ताज़ा खबर
 

वीडियो में सेना की जीप पर बंधा दिख रहा शख्स आया सामने, बताया पूरा मामला

जम्मू कश्मीर में आर्मी जिस शख्स को अपनी जीप के आगे बांधकर परेड करती नजर आ रही थी उस शख्स की पहचान हो गई है।

UBEER NAQUSHBANDI। जम्मू कश्मीर में आर्मी जिस शख्स को अपनी जीप के आगे बांधकर परेड करती नजर आ रही थी उस शख्स की पहचान हो गई है। जिस शख्स के साथ वह सब हुआ उसका नाम फारुख अहमद डार है। 26 साल के फारुख ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वह पत्थर फेंकने वालों में शामिल नहीं है। उसने कहा, ‘मैं कभी भी पत्थर नहीं फेंके, मैंने अपनी पूरी जिंदगी में पत्थर नहीं उठाया, मैं तो शॉल पर कढ़ाई करने का काम करता हूं, साथ ही थोड़ी बहुत कारपेंट्री करता हूं। मुझे बस यही आता है।’ उस घटना के बाद से फारुख बड़ा परेशान है। उसने डर की वजह से शिकायत भी नहीं की। शिकायत ना करने की बात का जिक्र करते हुए फारुख ने कहा, ‘गरीब लोग हैं, क्या करेंगे शिकायत।’

फारुख ने बताया कि वह अपनी 75 साल की मां के साथ अकेला रहता है। फारुख की मां को अस्थमा है। उन्होंने फारुख की बात से सहमति जताते हुए कहा, ‘हमें किसी जांच की जरूरत नहीं है, हम गरीब लोग हैं, मैं इसको खोना नहीं चाहती, मेरे बुढ़ापे का यह अकेला सहारा है।’

फारुख ने बताया कि वह वीडियो 9 अप्रैल का है। फारुख के मुताबिक, उस दिन आर्मी ने उसको सुबह 11 बजे पकड़ा और तकरीबन चार घंटे तक तकरीबन 25 किलोमीटर तक ऐसे ही घुमाया। फारुख ने बताया कि उस दिन वह अपने कुछ साथियों के साथ एक रिश्तेदार के घर जा रहा था जिसकी श्रीनगर में मौत हो गई थी। तब रास्ते में आर्मी ने उसकी मोटरसाइकिल रोक ली और उसको जीप से बांधकर आगे बैठा दिया। फारुख के मुताबिक, आर्मी ने उसको मारा भी था। उसके बाद उसको आसपास के 9 गांवों में घुमाया गया।

फारुख ने बताया कि उसकी छाती पर एक सफेद कागज लगाकर उसपर फारुख का नाम लिखा गया था। साथ ही जीप में बैठे आर्मीवाले चिल्ला रहे थे कि अब अपने किसी पर पत्थर फेंक कर दिखाओ। फारुख के मुताबिक, उसकी ऐसी हालत देखकर कोई पास आने की हिम्मत नहीं कर पा रहा था और सब वहां से भाग रहे थे। फारुख ने बताया कि चार बजे के करीब उसको आर्मी कैंप में ले जाया गया जहां उसको मारा-पीटा नहीं गया। वहां उसको चाय पिलाई गई और फिर उसके गांव के सरपंच के हवाले कर दिया गया।

इस पूरी घटना में फारुख के हाथ में चोट आई है। फारुख के मुताबिक, उसकी वजह से वह अपना रुका हुआ काम पूरा नहीं कर पाएगा। कश्मीर के दोनों ही वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं। जिस वीडियो में CRPF के जवान की पिटाई हो रही है उसको सही बताते हुए जांच के आदेश दे दिए गए हैं। फारुख को बोनट पर बैठाकर घुमाती आर्मी के वीडियो की भी जांच हो रही है। जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इसपर दुख जताया था। पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने भी यह वीडियो शेयर किया था।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Ashok
    Apr 16, 2017 at 3:04 pm
    Lekin mahbuba mufti ne crpf jwano ki pitai ka video share nhi kiya.. Kyoki wah v kewal dikhawati h.. :(
    (0)(0)
    Reply
    1. S
      Suraj
      Apr 16, 2017 at 9:53 am
      Janshata I am a common person. I love my nation and your reporting is antination. I am going to block u. I pray people like u must be banned.
      (0)(0)
      Reply
      1. J
        jaggi
        Apr 15, 2017 at 4:25 pm
        If at all we suppose he is right than this is what will happen to innocent people where no-one comes forward to stop the stone thrower. Army is not fool, they know in today's world media is playing a more -ve role than ve reporting. So they will not touch the innocent people.
        (0)(0)
        Reply
        1. Rohit Pawar
          Apr 15, 2017 at 11:44 am
          Cheap military is just a money eating group. Thousands of hectare land is stolen by enemies but just cry foul every time for expensive weapons at the cost of hard working tax payers money.
          (0)(0)
          Reply
          1. F
            Farhan Ahmad
            Apr 15, 2017 at 12:36 pm
            Tu hai kya deshdrohi
            (0)(0)
            Reply
            1. i
              indian(ncr)
              Apr 15, 2017 at 3:43 pm
              Hey a anti national , remember one thing you safe here till Army otherwise become slave of s. Tell how much you kind of people tax to government but I can say yes I am Tax payers. But we cannot expect from a JNU scholars.
              (0)(0)
              Reply
              1. T
                Tera Baap
                Apr 15, 2017 at 4:35 pm
                Bhai hindi mein hi bol le jab angreji nhi aati hai toh...kyun ghor pa kr rha hai
                (0)(0)
              2. K
                Kv
                Apr 16, 2017 at 12:03 am
                Rohit tere jaise dogle k karan hi Apni Army badnam hoti hai,Army m tere jaise nhi hai.tu sabke saamne bolega kya ki tu dogla hai,nhi bolega na.waise hi ye Kashmiri hai.
                (0)(0)
                Reply
              3. N
                Nikhil
                Apr 15, 2017 at 10:04 am
                He try to become innocent we all know that they all are stone thrower's . A go start by army keep it up now try with 4 stone thrower's at every side of jeep
                (0)(0)
                Reply
                1. Load More Comments