ताज़ा खबर
 

राहुल के आरोपों पर जेटली का पलटवार, कहा-यूपीए सरकार में दहाई के आंकड़े में थी महंगाई दर

राहुल ने कहा था कि वो तारीख बताएं, जब चीजों के दाम कम हो जाएंगे। इसके जवाब में जेटली ने कहा, 'महंगाई कम करने की तारीख नहीं, बल्कि इसे कम करने की नीतियों को बताना जरूरी है।
Author नई दिल्ली | July 28, 2016 17:07 pm
लोकसभा में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली। (PTI Photo / TV GRAB/File)

महंगाई पर काबू न करने और उचित कदम न उठाने से जुड़े राहुल गांधी के आरोपों का संसद में गुरुवार को जवाब वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने दिया। राहुल ने कहा था कि वो तारीख बताएं, जब चीजों के दाम कम हो जाएंगे। इसके जवाब में जेटली ने कहा, ‘महंगाई कम करने की तारीख नहीं, बल्कि इसे कम करने की नीतियों को बताना जरूरी है। हमारी सरकार ने दाल की पैदावार बढ़ाने के लिए नीतियों में बदलाव किया। महंगाई घटाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।” जेटली ने कहा कि दाल की कीमतों में आई उछाल के लिए उसमें भ्रष्‍टाचार ढूंढना सही नहीं है। जेटली ने कहा, ‘यह तो विडंबना है कि आज दो साल मोदी सरकार के होने के बावजूद जो भी भ्रष्‍टाचार के मामले सामने आ रहे हैं, वो यूपीए सरकार के हैं। हमने दो डिजिट में महंगाई दर मिली थी। हमें इसे नियंत्रण करने में कामयाबी मिली।”

जेटली ने कहा, ”अगर आप दाल की एमएसपी बढ़ा देंगे, लेकिन दाल की पैदावार न हो या बरसात न हो तो क्‍या होगा। बीते दो साल हमारे अर्थव्‍यवस्‍था पर वजन रहे हैं। अच्‍छी बारिश नहीं हुई। इस देश में 23 मिलियन टन दाल की जरूरत है। जो पैदावार हुई वो 17 मिलियन टन थी। जो यह 6 मिलियन टन कम है, वो हम दुनिया से खरीदते हैं। पिछले दो साल में दुनिया के बाजार में दाल की कमी रही है। और ज्‍यादा गंभीर हालात हो गई तो कुछ व्‍यापारियों ने हाल की जमाखोरी शुरू दी। सरकार को कड़ी कार्रवाई करनी पड़ी, जिसके बाद दाल के दाम कुछ हो गए।”

