ताज़ा खबर
 

अगस्ता पर तृणमूल ने कांग्रेस को घेरा, पूछा- हेलिकॉप्टर सौदे में किस ने ली रिश्वत

संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि बुधवार को सदन में अगस्तावेस्टलैंड पर चर्चा में दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा।
राज्यसभा में अगस्तावेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे पर विरोध दर्ज कराते तृणमूल सदस्य सुखेंदु शेखर राय। (PTI Photo)

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस-वाम गठबंधन का मुकाबला कर रही तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार (2 मई) को राज्यसभा में अगस्तावेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे का मुद्दा उठा कर भारी हंगामा किया और कांग्रेस पर निशाना साधा। वहीं पार्टी के एक सदस्य के खिलाफ आसन ने नियम 255 के तहत कार्रवाई करते हुए उन्हें दिन भर के लिए सदन से बाहर जाने को कहा। आसन के फैसले से असहमति जताते हुए तृणमूल के अन्य सदस्य सदन से वाकआउट कर गए।

सदन में सोमवार को तृणमूल सदस्य सुखेंदु शेखर राय ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर सौदे का मुद्दा उठाया और इस पर कामकाज रोक कर चर्चा की मांग की। उधर गुजरात के केजी बेसिन मुद्दे पर कैग की रिपोर्ट में कथित अनियमितताओं का जिक्र किए जाने को लेकर चर्चा और प्रधानमंत्री के जवाब की मांग कर रहे कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा और नारेबाजी की। जिसके कारण बैठक बार-बार बाधित हुई। तीन बार के स्थगन के बाद दोपहर करीब साढेÞ 12 बजे जब उच्च सदन की बैठक फिर शुरू हुई तो तृणमूल सदस्य सुखेंदु शेखर राय ने आसन से अनुमति नहीं मिलने के बावजूद अगस्ता का मुद्दा उठाना जारी रखा।

सभापति हामिद अंसारी ने उन्हें मना करते हुए उनसे प्रश्नकाल चलने देने को कहा। लेकिन राय अगस्ता मुद्दे पर बोलते ही रहे। इससे अप्रसन्न सभापति ने उनके खिलाफ नियम 255 का प्रयोग करते हुए उन्हें सोमवार को दिन भर के लिए सदन से बाहर जाने को कहा। इसके बाद राय सदन से बाहर चले गए। आसन के सले से असहमति जताते हुए तृणमूल के अन्य सदस्यों ने सदन से वाकआउट किया। उल्लेखनीय है कि नियम 255 के तहत आसन किसी सदस्य के अव्यवस्था पैदा करने वाले व्यवहार के कारण उसे दिन भर के लिए सदन से बाहर जाने का निर्देश दे सकता है।

इसके पहले शून्यकाल में भी अगस्ता मुद्दा उठाते हुए सुखेंदु शेखर राय ने सवाल किया कि 12 वीवीआइपी हेलिकॉप्टर खरीदने के लिए हुए सौदे में रिश्वत किसने ली। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री को बयान देना है। सरकार चुप क्यों है? (अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में कथित तौर पर रिश्वत लेने वाले) यह एपी कौन हैं। गांधी कौन हैं? राय ने मांग की कि अन्य कामकाज निलंबित कर इस मुद्दे पर तत्काल चर्चा की जाए और रक्षा मंत्री सदन में जवाब दें। उन्होंने कहा कि सरकार रिश्वत लेने वालों की पहचान उजागर करे।

संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि बुधवार को सदन में अगस्तावेस्टलैंड पर चर्चा होनी है। उन्होंने कहा कि चर्चा में दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा। उपसभापति पीजे कुरियन ने कहा कि शून्यकाल में कामकाज निलंबित करने का कोई नियम नहीं है। साथ ही उन्होंने सुखेंदु शेखर राय के नोटिस को खारिज कर दिया।

बाद में सदन के नेता अरुण जेटली ने भी कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह अगस्ता वेस्टलैंड सौदे के मुद्दे पर ध्यान बंटाने के लिए कैग संबंधी मुद्दे को उठा रही है। हालांकि कांग्रेस के जयराम रमेश ने इसका कड़ा विरोध करते हुए कहा कि उन्होंने पांच दिन पहले ही कैग मुद्दे पर चर्चा के लिए नोटिस दिया था।

यह एपी कौन है
सुखेंदु शेखर राय ने कहा कि रक्षा मंत्री को बयान देना है। सरकार चुप क्यों है? (अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में कथित तौर पर रिश्वत लेने वाले) यह एपी कौन हैं। गांधी कौन हैं? राय ने मांग की कि अन्य कामकाज निलंबित कर इस मुद्दे पर तत्काल चर्चा की जाए और रक्षा मंत्री सदन में जवाब दें। उन्होंने कहा कि सरकार रिश्वत लेने वालों की पहचान उजागर करे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.