ताज़ा खबर
 

नशामुक्त होगा छत्तीसगढ़, तम्बाखू पर प्रतिबंध लगाने के लिए बनेगी ठोस कार्य योजना

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में तंबाखू पर प्रतिबंध लगाने के लिए अधिकारियों को ठोस कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चंदरदाकर ने विभागीय अधिकारियों को जन-स्वास्थ्य की दृष्टि से तम्बाखू पर प्रतिबंध लगाने के लिए ठोस कार्य योजना बनाने के निर्देश […]
Author August 19, 2015 18:01 pm

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में तंबाखू पर प्रतिबंध लगाने के लिए अधिकारियों को ठोस कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चंदरदाकर ने विभागीय अधिकारियों को जन-स्वास्थ्य की दृष्टि से तम्बाखू पर प्रतिबंध लगाने के लिए ठोस कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार ने तम्बाखू मिश्रित गुटखा और पान मसाला पर पहले ही प्रतिबंध लगा दिया है। अब सरकार की मंशा है कि व्यापक जनहित में तथा लोगों के स्वास्थ्य की अधिक बेहतरी के लिए तम्बाखू पर भी प्रतिबंध लगाने के बारे में गंभीरता से विचार किया जाए।

उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि पूर्व में लगाए गए प्रतिबंध के अनुसार राज्य में कहीं भी तम्बाखू मिश्रित गुटखा और पान मसाला की बिक्री न होने पाए। अधिकारियों ने बताया कि चंदरदाकर ने स्वास्थ्य, परिवार कल्याण और चिकित्सा शिक्षा विभाग की तीन दिवसीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश दिए।

चद्रंरदाकर ने बैठक में आयुष विभाग से संबंधित अस्पतालों में उपचार की व्यवस्था, अधोसंरचना, स्टाफ, दवाईयों की उपलब्धता, पैथोलॉजी सुविधा, आयुष चिकित्सा संस्थाओं (आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी चिकित्सा आदि) से संबंधित मेडिकल कॉलेजों में सुविधाओं की स्थिति, मान्यता की स्थिति आदि के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली।

उन्होंने खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अन्तर्गत अधिनियम के अनुसार व्यवस्था, खाद्य पदार्थों तथा दवाओं की नियमित जांच, नमूना संग्रहण, प्रयोगशाला की व्यवस्था, अभियोजन प्रकरणों की स्थिति, मेडिकल कॉलेजों में पढ़ाई की व्यवस्था, भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) से मान्यता के नियमों के अनुरूप अधोसंरचना, स्टाफ, उपकरण, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल पाठ्यक्रम आदि की स्थिति की भी समीक्षा की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.