ताज़ा खबर
 

अरूण जेटली: Black Money पर हमारे पास अपने सबूत और तथ्य भी हैं

भारत ने कहा कि स्विस बैंक खातों में काला धन जमा करने वाले भारतीय नागरिकों को लेकर उसके पास स्वतंत्र साक्ष्य हैं तथा स्विट्जरलैंड ने इस संदर्भ में शीघ्र ही सूचना साझा करने का वादा किया है। यहां विश्व आर्थिक मंच की बैठक से इतर अपनी स्विस समकक्ष एवेलिने विदमर स्कलम्फ से मुलाकात के बाद […]
Author January 22, 2015 09:19 am
काले धन पर हमारे पास अपने सबूत भी हैंः जेटली

भारत ने कहा कि स्विस बैंक खातों में काला धन जमा करने वाले भारतीय नागरिकों को लेकर उसके पास स्वतंत्र साक्ष्य हैं तथा स्विट्जरलैंड ने इस संदर्भ में शीघ्र ही सूचना साझा करने का वादा किया है।

यहां विश्व आर्थिक मंच की बैठक से इतर अपनी स्विस समकक्ष एवेलिने विदमर स्कलम्फ से मुलाकात के बाद वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा कि भारत के पास स्वतंत्र साक्ष्य हैं। स्विट्जरलैंड ने वादा किया है कि वह इन मामलों पर शीघ्र कदम उठाएगा।

जेटली ने कहा कि स्विट्जरलैंड काले धन के उन मामलों में शीघ्रता से सूचना साझा करने पर सहमति जताई है जहां स्वतंत्र साक्ष्य प्रस्तुत किए जाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि विवरण के स्वत: आदान-प्रदान से अवैध धन की समस्या पर काबू करने में मदद मिलेगी। जेटली ने कहा कि दोनों ने उन मापदंडों पर चर्चा की जिनके आधार पर स्विट्जरलैंड स्वतंत्र साक्ष्य प्रस्तुत किए जाने के बाद अपने यहां के बैंक खातों में अवैध धन पर विवरण प्रदान कर सकता है। पिछले साल अक्तूबर में दोनों देशों ने कर संबंधी मामलों पर सहयोग के संदर्भ में एक सहमति वाले साझा बयान पर हस्ताक्षर किए थे।

स्विट्जरलैंड का स्पष्ट रूख है कि चोरी के विवरण पर आधारित सूचना को दूसरे देश के साथ साझा नहीं किया जाएगा लेकिन स्वतंत्र साक्ष्य के मामले में वह ऐसे आग्रह पर विचार करेगा। अपनी स्विस समकक्ष से करीब 40 मिनट की मुलाकात के बाद जेटली ने संवाददाताओं से कहा, ‘उस समझौते के साथ आगे बढ़ते हुए मेरी उनके साथ विस्तृत बैठक हुई कि स्वतंत्र साक्ष्य के क्या मापदंड हो सकते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘निश्चित तौर पर, हमारे कर अधिकारी रात-दिन काम कर रहे हैं। वे सभी आकलन को पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं और वे सबूत एकत्र करने का प्रयास कर रहे हैं। सूची में शामिल कई लोगों ने पहले ही स्वीकार कर लिया है कि उनके खाते थे।’ वित्त मंत्री ने कहा, ‘अब हमारे पास स्वतंत्र साक्ष्य और तथ्य उपलब्ध है। इसलिए उस तथ्य के साथ स्विट्टजरलैंड के पास वापस आना पड़ा जिसके आधार पर हम सूचना प्राप्त कर सकते हैं।’

जेटली के अनुसार स्विट्जरलैंड ने भरोसा दिया है कि इस तरह के स्वतंत्र सूचना के आधार पर ‘वे सहयोग करेंगे।’ भविष्य में काले धन की समस्या को रोकने के उपायों के बारे में जेटली ने कहा कि वैश्विक समुदाय सूचना के स्वत: आदान-प्रदान की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

उधर, जेटली के साथ मुलाकात के बाद स्विस वित्त मंत्री एवेलिने ने कहा, ‘हमारे बीच बेहतरीन मुलाकात हुई। भारत के साथ बहुत सहयोग के अवसर हैं।’ काले धन के मुद्दे पर बातचीत के विवरण के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों ने बातचीत को आगे बढ़ाने पर सहमति जताई है। उन्होंने कहा, ‘हमने बातचीत और सहयोग को बढ़ाने पर सहमति जताई है। हर चीज का सार्वजनिक रूप से खुलासा नहीं किया जा सकता लेकिन हमारी मुलाकात बेहतरीन रही।’ इससे पहले दिन में जेटली ने कहा था कि वह अपनी स्विस समकक्ष के साथ काले धन के मुद्दे पर चर्चा करेंगे।
बैठक ‘ मेक इन इंडिया’ लाउंज में हुयी और उन्हें दार्जिलिंग चाय पेश की गयी।

 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. G
    GAUTAM SHAH
    Jan 22, 2015 at 12:19 pm
    Read News in Gujarati at : Visit New Portal for Gujarati News :� :www.vishwagujarat/
    (0)(0)
    Reply
    1. V
      VIJAY LODHA
      Jan 23, 2015 at 11:56 am
      हर परिवार को पंद्रह लाख रूपये मिल सकते हैं, इस बात ने ही लोगों को आशान्वित कर दिया था. पैसा भले ही न मिले लेकिन पुलकित कर देने वाला भ्रम तोड़िएगा मत..बन्दानवाज.
      (0)(0)
      Reply