December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल बोले- कलिखो पुल छोड़कर गए हैं कुछ ऐसे नोट्स जो राजनीति में ला देंगे भूचाल

अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल के पद से इस्तीफा देने के बाद ज्योति प्रसाद राजखोवा ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री कालिखो पुल सुसाइड करने से पहले 60 पन्नों के कुछ 'सीक्रेट नोट्स' छोड़कर गए थे जो भारतीय राजनीति में 'भूचाल' ला सकते हैं।

Author October 26, 2016 11:17 am
अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल ज्योति प्रसाद राजखोवा और पूर्व मुख्यमंत्री कालिखो पुल। (Source: File/PTI)

अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल के पद से इस्तीफा देने के बाद ज्योति प्रसाद राजखोवा ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री कालिखो पुल सुसाइड करने से पहले 60 पन्नों के कुछ ‘सीक्रेट नोट्स’ छोड़कर गए थे जो भारतीय राजनीति में ‘भूचाल’ ला सकते हैं। राजखोवा ने कहा कि उन्होंने भी उन नोट्स को नहीं देखा है। कलिखो पुल को जुलाई में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री का पद छोड़ना पड़ा था। उन्हें हटाकर फिर से नबाम टुकी को राज्य का मुख्यमंत्री बना दिया गया था। इस घटनाक्रम के एक महीने बाद ही पुल अपने घर में मृत पाए गए थे। राजखोवा जिन्होंने सिंतबर में अपना पद छोड़ा है उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को बताया वह पुल की मौत की वजह जानने के लिए सीबीआई जांच चाहते थे। राजखोवा ने कहा, ‘पुल ने अपनी मौत से पहले एक लंबा पत्र लिखा था, वह 60 पन्नों का था। उसे पुल ने ‘मेरे विचार’ नाम दिया था। उसकी चार कॉपियां मिली थी जिन्हें पुलिस के हवाले कर दिया गया था। वह अब भी पुलिस के पास हैं या फिर उन्हें कोर्ट को सौंप दिया गया है यह मैं नहीं जानता।’

वीडियो: अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल का दावा; कुछ ऐसे ‘सिक्रेट नोट्स’ छोड़ गए हैं कालिखो पुल जो राजनीति में भूचाल ला देंगे

 

राजखोवा ने बताया कि नोट्स में पुल ने भ्रष्टाचार के ऊपर काफी कुछ लिखा था। राजखोवा के मुताबिक, पुल ने कई राजनेताओं के बारे में लिखा था जिनके पास पहले पैसे नहीं थे लेकिन बाद में वे करोड़पति हो गए थे। राजखोवा ने यह भी कहा कि वह पुलिस के जांच करने के तरीके से खुश नहीं थे। उन्होंने बताया कि केस की जांच में एक सब इंस्पेक्टर को लगा रखा था जबकि मुख्यमंत्री की मौत के केस में एसपी या फिर डीएसपी को लगाया जाना चाहिए था। राजखोवा के बात उठाने के बाद अब के मुख्यमंत्री पेमा खांडु ने आईजीपी लेवल के ऑफिसर को जांच में लगाया था।

Read Also: कलिखो पुल: 11 साल की उम्र में भी खुदकुशी करने पुल पर चले गए थे अरुणाचल के पूर्व सीएम

वहीं इस मामले पर बात करते हुए अरुणाचल प्रदेश के डीजीपी नित्यानंदन ने कहा, ‘हम लोग जांच की रिपोर्ट को देख रहे हैं। हालांकि, 60 पेजों के नोट्स को अभी नहीं देखा गया है। पुल की डायरी पंचनामा का हिस्सा थी। वह मजिस्ट्रेट को सौंप दी गई थी।’

वीडियो: Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 7:41 am

सबरंग