ताज़ा खबर
 

रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने एम्स के इस डॉक्टर की जमकर तारीफ की, सुनकर हर भारतीय को होगा गर्व

साल 2015 में रचना भट्ट ने इमरजेंसी मेडिसिन विभाग में बतौर जूनियर रेजिडेन्ट एम्स ज्वाइन किया था।
भारत की रचना भट्ट ने एंटीबॉयोटिक रेसिस्टेन्ट फाइटिंग पर अपना आइडिया रखा था, जिसे सुनकर व्लादिमीर पुतिन काफी प्रभावित हुए।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली की एक जूनियर डॉक्टर ने पूरे देश का नाम रौशन किया है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने उसकी तारीफ की है। दरअसल, रचना भट्ट नाम की यह जूनियर डॉक्टर उन 12 लोगों में शामिल थीं, जो रूसी राष्ट्रपति के सामने अपने आइडिया शेयर करने के लिए कुल 185 देशों के 24,000 प्रतिभागियों में से चुनी गई थीं। पिछले महीने, 21 अक्टूबर को रूस में 19वां वर्ल्ड फेस्टिवल ऑफ यूथ एंज स्टूडेन्ट्स का आयोजन किया गया था। इसी दौरान चुने गए 12 प्रतिभागियों को रूसी राष्ट्रपति के सामने अपने-अपने आइडियाज रखने थे। इन 12 लोगों को फेस्टिवल के दौरान ‘फ्यूचर टीम’ के टैग से भी सम्मानित किया गया।

भारत की रचना भट्ट ने एंटीबॉयोटिक रेसिस्टेन्ट फाइटिंग पर अपना आइडिया रखा था, जिसे सुनकर व्लादिमीर पुतिन काफी प्रभावित हुए। उन्होंने अपने संबोधन में रचना के आइडिया की तारीफ की। भट्ट ने बताया कि हालांकि सुरक्षा कारणों से रूसी राष्ट्रपति से उसका वन टू वन कम्यूनिकेशन नहीं हो सका लेकिन उन्होंने संदेश भिजवाया कि उनके आइडिया से वो प्रभावित हैं और उसकी तारीफ कर रहे हैं।

भट्ट ने कहा, “मैं दुनिया भर के बैद्धिक युवाओं के साथ बातचीत करने का यह शानदार अवसर देने के लिए रूस को धन्यवाद देती हूं, खासकर मैं उस टीम को धन्यवाद करती हूं जिसने हमारी दूरदर्शिता की पहचान की। हमने वहां एंटीबायोटिक प्रतिरोध और उसके बढ़ते खतरों और बेवजह इसके बढ़ते इस्तेमाल को नियंत्रित करने और उसके विभिन्न हितधारकों के बीच समन्वय सुनिश्चित करने पर चर्चा की है।”

बता दें कि साल 2015 में रचना भट्ट ने इमरजेंसी मेडिसिन विभाग में बतौर जूनियर रेजिडेन्ट एम्स ज्वाइन किया था। इस साल उसे मेडिकल फ्रैटरनिटी ने पूरी दुनिया के तीन सौ डाक्टरों के बीच चुना था। रचना ने राष्ट्रपति पुतिन के सामने करीब 90 सेकेंड का प्रजेंटेशन दिया था। वह कर्नाटक के मनिपाल की रहनेवाली हैं। उन्होंने बताया कि कई टीम ने करीब सप्ताह भर उन्हें इस बात की ट्रेनिंग दी थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.