ताज़ा खबर
 

एंबुलेंस का ड्राइवर नहीं था मौजूद, बांस में बांध कर ले जाना पड़ा शव

पोस्टमार्टम कराने के लिए महेश कौल के परिवार ने डेड बॉडी को जिला अस्पताल ले जाना चाहा लेकिन नगर पालिका ने कहा कि एंबुलेंस का ड्राइवर मौजूद नहीं है।
एंबुलेंस का ड्राइवर ना होने की वजह से बांस में बांधकर ले जाना पड़ा शव (Photo source- ANI)

मध्य प्रदेश के सीधी जिलें में स्वास्थ्य विभाग के लचर रवैये की वजह से एक परिवार को बांस से बांध कर शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाना पड़ा। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मध्य प्रदेश के सीधी जिले के कोतवाली क्षेत्र में एक शख्स की मौत हो गई थी। इस शख्स के परिवार वालों ने जब डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल ले जाना चाहा तो वहां नगर पालिका की ओर से एंबुलेंस ही नहीं मिला। लेकिन एंबुलेंस ना देने के लिए नगर पालिका ने जो तर्क दिया उसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे। नगर पालिका का कहना था कि एंबुलेंस को चलाने के लिए कोई ड्राइवर ही मौजूद नहीं है लिहाजा एंबुलेंस डेड बॉडी को लेकर अस्पताल नहीं जा सकती है।

खबरों के मुताबिक सीधी जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र में महेश कौल नाम के व्यक्ति की अचानक मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम कराने के लिए महेश कौल के परिवार ने डेड बॉडी को जिला अस्पताल ले जाना चाहा लेकिन नगर पालिका ने ड्राइवर ना होने का हवाला देकर इससे इनकार कर दिया। इसके बाद मृतक के परिजनों ने बांस से डेड बॉडी को बांधा और बीच बाजार से लेकर पोस्टमार्टम हाउस तक पहुंचे। इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में नगर पालिका के रवैये को लेकर काफी गुस्सा है। बता दें कि नगर पालिका का काम प्रसव, मौत, गंभीर बीमारी के दौरान पोस्टमार्टम मुहैया कराना है, लेकिन शायद ही लोगों को ये सरकारी सुविधाएं मिल पाती है।

बता दें कि पिछले साल ओडिशा से भी ऐसी ही एक दिल दहला देने वाली खबर आई थी। जब एंबुलेंस ना मिलने पर दाना मांझी नाम के एक आदिवासी ने अपनी पत्नी का शव कंधे पर लेकर 12 किलोमीटर तक गया था। इस खबर के सामने आने के बाद राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय में काफी हंगामा हुआ था, और ओडिशा सरकार के स्वास्थ्य नीतियों की आलोचना हुई थी।

वीडियो: आदिवासी व्यक्ति अपनी मां के शव को रिक्शा पर लादकर ले गया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.