ताज़ा खबर
 

BJP नेताओं के निशाने पर अरुण शौरी

विरोधियों की आलोचना पर बौखलाहट तो समझ आ सकती है पर अपनों की बेबाक राय को भी नहीं सह पाना पार्टी नेताओं की असहिष्णुता का परिचायक है।
Author May 4, 2015 11:09 am
अरुण शौरी बनाम भाजपा (एक्सप्रेस फ़ोटो)

विरोधियों की आलोचना पर बौखलाहट तो समझ आ सकती है पर अपनों की बेबाक राय को भी नहीं सह पाना पार्टी नेताओं की असहिष्णुता का परिचायक है।

इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति भक्तिभाव दिखाने की प्रवृत्ति का भी सबूत मिलता है। कबीर ने आलोचक को मित्र समझ कर साथ रखने की सलाह दी थी पर भाजपा नेताओं को कबीर की सलाह कतई नहीं भाती।

पीयूष गोयल ने जहां शौरी को पदलोलुप साबित करने की कोशिश की है, वहीं दूसरों को भी चेताया है कि जो शौरी की राह चलेगा, उसकी भी इसी अंदाज में निंदा करेंगे।

यह भी पढ़ें: अपनों की खरी-खरी सहने का भी माद्दा नहीं भाजपा नेताओं में

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    suresh k
    May 4, 2015 at 3:56 pm
    अरुणजी ने बालको बेच कर भरी नाम कमाया था , ये चुप ही रहे तो बेहतर होगा | निठल्ले कही के
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग