ताज़ा खबर
 

सीएम हाउस शुद्धिकरण पर अखिलेश यादव का तंज- आने दीजिए 2022, सत्ता में लौटकर गंगाजल से धुलवाऊंगा 5 केडी मार्ग

अखिलेश यादव एक बार से अपने कार्यकाल के काम का हवाला दिया और योगी आदित्य नाथ सरकार को निशाना बनाया। अखिलेश ने कहा, 'सीएम कहते हैं कि वे हमसे एक साल बड़े हैं, हम कहते हैं काम में बहुत पीछे हैं, वो उम्र में हमसे बड़े हो सकते है।'
5 कालिदास मार्ग स्थित मुख्‍यमंत्री आवास का पुरोहितों द्वारा शुद्धिकरण कराया गया था। (Source: PTI)

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम ने अखिलेश यादव ने योगी आदित्य नाथ पर सीएम बनने के बाद पहली बार हमला किया है। अखिलेश ने आज (25 मार्च) लखनऊ में कहा, ‘2022 के चुनाव आने दीजिए मैं यूपी में फिर सरकार बनाऊंगा और गंगा जल लाकर सीएम हाउस धुलवाऊंगा।’ विधानसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद पार्टी की समीक्षा बैठक में शिरकत करने के बाद अखिलेश ने पत्रकारों को कहा कि मुझे सीएम हाउस शुद्धिकरण का कोई अफसोस नहीं है। योगी आदित्य नाथ ने सीएम हाउस में पहले हवन करवाया था इसके बाद ही उन्होंने वहां से अपने काम काज की शुरुआत की थी। अखिलेश ने भरोसा जताया कि 2022 में जनता उन्हें फिर से जनादेश देगी और तब वे सीएम हाउस 5 केडी मार्ग को धुलवाने के गंगाजल मंगवाएंगे। अखिलेश ने नये सीएम से गुजारिश की सीएम हाउस में जिन मोर पक्षियों ने अपना बसेरा बनाया है उनका वे ध्यान रखें।

अखिलेश यादव यहीं नहीं रुके, राज्य में नयी सरकार के सफाई अभियान पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता था कि मेरे अधिकारी इतना अच्छा झाड़ू लगाते हैं अगर पता होता तो मैं उनसे जरूर सफाई करवाता।’ बता दें कि सीएम बनने के बाद आदित्य नाथ ने सभी सरकारी परिसरों को स्वच्छ और दागमुक्त बनाने का निर्देश दिया है। पूर्व सीएम ने राज्य सरकार पर एक जाति विशेष के पुलिस अफसरों के तबादले का आरोप भी लगाया। अखिलेश यादव एक बार से अपने कार्यकाल के काम का हवाला दिया और योगी आदित्य नाथ सरकार को निशाना बनाया। अखिलेश ने कहा, ‘सीएम कहते हैं कि वे हमसे एक साल बड़े हैं, हम कहते हैं काम में बहुत पीछे हैं, वो उम्र में हमसे बड़े हो सकते है।’

2012 में सत्ता संभालने वाले अखिलेश यादव को इस बार के विधानसभा चुनाव करारी हार का सामना करना पड़ा है। विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन किया था, अखिलेश ने राहुल गांधी के प्रचार भी किया था, लेकिन इस साथ को यूपी के लोगों ने पसंद नहीं किया था। और उनकी पार्टी सत्ता से बाहर हो गई थी।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- ''भाजपा बिना पक्षपात के समाज के सभी वर्गों के भलाई के लिए काम करेगी''

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Mar 25, 2017 at 5:20 pm
    अखिलेश यादव ! बाप मौलाना मुलायमसिंह ,निर्दोष और निहत्थे रामभक्त कारसेवकों पर गोलियां चलवाकर ,अयोध्या की गलियों को पहले ही खून से धुलवा चुका है ,अब तू गंगाजल से क्या धुलवायेगा ? तेरे एम् वाय समीकरण का खेल अब ख़तम हुआ .अब तो अयोध्याजी मे रामजन्मभूमि पर भव्य राममंदिर का निर्माण होगा और तू अपने बाप मौलाना मुलायमसिंह के साथ गंगा मे डूब मरना ! और हाँ, अपने समधी चाराचोर लालूप्रसाद यादव को भी साथ ले लेना क्योंकि उसने समस्तीपुर,बिहार मे माननीय लालकृष्ण अडवाणीजी का रामरथ रोक था !
    (0)(0)
    Reply
    1. K
      kripashankar
      Mar 26, 2017 at 12:14 am
      aap ki bahsha bahut pasand aayee .....aaap ki mataji ko shat shat pranaam jinhon se aap ne yeh seekha
      (0)(0)
      Reply