क्रूड ऑयल पर भी दी सफाई

राहुल ने आरोप लगाया था कि क्रूड ऑयल की कीमतें कम होने का फायदा आम जनता को नहीं पहुंचाया गया। इस पर जेटली ने कहा, ..”आज कई बार जिक्र आया। करुणाकरण जी ने कहा कि हम टैक्‍स लगा रहे हैं। आप केरल से हैं। हमने कम से कम फूड प्रोडक्‍ट्स पर टैक्‍स नहीं लगाए। कुछ ऐसे राज्‍य भी हैं, जो समोसे पर भी टैक्‍स लगा रहे हैं। अगर हम पेट्रोलियम की कीमत को लेकर किए गए जिक्र की बात करें तो यह सही है कि क्रूड ऑयल की कीमतें घटी हैं। इंडिया ने कैसे इसका इस्‍तेमाल किया। हम किस परिस्‍थ‍िति में थे कि दुनिया की प्रतिष्‍ठ‍ित मैगजीन्‍स कह रहे थे कि ब्रिक्‍स देशों में से भारत बाहर हो जाएगा। देश की हालत ऐसी थी कि बैंकिंग सिस्‍टम की अर्थव्‍यवस्‍था को सपोर्ट करने की हालत नहीं थी। इस हालत में कोई सरकार छोड़कर जाती है। सोचिए क्‍या हालात थे। पूरे दुनिया में इकोनॉमी मंद थी। ब्‍याज दरें ऊपर थी। मुद्रा स्‍फीर्ति ऊपर थी। इस हालत में देश की अर्थव्‍यवस्‍था को संभालना था, उसके लिए जरूरी था कि जहां जहां से सपोर्ट मिले, उन संसाधनों का इस्‍तेमाल करें। जहां तक क्रूड ऑयल की कीमतों का सवाल है तो हमने इसका तीन तरीके से इस्‍तेमाल किया। इसके तहत, सरकारी कंपनियों को घाटा नहीं होने दिया। इसके बाद, दूसरा हिस्‍से को बतौर फायदा कस्‍टमर को दिया गया। तीसरे हिस्‍से को टैक्‍स पूल दिया गया। जिन डीजल और पेट्रोल का इस्‍तेमाल करके कस्‍टमर कार चलाता है, उसे इसी तीसरे पार्ट के सहारे हाइवे दिए गए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    M.L.Bherota
    Jul 28, 2016 at 11:47 am
    आंकड़ों की जादूगरी से अपनी पीठ ठोंकने से सच्चाई नहीं बदल सकती है वित्त मंत्री जी. अगर तुलना करनी है तो पूर्व और वर्तमान की महंगाई दरों की एक ही फार्मूले और एक ही आधार वर्ष मान कर कीजिये , सच्चाई सामने आ जायेगी. और सच्चाई यह है की गरीब व्यक्ति को आज परिवार के लिए दो जून की रोटी जुटाना मुश्किल हो रहा है. दो वर्षों में महंगाई तीव्र गति से बढ़ी है.
    (1)(0)
    Reply
    1. S
      santosh
      Jul 29, 2016 at 2:15 am
      दिशा भूल कर रहे है जेटली
      (0)(0)
      Reply
      1. Samresh Bhardwaj
        Jul 29, 2016 at 4:51 am
        राहुल का दिमाग ी जगह नहीं हैं . शायद पाँव के तलवे में हैं
        (0)(0)
        Reply
        1. Santosh San
          Jul 28, 2016 at 3:44 pm
          सच्चाई छुप नहीं सकती, बनावट के उसूलों से की विकास आ नहीं सकता , कभी झुो से , में इंतज़ार करून , तेरे 15 लाच का , लेकिन झूठ है वादा वादा वादा , वादा वादा पे तेरे मार गया, बन्दा में सीधा साधा वादा वादा ..
          (0)(1)
          Reply
          1. R
            raj singh
            Jul 29, 2016 at 6:57 am
            जो लोग ये बात बोल रहे सैयद उनको ये पता नही ह की देश म दाल की खपत २३ मिलियन टन ह और पिछली साल केवलं १५ मिलियन टन दाल की पैदावार हुयी सूखे की वजह से और यही नही पुरे वर्ल्ड म दाल की मारामारी ह सूखे की वजह से ...और जो बन्द देश के टुकड़े टुकड़े करने वालो के साथ खड़ा होक तालिया बजाता ह आप लोग उसके वसमर्थन म बाटे बोल रहे उसका विरोध करने की बजाय उसका समर्थन क्र रहे ह ....जिनकीं वजह से आज देश उइतने े दौर से गुजर रहा ह आप लोग उनको सुप्पोर्ट क्र रहे ह ....कैसे देशवासी और कैसे हिन्दू ह आप लोग ...
            (0)(0)
            Reply
            1. R
              raj singh
              Jul 29, 2016 at 7:03 am
              जिस नेहरू की वजह से हम १९६२ का युद्ध हर गए जिनकी वजह से आज जो वीटो पावर इंडिया का होना चाहिए था वो चीन को दिल दिया गया और वो आज पाकिस्तान के साथ मिल के हमारे सारे मनसूबे को फ़ैल क्र रहा ह जो हमे u.n.s.c. aur n.s.g. का सदस्य नही बनने दिए वो यही गाँधी नेहरू जिनकी वजह से आज हम कारिदों के घाटे नम ह देश के ऊपर करोडो का कर्ज ..मोदी जी को आये तो २ साल हुए वः और वो क्या कुछ नही क्र हे हैं हमारे देश के लिए और आप लोग ऐसी बाते बोल रहे हो .सरम करो की आज देश एक अच्छे और मजबूत हांथो म ह नही तो अब तक देश गुलाम
              (0)(0)
              Reply
              1. R
                raj singh
                Jul 29, 2016 at 7:11 am
                मोदी जी अच्छे नेता ह अच्छा काम क्र रहे ..उनको सपोर्ट करिये ...उनका सारा काम हमारे हित म ह ..और देश को वर्ल्ड पावर बनाने की ह ...उनको हमारे सपोर्ट की जरूरत ह ....साडी पार्टिया आज बी.जे.पि के विरोध म ह .क्योंकिं ६० सालो तक सभी न लूट ह देश का पैसा सब न मजा मार ह ...करोडो करोडो के घोटाले हुए ह और अब उनको वो करने को नही मिल रहा ह क्योंकि देश म अब ईमानदार सर्कार ह जो देस हित म ह और ये बात हर हिंदुस्तानी जनता ह ....जय हिन्द जय भारत
                (0)(0)
                Reply
                1. R
                  raj singh
                  Jul 29, 2016 at 7:05 am
                  हो गया होता तो सैयद आप लोग इतनी बड़ी बड़ी बाते न बोल पते ...पूरा इतिहास और सच्चाई जानिए फिर बात काकरिये किसी पार्टी को सपोर्ट मत करिये ...देश को सपोर्ट करिये और देश के हित म काम करने वालो को सपोर्ट करिये ..जय हिन्द जय भारत
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. Load More Comments