ताज़ा खबर
 

अजमेर शरीफ दरगाह के पीर ने की नरेंद्र मोदी की दस्‍तारबंदी, पीएम बोले- जियारत के लिए जल्‍द आएंगे

काजमी पीएम मोदी के बुलावे पर नई दिल्‍ली आए थे और उन्‍होंने प्रधानमंत्री के साथ लोकसभा कार्यालय में मुलाकात की।
Author नई दिल्‍ली | May 4, 2016 03:04 am
अजमेर शरीफ दरगाह प्रतिनिधिमंडल ने पीएम मोदी की दस्तारबंदी की और उन्‍हें दरगाह का तबर्रुक भी भेंट किया। (फोटो सोर्स- टि्वटर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (2 मई) को अजमेर शरीफ दरगाह के पीर सैयद फख्र काजमी चिश्ती के साथ नई दिल्‍ली में मुलाकात की। पीएम मोदी ने अपने टि्वटर अकाउंट पर एक तस्‍वीर भी पोस्‍ट की है, जिसमें वह अजमेर शरीफ दरगाह प्रतिनिधिमंडल के साथ साफा पहने खड़े नजर आ रहे हैं। खबर है कि ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह के पीर सैयद फख्र काजमी चिश्ती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दरगाह पर जियारत का निमंत्रण भी दिया है।

Read Alsoविदेश दौरों पर महंगे होटल नहीं, Air India-One में सोते हैं PM Modi, जानें और खास बातें

काजमी पीएम मोदी के बुलावे पर नई दिल्‍ली आए थे और उन्‍होंने प्रधानमंत्री के साथ लोकसभा कार्यालय में मुलाकात की। इस दौरान दरगाह प्रतिनिधिमंडल ने पीएम मोदी की दस्तारबंदी की और दरगाह का तबर्रुक उन्‍हें भेंट किया। प्रतिनिधिमंडल में शामिल सैयद रागिब चिश्ती ने मोदी को शॉल भेंट की।

Read AlsoPHOTOS: PM बनने के बाद मोदी ने दिए ये 10 सरप्राइज

काजमी ने बताया कि पीएम मोदी ने उन्हें आश्वस्त किया है कि वह जल्द ही अजमेर शरीफ आने वाले हैं। काजमी के साथ गए प्रतिनिधिमंडल में काजमी और रागिब के अलावा सैयद अख्तर रजा चिश्ती, सैयद अकरम हुसैन चिश्ती और सैयद जीशान चिश्ती आदि शामिल थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अप्रैल 2015 में अजमेर शरीफ दरगाह पर चढ़ाने के लिए चादर भेजी थी। पीएम की ओर से केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने यह चादर चढ़ाई थी। आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी जब गुजरात के सीएम थे, तब सद्भावना के कार्यक्रम में एक मौलाना ने उन्‍हें टोपी पहनाने की कोशिश की थी। उस वक्‍त मोदी ने इनकार कर दिया था। इस मुद्दे को लेकर काफी बहस हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.