December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

सारे एटीएम से नहीं निकाल पाएंगे एक बार में 2500 रुपए, बैंक से निकाल सकते हैं 24 हजार

Withdrawal Limit in ATM: करेंसी के पुराने नोटों को बदलने में जनता के सामने आ रही परेशानियों को देखते हुए वित्त मंत्रालय ने कुछ जरूरी कदम उठाएं हैं।

2000 रुपए का नया नोट। (File Photo)

करेंसी के पुराने नोटों को बदलने में जनता के सामने आ रही परेशानियों को देखते हुए वित्त मंत्रालय ने कुछ जरूरी कदम उठाएं हैं। वित्त सचिव शक्तिकांत दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी है कि देश में बनी स्थिति से निपटने के लिए 2 लाख बैंक कर्मचारी काम में लग हुए हैं। उन्होंने एक जरूरी जानकारी यह भी दी कि अब एक-दो दिन से बैंकों के अलावा एटीएम से भी नए 2000 रुपए और 500 रुपए के बड़े नोट लोग निकाल पाएंगे। इसके अलावा लोगों को बेहतर सुविधा देने के लिए डाक घरों की व्यवस्था को भी मजबूत बनाया जाएगा।

साथ ही वित्त सचिव ने यह जानकारी भी दी कि बड़ी तादाद में बैंकों में मौजूद माइक्रो एटीएम को भी सामान्य एटीएम की तरह इस्तेमाल में लाया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने ग्रामीण इलाकों में बैंकों के नेटवर्क को मजबूत करने की बात भी कही है। वित्त सचिव ने यह घोषणा भी की कि जनता की परेशानी को कम करने के लिए हमने बैंकों से एक दिन में 10 हजार रुपए की कैश लिमिट को बढ़ाकर 24 हजार रुपए एक दिन तक कर दिया है। इसके अलावा उन्होंने दिहाड़ी मजदूरों और ई-बैंकिंग सेक्टर की समस्याओं के बारे में भी जरूरी जानकारियां दीं।

साथ ही आज से लागू होने वाले कदमों के बारे में शक्तिकांत दास ने बताया कि 500 और 1000 के जो पुराने नोट पहले 14 नवंबर की रात तक मान्य थे वह अब 24 नवंबर की रात तक मान्य कर दिए गए हैं। पुराने नोट सरकारी हॉस्पिटल, पेट्रोल पंप पर मान्य होंगे। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (14 नवंबर) की देर रात अपने सीनियर मंत्रियों के साथ इन मालमों को लेकर मीटिंग की थी। प्रधानमंत्री आवास पर हुई उस मीटिंग में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू, ऊर्जा और खनन मंत्री पीयूष गोयल के अलावा वित्त मंत्रालय के बाकी सीनियर लोग मौजूद थे। मीटिंग में यही अहम फैसले हुए थे जिनकी घोषणा आज वित्त सचिव ने की।

 

नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम मोदी ने देर रात बुलाई बैठक; 24 नवंबर तक चलेंगे 500-1000 रुपए के पुराने नोट

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 14, 2016 11:55 am

सबरंग