December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

पूर्व सैनिक ने सुसाइड से पहले की थी बेटे से फोन पर बात, सामने आया ऑडियो, कहा था- हमारे साथ हुआ अन्याय

ओआरओपी की मांग पूरी नहीं होने पर पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी।

दिल्‍ली में वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर सुसाइड करने वाले पूर्व सैनिक का आईडी कार्ड।

ओआरओपी के लिए हरियाणा के रहने वाले एक पूर्व सैनिक ने मंगलवार को दिल्ली में सुसाइड कर लिया। सुसाइड से पहले राम किशन ग्रेवाल नाम के इस पूर्व सैनिक ने अपने बेटे से फोन पर बात की थी। इस बातचीत में उन्होंने अपने बेटे को जहर खा लेने की बात कही थी। इस बातचीत का बुधवार को ऑडियो सामने आया है। ऑडियो न्यूज चैनल आज तक ने प्रसारित किया है। ऑडियो में ग्रेवाल अपने बेटे से कह रहे हैं, ‘मैंने जहर खा लिया है और इंडिया गेट पर बैठा हूं। मैंने तीन-चार सल्फास की गोलियां खाई हैं। हमारे साथ अनर्थ हुआ है। हमारे जवानों को न्याय नहीं मिला। हमारे जवानों के साथ जो अनर्थ और अन्याय हो रहा है, वह देखा नहीं गया। हम लोगों ने अपनी लड़ाई लड़ी। अब आगे ये जवान जानें कि क्या करेंगे और क्या नहीं। हम अपने उसूलों के आदमी हैं। मेरे जवानों, देश और मातृभूमि के लिए अपनी जान न्यौछावर कर दी है।’ पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल हरियाणा के भिवानी जिले के बामला गांव के रहने वाले थे। राम किशन हरियाणा सरकार के पंचायत विभाग में भी कार्यरत थे।

वीडियो में देखें- OROP को लेकर पूर्व सैनिक के सुसाइड पर चढ़ा सियासी पारा

इस घटना के बाद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। उन्‍होंने ट्वीट किया, ‘बहुत दुखद। सैनिक सीमा पर बाहरी दुश्‍मनों से और अंदर अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। पूरे देश को उनके अधिकारों के लिए खड़ा होना चाहिए। इसका मतलब प्रधानमंत्री जी झूठ बोल रहे हैं की OROP लागू कर दिया। OROP लागू हो जाता तो राम किशन जी को क्यों आत्महत्या करनी पड़ती? मोदी राज में किसान और जवान दोनों आत्महत्या कर रहे हैं।’

यहां सुने ऑडियो-

इसके बाद बुधवार को दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पूर्व सैनिक के परिवार से मिलने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचे थे। लेकिन पुलिस ने उन्हें वहां हिरासत में ले लिया। इसके बाद दिल्ली की सीएम अरविंद केजरीवाल अस्पताल सैनिक परिवार से मिलने पहुंचे। लेकिन उन्हें भी पीड़ित परिवार से नहीं मिलने दिया गया। केजरीवाल अस्पताल के बाहर कई घंटों तक इंतजार करते रहे। बाद में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अस्पताल के बाहर धरना देकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस ने आप कार्यकर्ताओं को भी अपनी हिरासत में ले लिया। वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी सैनिक के परिवार से मुलाकात करने पहुंचे थे, लेकिन उन्हें भी नहीं मिलने दिया गया। बाद में पुलिस ने राहुल गांधी को हिरासत में ले लिया। राहुल गांधी को दो घंटे अपनी हिरासत में रखने के बाद पुलिस ने छोड़ दिया था। लेकिन राहुल गांधी शाम को दोबारा से सैनिक परिवार से मिलने पहुंचे थे, पुलिस ने उन्हें दोबारा अपनी हिरासत में ले लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 2, 2016 7:52 pm

सबरंग