ताज़ा खबर
 

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट में सुब्रमण्यम स्वामी की अर्जी पर सुनवाई अगले सप्ताह

भाजपा नेता ने इससे पहले विवादित स्थल पर मंदिर निर्माण की अनुमति के लिये अर्जी दायर की थी।
Author नई दिल्ली | November 18, 2016 17:12 pm
भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी (फाइल फोटो)

उच्चतम न्यायालय अयोध्या मंदिर विवाद प्रकरण में भाजपा नेता सुब्रमणियन स्वामी की उस अर्जी पर अगले सप्ताह विचार के लिए शुक्रवार (18 नवंबर) को सहमत हो गया कि आखिर क्यों इस मामले की सुनवाई रोजाना होनी चाहिए। प्रधान न्यायाधीश तीरथ सिंह ठाकुर और न्यायमूर्ति अनिल आर दवे की पीठ के समक्ष स्वामी ने इस अर्जी पर शीघ्र सुनवाई का अनुरोध किया। इस पर न्यायालय ने उनकी अर्जी अगले सप्ताह के लिये सूचीबद्ध करने का आदेश दिया। स्वामी ने कहा कि शीर्ष अदालत अयोध्या विवाद से संबंधित मामले में पहले ही उन्हें पक्षकार बना चुकी है और चूंकि यह मामला साढ़े पांच साल से भी अधिक समय से लंबित है, इसलिए अब इसकी रोजाना सुनवाई होनी चाहिए। पीठ ने कहा कि वह स्वामी को सुनना चाहती है कि इस मामले की रोजाना सुनवाई क्यों होनी चाहिए। शीर्ष अदालत ने 26 फरवरी को स्वामी को अयोध्या विवाद से संबंधित लंबित मामले में हस्तक्षेप की अनुमति दे दी थी। स्वामी अयोध्या में गिराये गये विवादित ढांचे के स्थल पर राम मंदिर का निर्माण की अनुमति चाहते हैं।

भाजपा नेता ने इससे पहले विवादित स्थल पर मंदिर निर्माण की अनुमति के लिये अर्जी दायर की थी और इस पर शीघ्र सुनवाई के लिए प्रधान न्यायाधीश के समक्ष इसका उल्लेख भी किया था। स्वामी ने अपनी याचिका में दावा किया था कि इस्लामिक देशों में प्रचलित परंपराओं के अनुसार सड़क निर्माण सहित विभिन्न सार्वजनिक उद्देश्यों के लिए मस्जिद को अन्यत्र स्थानांतरित किया जा सकता है जबकि एक बार मंदिर का निर्माण हो जाये तो उसे हाथ भी नहीं लगाया जा सकता है। उन्होंने राम जन्म भूमि- बाबरी मस्जिद स्थल के विवाद पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय के तीन न्यायाधीशों की पीठ के 30 सितंबर, 2010 के फैसले को चुनौती देने वाली तमाम याचिकाओं का शीघ्र निपटारा करने का निर्देश देने का भी अनुरोध किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग