ताज़ा खबर
 

डीजीपी का पद संभालते ही सुलखान सिंह ने दिखाए योगी आदित्‍य नाथ वाले तेवर, कहा- कथित गौरक्षकों की गुंडागर्दी नहीं बर्दाश्‍त करेंगे

सुलखान सिंह ने कहा कि प्रदेश किसी भी व्यक्ति की किसी किस्म की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी, चाहे वो गौरक्षक क्यों ही ना हो।
सुलखान सिंह ने 22 अप्रैल को डीजीपी का पदभार संभाला (Photo Source-ANI)

उत्तर प्रदेश के नये डीजीपी सुलखान सिंह ने शनिवार (22 अप्रैल) को अपना पद संभालते ही राज्य के लॉ एंड ऑर्डर को अपनी पहली प्राथमिकता बताया है। राज्य के पूर्व डीजीपी जावीद अहमद से चार्ज लेने के बाद उन्होंने कहा कि किसी किस्म की गुंडागर्दी से यूपी पुलिस पूरी ताकत के साथ निपटेगी, साथ ही उन्होंने वादा किया कि उनकी पुलिस निष्पक्ष तरीके से काम केरगी। सुलखान सिंह ने कहा, ‘कोई भी जो आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाया जाएगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा, चाहे वो सत्ताधारी पार्टी से हो या फिर कहीं ओर से, हमें इस बारे में सीएम योगी आदित्य नाथ से स्पष्ट निर्देश हैं।’

डीजीपी का पदभार संभालने से पहले डीजी ट्रेनिंग रह चुके सुलखान सिंह ने कहा कि योगी आदित्य नाथ के अहम एजेंडे एंटी रोमियो स्क्वैड पर उनकी निगाह रहेगी और छेड़खानी करने वालों को कतई नहीं छेड़ा जाएगा लेकिन किसी को बिना वजह परेशान नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अगर किसी की हरकतें गलत होंगी तभी पुलिस कार्रवाई करेगी। बता दें कि एंटी रोमियो स्क्वैड पर मोरल पुलिसिंग के भी आरोप लगे हैं। सुलखान सिंह ने कहा कि एंटी रोमियो स्क्वैड से पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में तैनात रहेंगे और पब्लिक प्लेस में लोगों की हरकतों पर नजर रखेंगे, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि पुलिस बेवजह किसी को परेशान करेगी। इस बारे में एंटी रोमियो दल को लिखित आदेश दिया जाएगा।

सुलखान सिंह ने कहा कि प्रदेश किसी भी व्यक्ति की किसी किस्म की गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी, चाहे वो गौरक्षक क्यों ही ना हो, उन्होंने कहा कि कानून को अपने हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर कोई गौरक्षकों की बदमाशी की शिकायत करता है तो पुलिस उसके नाम का खुलासा नहीं करेगी और कथित गौरक्षकों के खिलाफ सख्त एक्शन लेगी। सुलखान सिंह ने कहा कि उनकी पुलिस करप्शन के मामले में जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाएगी।

सिविल सर्विस डे पर पीएम मोदी बोले- "गुणात्मक परिवर्तिन के लिए, समय के साथ काम में सुधार करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.