिस तरह का माहौल बाबरी मस्जिद टूटने और ढहाने से पहले बना था। यह माहौल एक दिन में नहीं बना था, यह माहौल कई वर्षों तक चला। इंसाफ पसंद लोगों को याद होगा कि सुप्रीम कोर्ट का स्टे था, हाईकोर्ट का स्टे था, उस वक्त के यूपी के मुख्यमंत्री का कोर्ट में हलफनामा था, लेकिन इसके बाद भी 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद को डायनामाइट से उड़ा दिया गया।’

साथ ही उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि आज जो भी लीपापोती हो रही है, वह इसलिए हो रही है क्योंकि पूरी दुनिया का दबाव है। यह एक ऐतिहासिक स्मारक है और पूरी दुनिया का सातवां अजूबा है। सिर्फ दुनिया के दबाव की वजह से ताजमहल बचा हुआ है। ताजमहल को डायनामाइट से उड़ाना है। पीएनओ की किताब में जो कुछ भी लिखा गया है, उन सब पर फासिस्ट ताकतों ने अमल किया। आरएसएस ने उस पर अमल किया। उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि यहां शिवजी का मंदिर था। अगर मंदिर के नाम पर बाबरी मस्जिद को उड़ा दिया गया तो कोई भी इबादतगाह या इमारत नहीं बच सकती।’

बता दें, हालही में भाजपा विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को भारतीय संस्कृति के नाम पर ‘धब्बा’ बताया था। साथ ही उन्होंने कहा था कि इसे हिंदुओं को सर्वनाश करने वालों ने बनाया था। ऐसे में यह इतिहास में क्यों दर्ज है। हम इतिहास बदलने जा रहे हैं। इसके बाद एक नया विवाद खड़ा हो गया। कुछ लोग संगीत सोम के पक्ष में आ गए तो वहीं कुछ लोग उनके खिलाफ बोलने लगे। हालांकि, उनकी योगी सरकार ने उनके बयान के किनारा कर लिया। भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि यह उनका व्यक्तिगत बयान था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Oct 18, 2017 at 6:30 pm
    जैसे अफगानिस्तान में बामियान बुद्ध को बारूद से उड़ाने वाले , तत्कालीन तालिबान हुक्मरानों का तख्तापलट और सर्वनाश हुआ ! ठीक वैसा ही हाल , हिन्दोस्तान की उन फासिस्ट ताक़तों का होगा जो ताजमहल को तोड़ने के सपने देख रही हैं !
    (2)(0)
    Reply