ताज़ा खबर
 

फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े संघ आए ‘पद्मावती’ के समर्थन में, सरकार की चुप्पी पर उठाया सवाल

संवाददाता सम्मेलन में मौजूद फिल्म निर्माता सुधीर मिश्र ने कहा कि संजय लीला भंसाली पर हमला रचानात्मक स्वतंत्रता पर एक हमला है।
Author मुंबई | November 13, 2017 21:06 pm
पद्मावती एक दिसंबर को रिलीज होने वाली है।

कई फिल्म संघ सोमवार को निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ के समर्थन में आगे आए और फिल्म की रिलीज के खिलाफ राजपूत समूहों की ओर से दी जाने वाली धमकियों पर सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाया। द इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन (आईएफटीडीए) के साथ ही सिने एंड टीवी आर्टिस्ट्स एसोसिएशन (सीआईएनटीएए), वेस्टर्न इंडिया सिनेमैटोग्राफर्स एसोसिएशन (डब्ल्यूआईसीए), स्क्रीनराइटर्स एसोसिएशन (एसडब्ल्यूए), एसोसिएशन आफ सिने एंड टेलीविजन आर्ट डायरेक्टर्स एंड कास्ट्यूम डिजाइनर्स (एसीटीएडीसीडी) ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में भंसाली का समर्थन किया।

संवाददाता सम्मेलन में मौजूद फिल्म निर्माता सुधीर मिश्र ने कहा कि भंसाली पर हमला रचानात्मक स्वतंत्रता पर एक हमला है। जब इतिहास की व्याख्या का सवाल आता है तो आप उनसे असहमत हो सकते हैं लेकिन कम से कम फिल्म को रिलीज तो होने दीजिए। रोक की मांग करके आप एक ऐसा माहौल निर्मित कर रहे हैं, जहां कोई भी भारतीय इतिहास पर फिल्म बनाने का प्रयास नहीं करेगा।’’ राजपूत और भाजपा के कुछ सदस्यों ने भंसाली पर फिल्म में तथ्यों को तोड़ मरोड़कर दिखाने का आरोप लगाया है। दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह अभिनीत यह फिल्म एक दिसम्बर को रिलीज होनी है।

अभिनेता एवं सीआईएनटीएए के महासचिव सुशांत सिंह ने कहा कि इस बिंदु पर सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए। सिंह ने सवाल किया, ‘‘संजय लीला भंसाली ने हमें यह संवाददाता सम्मेलन करने के लिए नहीं कहा था। हम सभी निराश, नाराज और परेशान हैं। कब तक हमारी बिरादरी के सदस्य फिल्म बनाने के लिए अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की मांग करते रहेंगे? हमें ऐसे मूलभूत अधिकार के लिए हमेशा संघर्ष क्यों करना पड़ता है?’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरा सवाल राज्य और केंद्र सरकार के लिए है। आप चुप क्यों हैं? आपकी पार्टी के लोग खुलेआम थिएटर जलाने की धमकी दे रहे हैं। मुझे सरकार से एक आश्वासन मांगने का अधिकार है।’’

आईएफटीडीए के संयोजक एवं फिल्मनिर्माता अशोक पंडित ने कहा कि उद्योग को एक ऐसे बिंदू पर धकेल दिया गया है जहां वे प्रताड़ित महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 16 नवम्बर को भंसाली के समर्थन में यहां फिल्म सिटी द्वार के बाहर एक मूक विरोध प्रदर्शन होगा।
पंडित ने कहा, ‘‘पूरी फिल्म बिरादरी पूर्वाह्न 11 बजे बाहर आएगी। भंसाली के समर्थन के प्रतीक के तौर पर शाम चार से सवा चार बजे तक कोई शूटिंग नहीं होगी।’’ उन्होंने यह भी कहा कि संघ कल सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखेंगे।

भंसाली के साथ फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ में काम कर चुके अभिनेता विक्रम गोखले ने कहा कि फिल्ममेकर एक जिम्मेदार व्यक्ति होता है और उसके दृष्टिकोण पर विश्वास किया जाना चाहिए। गोखले ने कहा, ‘‘मैं निजी सेंसरशिप के खिलाफ हूं। मैंने भंसाली के साथ काम किया है। यदि उन्होंने कोई गलती भी की है, आपके पास अपना विचार व्यक्त करने के लिए कलम और मीडिया मंच है। लेकिन सेट पर तोड़फोड़ करना, हिंसा में लिप्त होना अत्यंत मूर्खता है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.