ताज़ा खबर
 

आडवाणी के विरोध पर भारी पड़ा मोदी-आरएसएस का समर्थन, अमित शाह फिर बनेंगे भाजपा अध्‍यक्ष

भाजपा अध्‍यक्ष के लिए शाह का नाम लंबे समय से चल रहा था लेकिन यह इतना आसान भी नहीं था। आरएसएस नेताओं, शाह, मोदी और संगठन सचिवों की कई दौर की बैठकों के बाद इस बारे में फैसला हुआ।
Author नई दिल्‍ली | January 21, 2016 09:03 am
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा समर्थन हासिल है।

अमित शाह भाजपा अध्‍यक्ष के रूप में अपनी दूसरी और पहली पूर्ण पारी 24 जनवरी से शुरु करेंगे। वर्तमान में वे राजनाथ सिंह के गृहमंत्री बनने के बाद अध्‍यक्ष पद पर बैठे थे। भाजपा सूत्रों का कहना है कि शाह की नियुक्ति से मोदी के विकास और हिंदुत्व की राजनीति का नमूना है। शाह की दूसरी पारी ऐसे समय में शुरु होगी जब भाजपा और वे खुद बिहार चुनावों में मिली शिकस्‍त से उबर रहे हैं।

Read Also: ISIS ने दी Republic Day पर मोदी, अमित शाह समेत जैसे कई BJP नेताओं को बम से उड़ाने की धमकी

मोदी के करीबी शाह चाहते हैं कि पार्टी केन्‍द्र सरकार की योजनाओं जैसे नमामि गंगे, स्‍वच्‍छ भारत और बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ पर और अधिक सक्रिय हो। वहीं चुनावी मोर्चे पर उन्‍हें अगले दो साल में होने वाले चुनावों के लिए पार्टी को तैयार करना है। असम, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल और पुडुचेरी में इस साल अप्रैल-मई में चुनाव होने हैं जबकि उत्‍तर प्रदेश, पंजाब, उत्‍तराखंड, गोवा और मणिपुर में 2017 में वोट डाले जाने हैं।

Read Also: हेट स्‍पीच केस में अमित शाह को क्लीनचिट, पुलिस ने कहा- कोई सबूत नहीं मिला

भाजपा अध्‍यक्ष के लिए शाह का नाम लंबे समय से चल रहा था लेकिन यह इतना आसान भी नहीं था। आरएसएस नेताओं, शाह, मोदी और संगठन सचिवों की कई दौर की बैठकों के बाद इस बारे में फैसला हुआ। लाल कृष्‍ण आडवाणी के नेतृत्‍व में पार्टी के वरिष्‍ठ नेताओं ने शाह की काबिलियत पर सवाल उठाए थे। शाह के खिलाफ औसत लोगों को पार्टी में लेने और पार्टी नेताओं की उपेक्षा करने जैसी शिकायतें थी लेकिन जमीनी स्‍तर पर कैडर से जुड़ने की क्षमता शाह के पक्ष में गई। सूत्रों ने बताया कि, मोदी और आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने फैसला किया कि शाह का अध्‍यक्ष बने रहना पार्टी के पक्ष में होगा।

Read Also: संघ ने बचाई अमित शाह की कुर्सी, पर भारी पड़ रहे भाजपाई सीएम, टीम में नहीं रखवाने दे रहे मनपसंद लोग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग