December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

लालू यादव ने चाचा-भतीजे को मिलवाया, अखिलेश यादव ने छुए शिवपाल यादव के पैर

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने शिवपाल यादव और अखिलेश यादव का हाथ पकडकर मिलाने की कोशिश की तो अखिलेश ने झुक कर चाचा के पैर छू लिये।

Author लखनऊ | November 5, 2016 17:55 pm
यूपी के सीएम अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव के साथ पार्टी के सिल्वर जुबली कार्यक्रम में। (PTI Photo)

क्या तल्खियां दूर होती दिखीं ? राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने आज चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश का हाथ पकडकर मिलाने की कोशिश की तो अखिलेश ने झुक कर झट चाचा के पैर छू लिये। सपा के रजत जयंती समारोह में हिस्सा लेने आये पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौडा ने भी शिवपाल और अखिलेश के हाथ विजयी मु्रदा में उठवाकर लोगों का अभिवादन किया। चाचा शिवपाल ने जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण के लिए भतीजे की जमकर तारीफ की। उन्होंने अपने स्वागत भाषण में साफ किया कि वह मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते। मुख्यमंत्री के रूप में अखिलेश ने अच्छा काम किया है। साथ ही कहा, ‘‘जो सपा का काम नहीं करेगा, उसे पद पर नहीं रहना चाहिए। पद उसी के पास रहना चाहिए जो ईमानदारी से काम करे और जिसके मन में त्याग की भावना है।’’ शिवपाल सपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं।

वीडियो: समाजवाद पर भारी परिवारवाद!

उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से स्पष्ट कहा कि अनुशासनहीनता किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी उल्लेखनीय है कि हाल ही में सपा के भीतर चाचा भतीजे के बीच घमासान हो चुका है और सार्वजनिक रूप से दोनों के बीच की तल्खियां जनता ने देखी। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य मंत्रिपरिषद में कैबिनेट मंत्री रहे शिवपाल सिंह यादव को बर्खास्त कर दिया था। शायद यही दर्द शिवपाल ने बयां करने की कोशिश की। उन्होंने कहा, ‘‘पद मिले ना मिले। मैं इसलिए कहना चाहता हूं कि पद से बडा कोई व्यक्ति नहीं होता। लोहिया और जयप्रकाश नारायण पर कोई पद नहीं था। हम आप उन्हीं के आदशो’ पर चलेंगे। उनसे प्रेरणा लेंगे।’’

वीडियो: लालू यादव ने चाचा-भतीजे को मिलवाया, अखिलेश यादव ने छुए शिवपाल यादव के पैर 

UP CM Akhilesh Yadav यूपी के सीएम अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव के पैर छूते हुए। (PTI Photo)

उन्होंने कहा, ‘‘हम भरोसा दिलाते हैं कि कोई भी त्याग करना पडे या कुर्बानी करना पडे लेकिन हमेशा नेताजी :मुलायम सिंह यादव: के आदेश का पालन होगा। चाहे मुझे बिना पद के रहना पडे। मैं एक कार्यकर्ता के रूप में काम करने को तैयार हूं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 5, 2016 2:01 pm

सबरंग